Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
21 Jan 2024 · 1 min read

प्रभु की लीला प्रभु जाने, या जाने करतार l

प्रभु की लीला प्रभु जाने, या जाने करतार l
कलयुग में बाबा को बेचों, वाह रे धंधेबाज ll
अभी अभी निकला था घर से, पहुंचा मंदिर जाके l
वीआईपी दर्शन की पर्ची, बिक रही हैं फर्राटे ll
सौदा हो रहा दर्शन का, न डर लगता पाप l
मौन व्रत ईश्वर ने कीन्हा, हमसे न देखा जात ll
इसीलिए तो मेरा अब, मोहभंग हो रहा हैं l
महाकाल बाबा को भी अब, धंधा बना दिया हैं ll
इनके लै परमेश्वर माया, न कालों के काल l
लोगों के जज्बात से खेलत, ये हैं फंदेबाज ll
प्रभु की लीला प्रभु जाने, या जाने करतार l
कलयुग में बाबा को बेचों, वाह रे धंधेबाज ll

लोधी श्याम सिंह तेजपुरिया

1 Like · 75 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
खुद पर भी यकीं,हम पर थोड़ा एतबार रख।
खुद पर भी यकीं,हम पर थोड़ा एतबार रख।
पूर्वार्थ
तुम्हारी जय जय चौकीदार
तुम्हारी जय जय चौकीदार
Shyamsingh Lodhi (Tejpuriya)
रामदीन की शादी
रामदीन की शादी
Satish Srijan
महीना ख़त्म यानी अब मुझे तनख़्वाह मिलनी है
महीना ख़त्म यानी अब मुझे तनख़्वाह मिलनी है
Johnny Ahmed 'क़ैस'
लाल फूल गवाह है
लाल फूल गवाह है
Surinder blackpen
उसे देख खिल गयीं थीं कलियांँ
उसे देख खिल गयीं थीं कलियांँ
डॉ. श्री रमण 'श्रीपद्'
कर गमलो से शोभित जिसका
कर गमलो से शोभित जिसका
प्रेमदास वसु सुरेखा
होली
होली
Kanchan Khanna
ऐलान कर दिया....
ऐलान कर दिया....
डॉ.सीमा अग्रवाल
" तुम्हारे इंतज़ार में हूँ "
Aarti sirsat
बिल्ली की लक्ष्मण रेखा
बिल्ली की लक्ष्मण रेखा
Paras Nath Jha
सत्य ही शिव
सत्य ही शिव
लक्ष्मी वर्मा प्रतीक्षा
दुश्मन को दहला न सके जो              खून   नहीं    वह   पानी
दुश्मन को दहला न सके जो खून नहीं वह पानी
Anil Mishra Prahari
दीवारें खड़ी करना तो इस जहां में आसान है
दीवारें खड़ी करना तो इस जहां में आसान है
Charu Mitra
हिजरत - चार मिसरे
हिजरत - चार मिसरे
डॉक्टर वासिफ़ काज़ी
School ke bacho ko dusre shehar Matt bhejo
School ke bacho ko dusre shehar Matt bhejo
Tushar Jagawat
सपना
सपना
ओनिका सेतिया 'अनु '
From dust to diamond.
From dust to diamond.
Manisha Manjari
अपने-अपने राम
अपने-अपने राम
Shekhar Chandra Mitra
सत्याधार का अवसान
सत्याधार का अवसान
Shyam Sundar Subramanian
पुस्तक समीक्षा - अंतस की पीड़ा से फूटा चेतना का स्वर रेत पर कश्तियाँ
पुस्तक समीक्षा - अंतस की पीड़ा से फूटा चेतना का स्वर रेत पर कश्तियाँ
डॉ. दीपक मेवाती
सावन
सावन
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
💐प्रेम कौतुक-556💐
💐प्रेम कौतुक-556💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
*ये साँसों की क्रियाऍं हैं:सात शेर*
*ये साँसों की क्रियाऍं हैं:सात शेर*
Ravi Prakash
मज़हब नहीं सिखता बैर
मज़हब नहीं सिखता बैर
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
गंवारा ना होगा हमें।
गंवारा ना होगा हमें।
Taj Mohammad
2492.पूर्णिका
2492.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
नहीं मैं ऐसा नहीं होता
नहीं मैं ऐसा नहीं होता
gurudeenverma198
प्यार करें भी तो किससे, हर जज़्बात में खलइश है।
प्यार करें भी तो किससे, हर जज़्बात में खलइश है।
manjula chauhan
जागो तो पाओ ; उमेश शुक्ल के हाइकु
जागो तो पाओ ; उमेश शुक्ल के हाइकु
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
Loading...