Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
6 May 2023 · 1 min read

*पत्थर तैरे सेतु बनाया (कुछ चौपाइयॉं)*

पत्थर तैरे सेतु बनाया (कुछ चौपाइयॉं)
🕉️🕉️🕉️🕉️🕉️🕉️🕉️🕉️🕉️
1
पत्थर तैरे सेतु बनाया।
रामचंद्र जी की सब माया।।
पत्थर यों तो थे सब भारी।
तैराने की थी तैयारी।।
2
नील और नल निपुण कहाए।
पत्थर जल में यह तैराए।।
वानर सेना पार उतारी।
रामसेतु शुभ मंगलकारी।।
3
दर्शन रामसेतु सुखकारी।
कहा राम ने यह दुखहारी।।
रामेश्वरम शंभु की पूजा।
कार्य नहीं इसके सम दूजा।।
4
दूत बना अंगद भिजवाए।
नीति-वचन रावण समझाए ।।
कहा राम के चरण पखारो।
मन में बसे अहम् को मारो ।।
5
अंगद का पग हिला न पाए।
लौट-लौट दरबारी आए।।
रावण जब पग उठा हिलाने।
अंगद लगा उसे समझाने।।
6
कहा व्यर्थ जग में मत अकड़ो।
उचित पैर प्रभु के जा पकड़ो।।
मंदोदरी बहुत समझाई।
समझ दशानन मगर न आई।।
7
दुश्मन सिर पर चढ़कर आया।
राग-रंग की हटी न छाया।।
नृत्य अप्सरा सुंदर करतीं।
बुद्धि दशानन की यों हरतीं।।
8
छत्र मुकुट ताटंक गिराए।
एक बाण जब राम चलाए।।
रहा मूर्ख रावण अभिमानी।
कहा शीश दस का मैं दानी।।
______________________
ताटंक = कर्णफूल
———————————–
रचयिता : रवि प्रकाश
बाजार सर्राफा, रामपुर, उत्तर प्रदेश
मोबाइल 99976 15451

334 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Ravi Prakash
View all
You may also like:
*अखबारों में झूठ और सच, सबको सौ-सौ बार मिला (हिंदी गजल)*
*अखबारों में झूठ और सच, सबको सौ-सौ बार मिला (हिंदी गजल)*
Ravi Prakash
ছায়া যুদ্ধ
ছায়া যুদ্ধ
Otteri Selvakumar
*दादी की बहादुरी(कहानी)*
*दादी की बहादुरी(कहानी)*
Dushyant Kumar
प्रेम.... मन
प्रेम.... मन
Neeraj Agarwal
होली
होली
नवीन जोशी 'नवल'
मनहरण घनाक्षरी
मनहरण घनाक्षरी
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
मौत से बढकर अगर कुछ है तो वह जिलद भरी जिंदगी है ll
मौत से बढकर अगर कुछ है तो वह जिलद भरी जिंदगी है ll
Ranjeet kumar patre
जिसकी तस्दीक चाँद करता है
जिसकी तस्दीक चाँद करता है
Shweta Soni
कुंडलिया
कुंडलिया
sushil sarna
" जलचर प्राणी "
Dr Meenu Poonia
कल रहूॅं-ना रहूॅं..
कल रहूॅं-ना रहूॅं..
पंकज कुमार कर्ण
रसों में रस बनारस है !
रसों में रस बनारस है !
पाण्डेय चिदानन्द "चिद्रूप"
मातु शारदे करो कल्याण....
मातु शारदे करो कल्याण....
डॉ.सीमा अग्रवाल
बुंदेली चौकड़िया-पानी
बुंदेली चौकड़िया-पानी
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
*जीवन के गान*
*जीवन के गान*
Mukta Rashmi
अब कभी तुमको खत,हम नहीं लिखेंगे
अब कभी तुमको खत,हम नहीं लिखेंगे
gurudeenverma198
किसी मुस्क़ान की ख़ातिर ज़माना भूल जाते हैं
किसी मुस्क़ान की ख़ातिर ज़माना भूल जाते हैं
आर.एस. 'प्रीतम'
24/230. *छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
24/230. *छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
" धरती का क्रोध "
Saransh Singh 'Priyam'
"याद रहे"
Dr. Kishan tandon kranti
धुंध छाई उजाला अमर चाहिए।
धुंध छाई उजाला अमर चाहिए।
Rajesh Tiwari
कोई नाराज़गी है तो बयाँ कीजिये हुजूर,
कोई नाराज़गी है तो बयाँ कीजिये हुजूर,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
काश असल पहचान सबको अपनी मालूम होती,
काश असल पहचान सबको अपनी मालूम होती,
manjula chauhan
Who Said It Was Simple?
Who Said It Was Simple?
R. H. SRIDEVI
मिट्टी
मिट्टी
DR ARUN KUMAR SHASTRI
प्यार समंदर
प्यार समंदर
Ramswaroop Dinkar
*जो कहता है कहने दो*
*जो कहता है कहने दो*
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
ग़ज़ल
ग़ज़ल
Jitendra Kumar Noor
मम्मास बेबी
मम्मास बेबी
Dr. Pradeep Kumar Sharma
शहीद रामफल मंडल गाथा।
शहीद रामफल मंडल गाथा।
Acharya Rama Nand Mandal
Loading...