Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
9 Aug 2023 · 1 min read

प्रतिभाशाली या गुणवान व्यक्ति से सम्पर्क

प्रतिभाशाली या गुणवान व्यक्ति के सम्पर्क में रहने का सबसे बड़ा लाभ है कि आप हमेशा कुछ न कुछ अच्छी बातें उनसे सीख सकते हैं।

Paras Nath Jha

324 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Paras Nath Jha
View all
You may also like:
बदन खुशबुओं से महकाना छोड़ दे
बदन खुशबुओं से महकाना छोड़ दे
कवि दीपक बवेजा
धाराओं में वक़्त की, वक़्त भी बहता जाएगा।
धाराओं में वक़्त की, वक़्त भी बहता जाएगा।
Manisha Manjari
2931.*पूर्णिका*
2931.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
आकुल बसंत!
आकुल बसंत!
Neelam Sharma
तभी भला है भाई
तभी भला है भाई
महेश चन्द्र त्रिपाठी
हंसगति
हंसगति
डॉ.सीमा अग्रवाल
बोझ हसरतों का - मुक्तक
बोझ हसरतों का - मुक्तक
डॉक्टर वासिफ़ काज़ी
धर्म, ईश्वर और पैगम्बर
धर्म, ईश्वर और पैगम्बर
Dr MusafiR BaithA
मेरे चेहरे पर मुफलिसी का इस्तेहार लगा है,
मेरे चेहरे पर मुफलिसी का इस्तेहार लगा है,
Lokesh Singh
"राष्टपिता महात्मा गांधी"
Pushpraj Anant
मनुष्यता कोमा में
मनुष्यता कोमा में
Dr. Pradeep Kumar Sharma
यूं ही कह दिया
यूं ही कह दिया
Koमल कुmari
आओ मिलकर नया साल मनाये*
आओ मिलकर नया साल मनाये*
Naushaba Suriya
*सरकारी कार्यक्रम का पास (हास्य व्यंग्य)*
*सरकारी कार्यक्रम का पास (हास्य व्यंग्य)*
Ravi Prakash
डोमिन ।
डोमिन ।
Acharya Rama Nand Mandal
एक हाथ में क़लम तो दूसरे में क़िताब रखते हैं!
एक हाथ में क़लम तो दूसरे में क़िताब रखते हैं!
The_dk_poetry
1B_ वक्त की ही बात है
1B_ वक्त की ही बात है
Kshma Urmila
#एक_स्तुति
#एक_स्तुति
*Author प्रणय प्रभात*
वक़्त की पहचान🙏
वक़्त की पहचान🙏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
मान तुम प्रतिमान तुम
मान तुम प्रतिमान तुम
Suryakant Dwivedi
वोटों की फसल
वोटों की फसल
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
शाम सुहानी
शाम सुहानी
लक्ष्मी सिंह
चिंतन
चिंतन
ओंकार मिश्र
*समृद्ध भारत बनायें*
*समृद्ध भारत बनायें*
Poonam Matia
किताबों में झुके सिर दुनिया में हमेशा ऊठे रहते हैं l
किताबों में झुके सिर दुनिया में हमेशा ऊठे रहते हैं l
Ranjeet kumar patre
अलविदा नहीं
अलविदा नहीं
Pratibha Pandey
स्मार्ट फोन.: एक कातिल
स्मार्ट फोन.: एक कातिल
ओनिका सेतिया 'अनु '
"कहीं तुम"
Dr. Kishan tandon kranti
जब बहुत कुछ होता है कहने को
जब बहुत कुछ होता है कहने को
पूर्वार्थ
अकेलापन
अकेलापन
Neeraj Agarwal
Loading...