Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
21 Jun 2023 · 1 min read

परिवार के लिए

परिवार के लिए

पिछले कुछ दिनों से बड़े बाबू गुमसुम से रहने लगे थे। उन्हें एक ही चिंता खाए जा रही थी- ‘‘क्या होगा इस परिवार का …… ? अभी तो वेतन से जैसे-तैसे गुजारा हो जाता है, लेकिन अगले महीने रिटायर होने के बाद …… ? पेंशन में मिलेगा ही कितना …… ? मकान भाड़ा, बेटे की तो खैर कोई बात नहीं पर दो-दो बेटियों की शादी …… ? बीमार पत्नी की दवा दारू का खर्च …… ? कहाँ से आएगा इतना पैसा …… ? फिर यदि उन्हें कुछ हो गया तो …… ? क्या होगा …… ? प्रावीडेण्ट फण्ड …… बेटे को अनुकम्पा नियुक्ति …… पत्नी को पेंशन …… बेटियों की धूमधाम से शादी …… अब ये बूढ़ा शरीर और कर भी क्या सकता है …….? अपने परिवार की खातिर …….

कुछ दिन बाद अखबार में बड़े बाबू की सड़क दुर्घटना मेें असामयिक मृत्यु का समाचार पढ़ने को मिला।
-डाॅ. प्रदीप कुमार शर्मा
रायपुर, छत्तीसगढ़

Language: Hindi
236 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
ऐसे जीना जिंदगी,
ऐसे जीना जिंदगी,
sushil sarna
*युद्ध लड़ सको तो रण में, कुछ शौर्य दिखाने आ जाना (मुक्तक)*
*युद्ध लड़ सको तो रण में, कुछ शौर्य दिखाने आ जाना (मुक्तक)*
Ravi Prakash
माँ मुझे विश्राम दे
माँ मुझे विश्राम दे
Dr. Ramesh Kumar Nirmesh
हसीब सोज़... बस याद बाक़ी है
हसीब सोज़... बस याद बाक़ी है
अरशद रसूल बदायूंनी
खुला आसमान
खुला आसमान
Surinder blackpen
मोहब्बत
मोहब्बत
Dinesh Kumar Gangwar
गीत
गीत
भगवती प्रसाद व्यास " नीरद "
*** तस्वीर....! ***
*** तस्वीर....! ***
VEDANTA PATEL
वीर रस की कविता (दुर्मिल सवैया)
वीर रस की कविता (दुर्मिल सवैया)
नाथ सोनांचली
सारी रोशनी को अपना बना कर बैठ गए
सारी रोशनी को अपना बना कर बैठ गए
कवि दीपक बवेजा
दिल का मौसम सादा है
दिल का मौसम सादा है
Shweta Soni
संवेदना मर रही
संवेदना मर रही
Ritu Asooja
राजस्थान
राजस्थान
Anil chobisa
लिख / MUSAFIR BAITHA
लिख / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
मुक्तक
मुक्तक
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
**कुछ तो कहो**
**कुछ तो कहो**
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
" यादें "
Dr. Kishan tandon kranti
चंद्रयान
चंद्रयान
डिजेन्द्र कुर्रे
- मेरी मोहब्बत तुम्हारा इंतिहान हो गई -
- मेरी मोहब्बत तुम्हारा इंतिहान हो गई -
bharat gehlot
होश खो देते जो जवानी में
होश खो देते जो जवानी में
Dr Archana Gupta
जय हो माई।
जय हो माई।
Rj Anand Prajapati
जीवन की यह झंझावातें
जीवन की यह झंझावातें
Dr. Rajendra Singh 'Rahi'
कैसी हसरतें हैं तुम्हारी जरा देखो तो सही
कैसी हसरतें हैं तुम्हारी जरा देखो तो सही
VINOD CHAUHAN
जीवन पथ
जीवन पथ
Dr. Rajeev Jain
न बदले...!
न बदले...!
Srishty Bansal
भजलो राम राम राम सिया राम राम राम प्यारे राम
भजलो राम राम राम सिया राम राम राम प्यारे राम
Satyaveer vaishnav
Don't let people who have given up on your dreams lead you a
Don't let people who have given up on your dreams lead you a
पूर्वार्थ
🙅क्षणिका🙅
🙅क्षणिका🙅
*प्रणय प्रभात*
भोले नाथ तेरी सदा ही जय
भोले नाथ तेरी सदा ही जय
नेताम आर सी
भीम षोडशी
भीम षोडशी
SHAILESH MOHAN
Loading...