Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
4 Nov 2023 · 1 min read

नीरोगी काया

ढूँढ़ रहे आज सब नीरोगी काया
पर प्रकृति के संग रहना न आया
दिनचर्या कर ली है अस्त व्यस्त
बताइए अब कैसे रहेंगे स्वस्थ
देरी से जागना और देर तक सोना
तुम ही बताओ किस बात का रोना
जल्दी उठो और फिर घूमने जाओ
तेज चाल चलकर शुद्ध हवा खाओ
दौड़ो कूदो तैरो करो योग प्राणायाम
नीरोगी काया के खुल जायेंगे आयाम
अंकुरित अनाज व ताजे फल खाओ
पियो घी दूध सदा गर्म भोजन पाओ
सदैव के लिए प्राकृतिक जीवन अपनाओ
छोड़ो पिज्जा बर्गर, फास्ट फूड न खाओ
ओम् निश्चित ही मिलेगी नीरोगी काया
बोलो ये नुस्खा तुम्हें भाया कि नहीं भाया

ओमप्रकाश भारती ओम्
बालाघाट ( म.प्र.) भारत

Language: Hindi
4 Likes · 2 Comments · 209 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
रिश्ते का अहसास
रिश्ते का अहसास
Paras Nath Jha
कुछ लोग घूमते हैं मैले आईने के साथ,
कुछ लोग घूमते हैं मैले आईने के साथ,
Sanjay ' शून्य'
"क्या बताऊँ दोस्त"
Dr. Kishan tandon kranti
Sometimes you have to
Sometimes you have to
Prachi Verma
धमकियाँ देना काम है उनका,
धमकियाँ देना काम है उनका,
Dr. Man Mohan Krishna
नवरात्र के सातवें दिन माँ कालरात्रि,
नवरात्र के सातवें दिन माँ कालरात्रि,
Harminder Kaur
दुआ सलाम
दुआ सलाम
Dr. Pradeep Kumar Sharma
😊 आत्मकथा / 55वी सालगिरह पर
😊 आत्मकथा / 55वी सालगिरह पर
*Author प्रणय प्रभात*
लोकशैली में तेवरी
लोकशैली में तेवरी
कवि रमेशराज
तेरी यादों को रखा है सजाकर दिल में कुछ ऐसे
तेरी यादों को रखा है सजाकर दिल में कुछ ऐसे
Shweta Soni
विषधर
विषधर
आनन्द मिश्र
ग़ज़ल
ग़ज़ल
ईश्वर दयाल गोस्वामी
2326.पूर्णिका
2326.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
प्रिय-प्रतीक्षा
प्रिय-प्रतीक्षा
Kanchan Khanna
कम्प्यूटर ज्ञान :- नयी तकनीक- पावर बी आई
कम्प्यूटर ज्ञान :- नयी तकनीक- पावर बी आई
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
"ଜୀବନ ସାର୍ଥକ କରିବା ପାଇଁ ସ୍ୱାଭାବିକ ହାର୍ଦିକ ସଂଘର୍ଷ ଅନିବାର୍ଯ।"
Sidhartha Mishra
बाँध लू तुम्हें......
बाँध लू तुम्हें......
Dr Manju Saini
ख़ामोशी है चेहरे पर लेकिन
ख़ामोशी है चेहरे पर लेकिन
पूर्वार्थ
Janeu-less writer / Poem by Musafir Baitha
Janeu-less writer / Poem by Musafir Baitha
Dr MusafiR BaithA
जिंदगी का हिसाब
जिंदगी का हिसाब
Surinder blackpen
समय के पहिए पर कुछ नए आयाम छोड़ते है,
समय के पहिए पर कुछ नए आयाम छोड़ते है,
manjula chauhan
*सबसे सुंदर जग में अपना, तीर्थ अयोध्या धाम है (गीत)*
*सबसे सुंदर जग में अपना, तीर्थ अयोध्या धाम है (गीत)*
Ravi Prakash
विषय सूची
विषय सूची
पाण्डेय चिदानन्द "चिद्रूप"
सवाल ये नहीं
सवाल ये नहीं
Dr fauzia Naseem shad
कर्मफल भोग
कर्मफल भोग
भवानी सिंह धानका 'भूधर'
@ खोज @
@ खोज @
Prashant Tiwari
बे खुदी में सवाल करते हो
बे खुदी में सवाल करते हो
SHAMA PARVEEN
सहेजे रखें संकल्प का प्रकाश
सहेजे रखें संकल्प का प्रकाश
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
*हिम्मत जिंदगी की*
*हिम्मत जिंदगी की*
Naushaba Suriya
दुर्जन ही होंगे जो देंगे दुर्जन का साथ ,
दुर्जन ही होंगे जो देंगे दुर्जन का साथ ,
ओनिका सेतिया 'अनु '
Loading...