Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
20 Feb 2024 · 1 min read

पिता का पेंसन

इलाज और दवा,
सेवा में भी हिसाब,
वर्षो. से परंपरा बना,
एक–एक हिसाब पर सभी चौकन्ना,
पिता का पेंसन,
बंदरबांट करते संतान ।

कपडे–लत्ते पुराना,
नूतन नसीब कहा,
अब, बेटे के प्रयोगहिन पोशाक,
नये फैशन बना,
पिता का पेंसन,
बंदरबांट करते संतान ।

चचरी पर बैठा पिता,
टुकुर–टुकुर देखता,
कर कुछ न पाता,
मृत्युलोक के हैं प्रतिक्षा,
पिता का पेंसन,
बंदरबांट करते संतान ।

मृत्यु शैय्या पर पिता,
संतानो की झगडा,
संपत्ति की बांट बखरा,
अब, दागबत्ति पर भी हिसाब,
पिता का पेंसन पर,
बंदरबांट करते संतान ।

#दिनेश_यादव
काठमाण्डू (नेपाल)

#Hindi_Poetry

Language: Hindi
1 Like · 43 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
ज़िंदगी इम्तिहान
ज़िंदगी इम्तिहान
Dr fauzia Naseem shad
💐प्रेम कौतुक-346💐
💐प्रेम कौतुक-346💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
*किसी बच्चे के जैसे मत खिलौनों से बहल जाता (मुक्तक)*
*किसी बच्चे के जैसे मत खिलौनों से बहल जाता (मुक्तक)*
Ravi Prakash
Republic Day
Republic Day
Tushar Jagawat
प्यारी ननद - कहानी
प्यारी ननद - कहानी
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
2958.*पूर्णिका*
2958.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
गीत(सोन्ग)
गीत(सोन्ग)
Dushyant Kumar
मेरे गली मुहल्ले में आने लगे हो #गजल
मेरे गली मुहल्ले में आने लगे हो #गजल
Ravi singh bharati
साँझ ढले ही आ बसा, पलकों में अज्ञात।
साँझ ढले ही आ बसा, पलकों में अज्ञात।
डॉ.सीमा अग्रवाल
देशभक्ति जनसेवा
देशभक्ति जनसेवा
Dr. Pradeep Kumar Sharma
मां
मां
Amrit Lal
निर्मोही हो तुम
निर्मोही हो तुम
A🇨🇭maanush
पहाड़ में गर्मी नहीं लगती घाम बहुत लगता है।
पहाड़ में गर्मी नहीं लगती घाम बहुत लगता है।
Brijpal Singh
लोगों का मुहं बंद करवाने से अच्छा है
लोगों का मुहं बंद करवाने से अच्छा है
Yuvraj Singh
खुशियां
खुशियां
N manglam
*🔱नित्य हूँ निरन्तर हूँ...*
*🔱नित्य हूँ निरन्तर हूँ...*
Dr Manju Saini
सहित्य में हमे गहरी रुचि है।
सहित्य में हमे गहरी रुचि है।
Ekta chitrangini
एक ऐसी दुनिया बनाऊँगा ,
एक ऐसी दुनिया बनाऊँगा ,
Rohit yadav
"अज़ब दुनिया"
Dr. Kishan tandon kranti
तुम्हारा दिल ही तुम्हे आईना दिखा देगा
तुम्हारा दिल ही तुम्हे आईना दिखा देगा
VINOD CHAUHAN
भक्ति -गजल
भक्ति -गजल
rekha mohan
मन को भाये इमली. खट्टा मीठा डकार आये
मन को भाये इमली. खट्टा मीठा डकार आये
Ranjeet kumar patre
आप वही करें जिससे आपको प्रसन्नता मिलती है।
आप वही करें जिससे आपको प्रसन्नता मिलती है।
लक्ष्मी सिंह
#drarunkumarshastri
#drarunkumarshastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
-- फ़ितरत --
-- फ़ितरत --
गायक - लेखक अजीत कुमार तलवार
जय भोलेनाथ ।
जय भोलेनाथ ।
Anil Mishra Prahari
जिंदगी
जिंदगी
अखिलेश 'अखिल'
हर खुशी पर फिर से पहरा हो गया।
हर खुशी पर फिर से पहरा हो गया।
सत्य कुमार प्रेमी
उफ़ तेरी ये अदायें सितम ढा रही है।
उफ़ तेरी ये अदायें सितम ढा रही है।
Phool gufran
नकाबे चेहरा वाली, पेश जो थी हमको सूरत
नकाबे चेहरा वाली, पेश जो थी हमको सूरत
gurudeenverma198
Loading...