Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
29 Mar 2024 · 1 min read

नाम हमने लिखा था आंखों में

नाम हम ने लिखा था आंखों में
तेरा ही इक चेहरा था आंखों में।

बात दिल की हम कभी कह न पाये
अधूरा सा सपना था , आंखों में

परेशां हम है तुमसे बात करने को
जलता सा आसमां था,आंखों में

इश्क की बातें तुम अब न करो।
अंधेरा ही अंधेरा था , आंखों में

हाथ तुमने जो थामा ,मेरा दिलबर
हुआ फिर सवेरा आंखों में।

सुरिंदर कौर

Language: Hindi
1 Like · 78 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Surinder blackpen
View all
You may also like:
कवि सम्मेलन में जुटे, मच्छर पूरी रात (हास्य कुंडलिया)
कवि सम्मेलन में जुटे, मच्छर पूरी रात (हास्य कुंडलिया)
Ravi Prakash
एक ही तो, निशा बचा है,
एक ही तो, निशा बचा है,
विनोद कृष्ण सक्सेना, पटवारी
नेता
नेता
Raju Gajbhiye
ग़ज़ल
ग़ज़ल
विमला महरिया मौज
बारिश और उनकी यादें...
बारिश और उनकी यादें...
Falendra Sahu
टूटा हुआ ख़्वाब हूॅ॑ मैं
टूटा हुआ ख़्वाब हूॅ॑ मैं
VINOD CHAUHAN
"रानी वेलु नचियार"
Dr. Kishan tandon kranti
इस दिल में .....
इस दिल में .....
sushil sarna
2319.पूर्णिका
2319.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
आप वक्त को थोड़ा वक्त दीजिए वह आपका वक्त बदल देगा ।।
आप वक्त को थोड़ा वक्त दीजिए वह आपका वक्त बदल देगा ।।
Lokesh Sharma
आजकल के समाज में, लड़कों के सम्मान को उनकी समझदारी से नहीं,
आजकल के समाज में, लड़कों के सम्मान को उनकी समझदारी से नहीं,
पूर्वार्थ
ग़ज़ल
ग़ज़ल
ईश्वर दयाल गोस्वामी
अगर मुझे पढ़ सको तो पढना जरूर
अगर मुझे पढ़ सको तो पढना जरूर
शेखर सिंह
फूलों की तरह मैं मिली थी और आपने,,
फूलों की तरह मैं मिली थी और आपने,,
Shweta Soni
इस उजले तन को कितने घिस रगड़ के धोते हैं लोग ।
इस उजले तन को कितने घिस रगड़ के धोते हैं लोग ।
Lakhan Yadav
किसी को उदास पाकर
किसी को उदास पाकर
Shekhar Chandra Mitra
कुछ बच्चों के परीक्षा परिणाम आने वाले है
कुछ बच्चों के परीक्षा परिणाम आने वाले है
ओनिका सेतिया 'अनु '
प्यार कर रहा हूँ मैं - ग़ज़ल
प्यार कर रहा हूँ मैं - ग़ज़ल
डॉक्टर वासिफ़ काज़ी
बेचारे नेता
बेचारे नेता
गुमनाम 'बाबा'
Not only doctors but also cheater opens eyes.
Not only doctors but also cheater opens eyes.
सिद्धार्थ गोरखपुरी
नव्य द्वीप का रहने वाला
नव्य द्वीप का रहने वाला
Dr. Ramesh Kumar Nirmesh
आखिर कब तक ?
आखिर कब तक ?
Dr fauzia Naseem shad
ग़ज़ल
ग़ज़ल
Seema Garg
फुटपाथ
फुटपाथ
Prakash Chandra
(15)
(15) " वित्तं शरणं " भज ले भैया !
Kishore Nigam
■ जय हो...
■ जय हो...
*प्रणय प्रभात*
भ्रष्टाचार ने बदल डाला
भ्रष्टाचार ने बदल डाला
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
सहारा
सहारा
Neeraj Agarwal
पीड़ादायक होता है
पीड़ादायक होता है
अभिषेक पाण्डेय 'अभि ’
*भगवान गणेश जी के जन्म की कथा*
*भगवान गणेश जी के जन्म की कथा*
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
Loading...