Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
11 Jan 2024 · 1 min read

प्रभु गुण कहे न जाएं तुम्हारे। भजन

प्रभु गुण कहे न जाएं तुम्हारे,प्रभु गुण कहे न जाएं तुम्हारे
शेष शारदा कवि कोविद गण, वर्णित वर्णित हारे।। प्रभु …
देव दनुज नर नाग और किन्नर ,यक्ष ऋषि मुनि सारे
वेद शास्त्र उपनिषद ग्रंथ सब,पाए न पार तिहारे
प्रभु जी पाए न पार तिहारे
जान न पाए महिमा तेरी,नेति नेति वचन उचारे।। प्रभु
पापी से पापी जन तारे,आरत के काज संवारे
जब जब भीर पड़ी भक्तों पर,अंशन सहित पधारे
प्रभु जी अंशन सहित पधारे
राक्षस मुक्त किया धरती को, रावण कंस बध डारे।प़भु
ज्ञान नहीं पूजन वंदन का,हम बिषयन के मारे
लोभ मोह और काम क़ोध के, नयनन से अंधियारे
प्रभु जी नयनन के अंधियारे
हमको भी प़भु पार लगाना,हम हैं नाम सहारे
प्रभु जी हम हैं नाम सहारे
प्रभु गुण कहे न जाएं तुम्हारे, प़भु गुण कहे न जाएं तुम्हारे।
सुरेश कुमार चतुर्वेदी

Language: Hindi
Tag: गीत
1 Like · 110 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from सुरेश कुमार चतुर्वेदी
View all
You may also like:
करोगे रूह से जो काम दिल रुस्तम बना दोगे
करोगे रूह से जो काम दिल रुस्तम बना दोगे
आर.एस. 'प्रीतम'
तर्जनी आक्षेेप कर रही विभा पर
तर्जनी आक्षेेप कर रही विभा पर
Suryakant Dwivedi
भाई दोज
भाई दोज
Ram Krishan Rastogi
सोचो जो बेटी ना होती
सोचो जो बेटी ना होती
लक्ष्मी सिंह
उदास नहीं हूं
उदास नहीं हूं
shabina. Naaz
धोखा
धोखा
Paras Nath Jha
ख्वाहिशों के समंदर में।
ख्वाहिशों के समंदर में।
Taj Mohammad
खाली सूई का कोई मोल नहीं 🙏
खाली सूई का कोई मोल नहीं 🙏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
बेड़ियाँ
बेड़ियाँ
Shaily
मिस्टर जी आजाद
मिस्टर जी आजाद
gurudeenverma198
दाग
दाग
Neeraj Agarwal
*Khus khvab hai ye jindagi khus gam ki dava hai ye jindagi h
*Khus khvab hai ye jindagi khus gam ki dava hai ye jindagi h
Vicky Purohit
ज़िन्दगी में सफल नहीं बल्कि महान बनिए सफल बिजनेसमैन भी है,अभ
ज़िन्दगी में सफल नहीं बल्कि महान बनिए सफल बिजनेसमैन भी है,अभ
Rj Anand Prajapati
हुईं वो ग़ैर
हुईं वो ग़ैर
Shekhar Chandra Mitra
सत्य
सत्य
Dinesh Kumar Gangwar
हे कान्हा
हे कान्हा
Mukesh Kumar Sonkar
इंसान कहीं का भी नहीं रहता, गर दिल बंजर हो जाए।
इंसान कहीं का भी नहीं रहता, गर दिल बंजर हो जाए।
Monika Verma
मेरी जिंदगी भी तुम हो,मेरी बंदगी भी तुम हो
मेरी जिंदगी भी तुम हो,मेरी बंदगी भी तुम हो
कृष्णकांत गुर्जर
Pyari dosti
Pyari dosti
Samar babu
दिखता नही किसी को
दिखता नही किसी को
Dr. Rajendra Singh 'Rahi'
"स्केल पट्टी"
Dr. Kishan tandon kranti
ज़िंदगी इस क़दर
ज़िंदगी इस क़दर
Dr fauzia Naseem shad
कुंडलिया
कुंडलिया
sushil sarna
🙅लघुकथा/दम्भ🙅
🙅लघुकथा/दम्भ🙅
*Author प्रणय प्रभात*
सुस्ता लीजिये - दीपक नीलपदम्
सुस्ता लीजिये - दीपक नीलपदम्
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
*धन जीवन-आधार, जिंदगी चलती धन से(कुंडलिया)*
*धन जीवन-आधार, जिंदगी चलती धन से(कुंडलिया)*
Ravi Prakash
मन की प्रीत
मन की प्रीत
भरत कुमार सोलंकी
लोकतन्त्र के हत्यारे अब वोट मांगने आएंगे
लोकतन्त्र के हत्यारे अब वोट मांगने आएंगे
Er.Navaneet R Shandily
3126.*पूर्णिका*
3126.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
★दाने बाली में ★
★दाने बाली में ★
★ IPS KAMAL THAKUR ★
Loading...