Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
11 Mar 2024 · 1 min read

नाथ मुझे अपनाइए,तुम ही प्राण आधार

नाथ मुझे अपनाइए,तुम ही प्राण आधार
दया करो तुम दया निधि,आन पड़ा तेरे द्वार
आन पड़ा तेरे द्वार, तुम्हे नित शीश झुकाऊं
शरण पड़ा में आन,प्रभु में चरण दवाऊं

56 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
संस्कारों के बीज
संस्कारों के बीज
Dr. Pradeep Kumar Sharma
उम्र निकल रही है,
उम्र निकल रही है,
Ansh
मंत्र :या देवी सर्वभूतेषु सृष्टि रूपेण संस्थिता।
मंत्र :या देवी सर्वभूतेषु सृष्टि रूपेण संस्थिता।
Harminder Kaur
प्राचीन दोस्त- निंब
प्राचीन दोस्त- निंब
दिनेश एल० "जैहिंद"
रात क्या है?
रात क्या है?
Astuti Kumari
किसी के साथ सोना और किसी का होना दोनों में ज़मीन आसमान का फर
किसी के साथ सोना और किसी का होना दोनों में ज़मीन आसमान का फर
Rj Anand Prajapati
#लघुकथा-
#लघुकथा-
*प्रणय प्रभात*
सविनय अभिनंदन करता हूॅं हिंदुस्तानी बेटी का
सविनय अभिनंदन करता हूॅं हिंदुस्तानी बेटी का
महेश चन्द्र त्रिपाठी
फ्राॅड की कमाई
फ्राॅड की कमाई
Punam Pande
दोय चिड़कली
दोय चिड़कली
Rajdeep Singh Inda
प्रिय
प्रिय
The_dk_poetry
ज़िंदगी का दस्तूर
ज़िंदगी का दस्तूर
Shyam Sundar Subramanian
मैं अपनी सेहत और तरक्की का राज तुमसे कहता हूं
मैं अपनी सेहत और तरक्की का राज तुमसे कहता हूं
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
🌱कर्तव्य बोध🌱
🌱कर्तव्य बोध🌱
सुरेश अजगल्ले 'इन्द्र '
दोहा त्रयी. . . . शमा -परवाना
दोहा त्रयी. . . . शमा -परवाना
sushil sarna
जिन्दगी के रंग
जिन्दगी के रंग
Santosh Shrivastava
वर दो हमें हे शारदा, हो  सर्वदा  शुभ  भावना    (सरस्वती वंदन
वर दो हमें हे शारदा, हो सर्वदा शुभ भावना (सरस्वती वंदन
Ravi Prakash
"दस्तूर"
Dr. Kishan tandon kranti
it's a generation of the tired and fluent in silence.
it's a generation of the tired and fluent in silence.
पूर्वार्थ
विचार
विचार
Godambari Negi
दोहे- दास
दोहे- दास
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
अमीरों का देश
अमीरों का देश
Ram Babu Mandal
विचार , हिंदी शायरी
विचार , हिंदी शायरी
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
हर क़दम पर सराब है सचमुच
हर क़दम पर सराब है सचमुच
Sarfaraz Ahmed Aasee
दिल धड़क उठा
दिल धड़क उठा
कुमार
** मुक्तक **
** मुक्तक **
surenderpal vaidya
ঐটা সত্য
ঐটা সত্য
Otteri Selvakumar
ज़रूरत के तकाज़ो पर
ज़रूरत के तकाज़ो पर
Dr fauzia Naseem shad
*** नर्मदा : माँ तेरी तट पर.....!!! ***
*** नर्मदा : माँ तेरी तट पर.....!!! ***
VEDANTA PATEL
Ghazal
Ghazal
shahab uddin shah kannauji
Loading...