Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
28 Jan 2017 · 1 min read

नोट बंदी

        नोट बंदी

मोदी जी के नोट बंदी ने,
हाहाकार मचा दिया।
काला धन रखने वालों पर,
करारा प्रहार कर दिया।

अचानक हुए इस फैसले ने,
सारे लोगों को हिला दिया।
पाँच सौ और हज़ार के नोट
रहते हुए भी कोई काम ना आ सका।

कागज का एक टुकड़ा हो गया
जो होकर भी पास पास ना हो सका

कालाधन और आतंकवाद पर जोर का वार है,
मोदी जी आपका ये प्रयास लाज़वाब है।

कालाधन रखने वालों की
नींद चैन सब हो गई फुर्र,
अपने पास परे पैसों को
कर रहे है दूर।

जिनके पास नहीँ है पैसे
वो चैन की नींद सो रहे है,
और जिनके पास पैसे है
वो अपनी नींद खो रहे है

नाम-ममता रानी,राधानगर(बाँका)

Language: Hindi
2 Likes · 446 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Mamta Rani
View all
You may also like:
पल पल का अस्तित्व
पल पल का अस्तित्व
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
*पापी पेट के लिए *
*पापी पेट के लिए *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
नारायणी
नारायणी
Dhriti Mishra
आह
आह
Pt. Brajesh Kumar Nayak
2772. *पूर्णिका*
2772. *पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
पर खोल…
पर खोल…
Rekha Drolia
शुभ प्रभात मित्रो !
शुभ प्रभात मित्रो !
Mahesh Jain 'Jyoti'
गाय
गाय
Vedha Singh
गुफ्तगू तुझसे करनी बहुत ज़रूरी है ।
गुफ्तगू तुझसे करनी बहुत ज़रूरी है ।
Phool gufran
ढ़ूंढ़ रहे जग में कमी
ढ़ूंढ़ रहे जग में कमी
लक्ष्मी सिंह
तारों जैसी आँखें ,
तारों जैसी आँखें ,
SURYAA
यदि  हम विवेक , धैर्य और साहस का साथ न छोडे़ं तो किसी भी विप
यदि हम विवेक , धैर्य और साहस का साथ न छोडे़ं तो किसी भी विप
Raju Gajbhiye
💐प्रेम कौतुक-254💐
💐प्रेम कौतुक-254💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
Mai pahado ki darak se bahti hu,
Mai pahado ki darak se bahti hu,
Sakshi Tripathi
मोहक हरियाली
मोहक हरियाली
Surya Barman
*इश्क़ से इश्क़*
*इश्क़ से इश्क़*
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
"एक नाविक सा"
Dr. Kishan tandon kranti
हश्र का मंज़र
हश्र का मंज़र
Shekhar Chandra Mitra
अपना दिल
अपना दिल
Dr fauzia Naseem shad
दोहा त्रयी. . . सन्तान
दोहा त्रयी. . . सन्तान
sushil sarna
मनमीत मेरे तुम हो
मनमीत मेरे तुम हो
ठाकुर प्रतापसिंह "राणाजी"
आँखों   पर   ऐनक   चढ़ा   है, और  बुद्धि  कुंद  है।
आँखों पर ऐनक चढ़ा है, और बुद्धि कुंद है।
संजीव शुक्ल 'सचिन'
देवो रुष्टे गुरुस्त्राता गुरु रुष्टे न कश्चन:।गुरुस्त्राता ग
देवो रुष्टे गुरुस्त्राता गुरु रुष्टे न कश्चन:।गुरुस्त्राता ग
Shashi kala vyas
ग़ज़ल/नज़्म - दिल में ये हलचलें और है शोर कैसा
ग़ज़ल/नज़्म - दिल में ये हलचलें और है शोर कैसा
अनिल कुमार
नकाबे चेहरा वाली, पेश जो थी हमको सूरत
नकाबे चेहरा वाली, पेश जो थी हमको सूरत
gurudeenverma198
रक्षाबंधन का त्योहार
रक्षाबंधन का त्योहार
Dr. Pradeep Kumar Sharma
पतझड़ तेरी वंदना, तेरी जय-जयकार(कुंडलिया)
पतझड़ तेरी वंदना, तेरी जय-जयकार(कुंडलिया)
Ravi Prakash
लघुकथा- धर्म बचा लिया।
लघुकथा- धर्म बचा लिया।
Dr Tabassum Jahan
■ आज के दोहे...
■ आज के दोहे...
*Author प्रणय प्रभात*
अपने तो अपने होते हैं
अपने तो अपने होते हैं
Harminder Kaur
Loading...