Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
6 Feb 2024 · 1 min read

नादानी

ये आसमान में, अकेला, टँगा हुआ सूरज….

युगों से किसके लिए ख़ुद को जलाता होगा?

कोई तो होगा क़ायनात में वो संग – ए – दिल

देखता होगा तमाशा, तमाशबीनों सा

ये सिलसिला कोई नया नहीं, बहुत पुराना है,

दिलों की बात जुदा है, अलग फ़साना है…

आशिकी के तमाम किस्सों में,

कोई नादान है, पर कोई बहुत दाना है

कोई तो ख़ार हो जाता है बस नादानी में

कोई देख कर उसे खूब मुस्कराता है

ये दिमाग़ का नहीं दिल का मामला है

कोई मिट जाता है मोहब्बत के लिए

कोई सिर्फ़ उसका मज़ाक बनाता है

किसी लिए खेल है, किसी के लिये जिंदगी

कोई सच्चा है, प्यार उसके लिए है बंदगी

फिर भी इस ज़माने में बेचारा मात खाता है

प्यार में मरता है वो, कोई मय्यत में नहीं जाता है।

2 Likes · 54 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
हर तरफ़ आज दंगें लड़ाई हैं बस
हर तरफ़ आज दंगें लड़ाई हैं बस
Abhishek Shrivastava "Shivaji"
तुम पतझड़ सावन पिया,
तुम पतझड़ सावन पिया,
लक्ष्मी सिंह
"बेल"
Dr. Kishan tandon kranti
संकट मोचन हनुमान जी
संकट मोचन हनुमान जी
Neeraj Agarwal
सितारों की तरह चमकना है, तो सितारों की तरह जलना होगा।
सितारों की तरह चमकना है, तो सितारों की तरह जलना होगा।
Yogi Yogendra Sharma : Motivational Speaker
गुरु तेगबहादुर की शहादत का साक्षी है शीशगंज गुरुद्वारा
गुरु तेगबहादुर की शहादत का साक्षी है शीशगंज गुरुद्वारा
कवि रमेशराज
एक समझदार व्यक्ति द्वारा रिश्तों के निर्वहन में अचानक शिथिल
एक समझदार व्यक्ति द्वारा रिश्तों के निर्वहन में अचानक शिथिल
Paras Nath Jha
अंतरराष्ट्रीय वृद्ध दिवस पर
अंतरराष्ट्रीय वृद्ध दिवस पर
सत्य कुमार प्रेमी
श्रीराम पे बलिहारी
श्रीराम पे बलिहारी
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
हजारों लोग मिलेंगे तुम्हें
हजारों लोग मिलेंगे तुम्हें
ruby kumari
मैं जिससे चाहा,
मैं जिससे चाहा,
Dr. Man Mohan Krishna
खंडहर
खंडहर
Tarkeshwari 'sudhi'
कोशिश कम न थी मुझे गिराने की,
कोशिश कम न थी मुझे गिराने की,
Vindhya Prakash Mishra
तुम वोट अपना मत बेच देना
तुम वोट अपना मत बेच देना
gurudeenverma198
योगा डे सेलिब्रेशन
योगा डे सेलिब्रेशन
Dr. Pradeep Kumar Sharma
ये दुनिया है
ये दुनिया है
Jeewan Singh 'जीवनसवारो'
दोहा
दोहा
दुष्यन्त 'बाबा'
3218.*पूर्णिका*
3218.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
स्वाभिमान
स्वाभिमान
Shyam Sundar Subramanian
सम्भल कर चलना जिंदगी के सफर में....
सम्भल कर चलना जिंदगी के सफर में....
shabina. Naaz
कोई कैसे ही कह दे की आजा़द हूं मैं,
कोई कैसे ही कह दे की आजा़द हूं मैं,
manjula chauhan
शिशिर ऋतु-१
शिशिर ऋतु-१
Vishnu Prasad 'panchotiya'
💐प्रेम कौतुक-419💐
💐प्रेम कौतुक-419💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
बुद्ध धाम
बुद्ध धाम
Buddha Prakash
बचपन की सुनहरी यादें.....
बचपन की सुनहरी यादें.....
Awadhesh Kumar Singh
*कामदेव को जीता तुमने, शंकर तुम्हें प्रणाम है (भक्ति-गीत)*
*कामदेव को जीता तुमने, शंकर तुम्हें प्रणाम है (भक्ति-गीत)*
Ravi Prakash
🇭🇺 श्रीयुत अटल बिहारी जी
🇭🇺 श्रीयुत अटल बिहारी जी
Pt. Brajesh Kumar Nayak
तन्हा ही खूबसूरत हूं मैं।
तन्हा ही खूबसूरत हूं मैं।
शक्ति राव मणि
“दूल्हे की परीक्षा – मिथिला दर्शन” (संस्मरण -1974)
“दूल्हे की परीक्षा – मिथिला दर्शन” (संस्मरण -1974)
DrLakshman Jha Parimal
🙅आम सूचना🙅
🙅आम सूचना🙅
*Author प्रणय प्रभात*
Loading...