Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
15 Feb 2017 · 1 min read

नारी सृष्टि कारिणी

????
नारी करती प्राण उन्मन,नारी सृष्टि कारिणी।
नियति का ये सत्य नियमन,नारी है नारायणी।।

हर रूप पूजनीय तेरा,तू अनेक रूपधारिणी।
युगों से तेरी प्रमुखता,तू आदिशक्तिरूपिणी।।

इस जहाँ से तू ना डर,तू है भयहारिणी।
घुट-घुट कर यूँ ना मर,तू है शत्रु नाशिनी।।

बढे़ जब भी अत्याचार,तू है दुर्गा,काली।
मौत भी गया हार,तू है सत्यवती सावित्री।

तुझ में शक्ति अपार,तू है शक्तिशालिणी।
कर दुष्टों का संहार,तू प्रचंडरूपधारीणी।।
????-लक्ष्मी सिंह?☺

Language: Hindi
487 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from लक्ष्मी सिंह
View all
You may also like:
सपने सारे टूट चुके हैं ।
सपने सारे टूट चुके हैं ।
Arvind trivedi
"नया दौर"
Dr. Kishan tandon kranti
Navratri
Navratri
Sidhartha Mishra
" एकता "
DrLakshman Jha Parimal
हमें लिखनी थी एक कविता
हमें लिखनी थी एक कविता
shabina. Naaz
सुख दुःख
सुख दुःख
जगदीश लववंशी
'Here's the tale of Aadhik maas..' (A gold winning poem)
'Here's the tale of Aadhik maas..' (A gold winning poem)
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
ख़ुदा ने बख़्शी हैं वो ख़ूबियाँ के
ख़ुदा ने बख़्शी हैं वो ख़ूबियाँ के
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
प्रेम और दोस्ती में अंतर न समझाया जाए....
प्रेम और दोस्ती में अंतर न समझाया जाए....
Keshav kishor Kumar
*
*"हरियाली तीज"*
Shashi kala vyas
पितृपक्ष
पितृपक्ष
Neeraj Agarwal
जो हार नहीं मानते कभी, जो होते कभी हताश नहीं
जो हार नहीं मानते कभी, जो होते कभी हताश नहीं
महेश चन्द्र त्रिपाठी
अनजान दीवार
अनजान दीवार
Mahender Singh
हार जाते हैं
हार जाते हैं
Dr fauzia Naseem shad
गुस्सा दिलाकर ,
गुस्सा दिलाकर ,
Umender kumar
आज़ादी का जश्न
आज़ादी का जश्न
Shekhar Chandra Mitra
कविता जो जीने का मर्म बताये
कविता जो जीने का मर्म बताये
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
💐अज्ञात के प्रति-62💐
💐अज्ञात के प्रति-62💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
बेटी उड़ान पर बाप ढलान पर👸👰🙋
बेटी उड़ान पर बाप ढलान पर👸👰🙋
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
पिता
पिता
विजय कुमार अग्रवाल
जख्म भी रूठ गया है अबतो
जख्म भी रूठ गया है अबतो
सिद्धार्थ गोरखपुरी
Gazal
Gazal
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
ध्वनि प्रदूषण कर दो अब कम
ध्वनि प्रदूषण कर दो अब कम
Buddha Prakash
Don't let people who have given up on your dreams lead you a
Don't let people who have given up on your dreams lead you a
पूर्वार्थ
आने वाले कल का ना इतना इंतजार करो ,
आने वाले कल का ना इतना इंतजार करो ,
Neerja Sharma
गले लगाना है तो उस गरीब को गले लगाओ साहिब
गले लगाना है तो उस गरीब को गले लगाओ साहिब
कृष्णकांत गुर्जर
■ आप भी करें कौशल विकास।😊😊
■ आप भी करें कौशल विकास।😊😊
*Author प्रणय प्रभात*
छोटी छोटी खुशियों से भी जीवन में सुख का अक्षय संचार होता है।
छोटी छोटी खुशियों से भी जीवन में सुख का अक्षय संचार होता है।
Dr MusafiR BaithA
प्रभु राम मेरे सपने मे आये संग मे सीता माँ को लाये
प्रभु राम मेरे सपने मे आये संग मे सीता माँ को लाये
Satyaveer vaishnav
माइल है दर्दे-ज़ीस्त,मिरे जिस्मो-जाँ के बीच
माइल है दर्दे-ज़ीस्त,मिरे जिस्मो-जाँ के बीच
Sarfaraz Ahmed Aasee
Loading...