Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
22 Mar 2023 · 1 min read

पीक चित्रकार

पीक चित्रकार

कुछ सीढ़ियाँ
चढ़नें के बाद
मुँह में जमा
जर्दा व गुटखे का
मिश्रित पीक
बेचैन हो उठता है
एक कोनें को देखकर
जो कभी हुआ करता था
साफ सुथरा सफेद कैनवास
जिस पर पीक भरी कूँची से
किसी चित्रकार ने
शुरू किया था चित्र उकेरना
फिर एक से एक काबिल
चित्रकार आते
उकेरते व भरते रहे रंग
बिना किसी पेंसिल,
रंग व तूलिका के
इस अदभुत चित्र में
जो बदलता है दिन में
बार बार अपना
रूप रंग और स्वरूप

आड़ी और सीधी दीवार का
मिलन स्थल ये कोना
पीक चित्रकारों का
तीर्थ स्थल है
जहाँ हर जाति धर्म के चित्रकार
बिना भेदभाव के
अपनी कला का
प्रदर्शन करते है
अगर कोई कला संस्थान
इस अदभुत पेंटिंग को
चुनले किसी पुरस्कार के लिये
तो भी इसका श्रेय लेने को
नहीं होगा कभी झगड़ा
इन मानवतावादी
चित्रकारों में।

मौलिक व स्वरचित।
शांतिलाल सोनी
ग्राम कोटड़ी सिमारला
तहसील श्रीमाधोपुर
जिला सीकर राजस्थान

Language: Hindi
431 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
#गणितीय प्रेम
#गणितीय प्रेम
हरवंश हृदय
युवा संवाद
युवा संवाद
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
हिंदी
हिंदी
Bodhisatva kastooriya
दिल कहता है खुशियाँ बांटो
दिल कहता है खुशियाँ बांटो
Harminder Kaur
*माँ सरस्वती (चौपाई)*
*माँ सरस्वती (चौपाई)*
Rituraj shivem verma
"आज का विचार"
Radhakishan R. Mundhra
Tum ibadat ka mauka to do,
Tum ibadat ka mauka to do,
Sakshi Tripathi
माता पिता के श्री चरणों में बारंबार प्रणाम है
माता पिता के श्री चरणों में बारंबार प्रणाम है
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
जीवन संगिनी
जीवन संगिनी
नवीन जोशी 'नवल'
एक ख्वाब थे तुम,
एक ख्वाब थे तुम,
लक्ष्मी सिंह
यादों से निकला एक पल
यादों से निकला एक पल
Meera Thakur
NeelPadam
NeelPadam
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
जिंदगी भर किया इंतजार
जिंदगी भर किया इंतजार
पूर्वार्थ
भारतवर्ष स्वराष्ट्र पूर्ण भूमंडल का उजियारा है
भारतवर्ष स्वराष्ट्र पूर्ण भूमंडल का उजियारा है
Pt. Brajesh Kumar Nayak
Typing mistake
Typing mistake
Otteri Selvakumar
लेकिन, प्यार जहां में पा लिया मैंने
लेकिन, प्यार जहां में पा लिया मैंने
gurudeenverma198
सब को जीनी पड़ेगी ये जिन्दगी
सब को जीनी पड़ेगी ये जिन्दगी
गायक - लेखक अजीत कुमार तलवार
ईश्वर शरण सिंघल मुक्तक
ईश्वर शरण सिंघल मुक्तक
Ravi Prakash
2646.पूर्णिका
2646.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
हम हैं कक्षा साथी
हम हैं कक्षा साथी
Dr MusafiR BaithA
9--🌸छोड़ आये वे गलियां 🌸
9--🌸छोड़ आये वे गलियां 🌸
Mahima shukla
2. काश कभी ऐसा हो पाता
2. काश कभी ऐसा हो पाता
Rajeev Dutta
मेरा शरीर और मैं
मेरा शरीर और मैं
DR ARUN KUMAR SHASTRI
विपत्ति आपके कमजोर होने का इंतजार करती है।
विपत्ति आपके कमजोर होने का इंतजार करती है।
Paras Nath Jha
दोहा त्रयी. . . .
दोहा त्रयी. . . .
sushil sarna
"चिन्हों में आम"
Dr. Kishan tandon kranti
मेहनत की कमाई
मेहनत की कमाई
Dr. Pradeep Kumar Sharma
*भीड बहुत है लोग नहीं दिखते* ( 11 of 25 )
*भीड बहुत है लोग नहीं दिखते* ( 11 of 25 )
Kshma Urmila
****शिव शंकर****
****शिव शंकर****
Kavita Chouhan
#ऐसी_कैसी_भूख?
#ऐसी_कैसी_भूख?
*प्रणय प्रभात*
Loading...