Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
19 May 2024 · 1 min read

पाठ कविता रुबाई kaweeshwar

पाठ कविता रुबाई

कविता कन्यका

क्योंकि प्रकृति की समस्याओं की कुंजी दुःख है

जिस कवि ने इसका अनुभव किया है उसके लिए यह आसान होगा

कविता कौशलम् कलम चलाकर की जाती है

जीवन का विषय रोचक है

ये आंखों के जज्बातों का सिलसिला है.

अवधारणाएँ विचार तरंगों का एक पाठ खेल हैं

प्रत्येक क्रिया का संगम मन को साधने के लिए एक पहेली है

कनुलान की भावपूर्ण फिल्म कृतियों की श्रृंखला

कविजन काव्य कन्यका रूप सोयगम्मुला की अपुरूपा चित्रकेली

वही है और वही है पाठकों के मन का अम्बर।

होठ नवजात भावनाओं से भरे हैं

शरीर का आकार दृष्टिगोचर होता है तथा नये आसन संतुलित होते हैं

लिलागा अगुपिंकुनु शिल्पा कला कन्या नृत्य श्रवण बंध

कलुगुनु गतवैभव जीवन द्वारा चित्रित चैत्र वर्ण कदंबम

रस भाव गीति कई मायनों में सुंदर है…

आप काव्यात्मक युवती हैं!

कवीश्वर *******

क। जयन्त कुमार

राजेंद्रनगर.

1 Like · 20 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
उलझनें रूकती नहीं,
उलझनें रूकती नहीं,
Sunil Maheshwari
ग़ज़ल _ शरारत जोश में पुरज़ोर।
ग़ज़ल _ शरारत जोश में पुरज़ोर।
Neelofar Khan
हाथ की लकीरें
हाथ की लकीरें
Mangilal 713
लोगों के रिश्मतों में अक्सर
लोगों के रिश्मतों में अक्सर "मतलब" का वजन बहुत ज्यादा होता
Jogendar singh
बम भोले।
बम भोले।
Anil Mishra Prahari
तमाम उम्र जमीर ने झुकने नहीं दिया,
तमाम उम्र जमीर ने झुकने नहीं दिया,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
*चाँदी को मत मानिए, कभी स्वर्ण से हीन ( कुंडलिया )*
*चाँदी को मत मानिए, कभी स्वर्ण से हीन ( कुंडलिया )*
Ravi Prakash
3551.💐 *पूर्णिका* 💐
3551.💐 *पूर्णिका* 💐
Dr.Khedu Bharti
कभी ज्ञान को पा इंसान भी, बुद्ध भगवान हो जाता है।
कभी ज्ञान को पा इंसान भी, बुद्ध भगवान हो जाता है।
Monika Verma
आज कल रिश्ते भी प्राइवेट जॉब जैसे हो गये है अच्छा ऑफर मिलते
आज कल रिश्ते भी प्राइवेट जॉब जैसे हो गये है अच्छा ऑफर मिलते
Rituraj shivem verma
संग रहूँ हरपल सदा,
संग रहूँ हरपल सदा,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
I Can Cut All The Strings Attached
I Can Cut All The Strings Attached
Manisha Manjari
"आओ हम सब मिल कर गाएँ भारत माँ के गान"
Lohit Tamta
खास होने का भ्रम ना पाले
खास होने का भ्रम ना पाले
पूर्वार्थ
#दिनांक:-19/4/2024
#दिनांक:-19/4/2024
Pratibha Pandey
इस तरह कुछ लोग हमसे
इस तरह कुछ लोग हमसे
Anis Shah
मेरे शब्द, मेरी कविता, मेरे गजल, मेरी ज़िन्दगी का अभिमान हो तुम।
मेरे शब्द, मेरी कविता, मेरे गजल, मेरी ज़िन्दगी का अभिमान हो तुम।
Anand Kumar
"सोचता हूँ"
Dr. Kishan tandon kranti
मेरी ख़्वाहिशों में बहुत दम है
मेरी ख़्वाहिशों में बहुत दम है
Mamta Singh Devaa
👍👍
👍👍
*प्रणय प्रभात*
हे ! भाग्य विधाता ,जग के रखवारे ।
हे ! भाग्य विधाता ,जग के रखवारे ।
Buddha Prakash
Kitna hasin ittefak tha ,
Kitna hasin ittefak tha ,
Sakshi Tripathi
सवालात कितने हैं
सवालात कितने हैं
Dr fauzia Naseem shad
आपके पास धन इसलिए नहीं बढ़ रहा है क्योंकि आपकी व्यावसायिक पक
आपके पास धन इसलिए नहीं बढ़ रहा है क्योंकि आपकी व्यावसायिक पक
Rj Anand Prajapati
पिया बिन सावन की बात क्या करें
पिया बिन सावन की बात क्या करें
Devesh Bharadwaj
संवादरहित मित्रता, मूक समाज और व्यथा पीड़ित नारी में परिवर्तन
संवादरहित मित्रता, मूक समाज और व्यथा पीड़ित नारी में परिवर्तन
DrLakshman Jha Parimal
कौन गया किसको पता ,
कौन गया किसको पता ,
sushil sarna
उनकी उल्फत देख ली।
उनकी उल्फत देख ली।
सत्य कुमार प्रेमी
छोड़कर जाने वाले क्या जाने,
छोड़कर जाने वाले क्या जाने,
शेखर सिंह
चित्रगुप्त का जगत भ्रमण....!
चित्रगुप्त का जगत भ्रमण....!
VEDANTA PATEL
Loading...