Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
27 May 2023 · 1 min read

पुस्तकों से प्यार

** गीतिका **
~~
कर रही लंबे समय से जो दिलों पर राज।
पुस्तकों से प्यार करना है जरूरी आज।

क्यों भला इनके पठन पर लग रहा विराम।
क्यों समय के साथ थमती जा रही परवाज।

आज कंप्यूटर सभी के बन गये हैं दोस्त।
और मोबाइल किताबों पर गिराते गाज।

आ गये बाजार में नव ज्ञान के सामान।
वक्त के अनुरूप ढलते जा रहे हैं साज।

धूल खाती पुस्तकें अब हो रही लाचार।
और शिक्षा का बदलता जा रहा अंदाज।

किन्तु फिर भी पुस्तकों का हम निभाएं साथ।
और हटने दें न इनके शीश से शुभ ताज।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~
-सुरेन्द्रपाल वैद्य, मण्डी (हि.प्र.)

1 Like · 200 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from surenderpal vaidya
View all
You may also like:
पुनर्जन्म का सत्याधार
पुनर्जन्म का सत्याधार
Shyam Sundar Subramanian
हिंदी
हिंदी
Mamta Rani
ऐसा क्यों होता है
ऐसा क्यों होता है
रोहताश वर्मा 'मुसाफिर'
■ आज का अनुरोध...
■ आज का अनुरोध...
*Author प्रणय प्रभात*
"झूठे लोग "
Yogendra Chaturwedi
शिक्षा बिना जीवन है अधूरा
शिक्षा बिना जीवन है अधूरा
gurudeenverma198
“SUPER HERO(महानायक) OF FACEBOOK ”
“SUPER HERO(महानायक) OF FACEBOOK ”
DrLakshman Jha Parimal
इक दिन चंदा मामा बोले ,मेरी प्यारी प्यारी नानी
इक दिन चंदा मामा बोले ,मेरी प्यारी प्यारी नानी
Dr Archana Gupta
पापा का संघर्ष, वीरता का प्रतीक,
पापा का संघर्ष, वीरता का प्रतीक,
Sahil Ahmad
*रंग बदलते रहते मन के,कभी हास्य है-रोना है (मुक्तक)*
*रंग बदलते रहते मन के,कभी हास्य है-रोना है (मुक्तक)*
Ravi Prakash
मिसाल उन्हीं की बनती है,
मिसाल उन्हीं की बनती है,
Dr. Man Mohan Krishna
जन्म-जन्म का साथ.....
जन्म-जन्म का साथ.....
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
बड़े अगर कोई बात कहें तो उसे
बड़े अगर कोई बात कहें तो उसे
भवानी सिंह धानका 'भूधर'
5 दोहे- वीरांगना महारानी लक्ष्मीबाई पर केंद्रित
5 दोहे- वीरांगना महारानी लक्ष्मीबाई पर केंद्रित
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
........,?
........,?
शेखर सिंह
सेर (शृंगार)
सेर (शृंगार)
सूरज राम आदित्य (Suraj Ram Aditya)
💐प्रेम कौतुक-403💐
💐प्रेम कौतुक-403💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
संवेदनाएं
संवेदनाएं
Dr.Pratibha Prakash
For a thought, you're eternity
For a thought, you're eternity
पूर्वार्थ
नन्ही परी और घमंडी बिल्ली मिनी
नन्ही परी और घमंडी बिल्ली मिनी
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
टमाटर का जलवा ( हास्य -रचना )
टमाटर का जलवा ( हास्य -रचना )
Dr. Harvinder Singh Bakshi
***कृष्णा ***
***कृष्णा ***
Kavita Chouhan
हुईं वो ग़ैर
हुईं वो ग़ैर
Shekhar Chandra Mitra
"सब्र"
Dr. Kishan tandon kranti
अच्छा लगता है
अच्छा लगता है
Pratibha Pandey
हर बार मेरी ही किस्मत क्यो धोखा दे जाती हैं,
हर बार मेरी ही किस्मत क्यो धोखा दे जाती हैं,
Vishal babu (vishu)
एक टऽ खरहा एक टऽ मूस
एक टऽ खरहा एक टऽ मूस
डॉ. श्री रमण 'श्रीपद्'
अन्धी दौड़
अन्धी दौड़
Shivkumar Bilagrami
सच
सच
Sanjay ' शून्य'
गांव
गांव
पंकज पाण्डेय सावर्ण्य
Loading...