Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
22 Mar 2023 · 1 min read

नववर्ष तुम्हे मंगलमय हो

नववर्ष तुम्हे मंगलमय हो,
नित्य नई सफलता पाओ।
कष्ट कोई न हो जीवन में,
उन्नति मार्ग पर बढ़ते जाओ।।

नववर्ष सबको हितकारी हो,
सबके लिए ये परोपकारी हो।
मिले सबको सारी सुविधाएं,
ये शासन की जिम्मेदारी हो।।

नववर्ष धूमधाम से हम मनाएंगे,
ईशावर्ष छोड़ हिंदुवर्ष मनाएंगे।
नवरात्र प्रारंभ होते है नव वर्ष से,
नौ देवियों के गुण हम सब गायेंगे।।

शीत ऋतु अब चली जायेगी,
बसंत ऋतु अब आ जायेगी।
आमो में आएंगे अब नए बौर,
कोयल नए गीत अब सुनायेगी।।

किसानों के घर नई फसल आयेगी,
हर तरफ खुशियां वहां छा जाएंगी।
झूम जायेगा सारा वातावरण,
हर डाली अब खूब इतरायेगी।।

आर के रस्तोगी गुरुग्राम

Language: Hindi
7 Likes · 10 Comments · 615 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Ram Krishan Rastogi
View all
You may also like:
रिश्तों से अब स्वार्थ की गंध आने लगी है
रिश्तों से अब स्वार्थ की गंध आने लगी है
Bhupendra Rawat
दिल में
दिल में
Dr fauzia Naseem shad
तुम्हारा मेरा रिश्ता....
तुम्हारा मेरा रिश्ता....
पूर्वार्थ
भगवावस्त्र
भगवावस्त्र
Dr Parveen Thakur
मांँ
मांँ
Neelam Sharma
“बदलते रिश्ते”
“बदलते रिश्ते”
पंकज कुमार कर्ण
6. *माता-पिता*
6. *माता-पिता*
Dr Shweta sood
// कामयाबी के चार सूत्र //
// कामयाबी के चार सूत्र //
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
खोजें समस्याओं का समाधान
खोजें समस्याओं का समाधान
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
बहुत आसान है भीड़ देख कर कौरवों के तरफ खड़े हो जाना,
बहुत आसान है भीड़ देख कर कौरवों के तरफ खड़े हो जाना,
Sandeep Kumar
निदामत का एक आँसू ......
निदामत का एक आँसू ......
shabina. Naaz
"टमाटर" ऐसी चीज़ नहीं
*Author प्रणय प्रभात*
संवेदना
संवेदना
नेताम आर सी
विजय हजारे
विजय हजारे
Dr. Pradeep Kumar Sharma
मेरे मौन का मान कीजिए महोदय,
मेरे मौन का मान कीजिए महोदय,
शेखर सिंह
गैरों से क्या गिला करूं है अपनों से गिला
गैरों से क्या गिला करूं है अपनों से गिला
Ajad Mandori
आप कौन है, आप शरीर है या शरीर में जो बैठा है वो
आप कौन है, आप शरीर है या शरीर में जो बैठा है वो
Yogi Yogendra Sharma : Motivational Speaker
3426⚘ *पूर्णिका* ⚘
3426⚘ *पूर्णिका* ⚘
Dr.Khedu Bharti
सत्य से विलग न ईश्वर है
सत्य से विलग न ईश्वर है
Udaya Narayan Singh
कू कू करती कोयल
कू कू करती कोयल
Mohan Pandey
मित्र, चित्र और चरित्र बड़े मुश्किल से बनते हैं। इसे सँभाल क
मित्र, चित्र और चरित्र बड़े मुश्किल से बनते हैं। इसे सँभाल क
Anand Kumar
*अफसर की बाधा दूर हो गई (लघु कथा)*
*अफसर की बाधा दूर हो गई (लघु कथा)*
Ravi Prakash
उनसे कहना ज़रा दरवाजे को बंद रखा करें ।
उनसे कहना ज़रा दरवाजे को बंद रखा करें ।
Phool gufran
विषय
विषय
Rituraj shivem verma
सरहदों को तोड़कर उस पार देखो।
सरहदों को तोड़कर उस पार देखो।
Prabhu Nath Chaturvedi "कश्यप"
सुकरात के शागिर्द
सुकरात के शागिर्द
Shekhar Chandra Mitra
" फेसबूक फ़्रेंड्स "
DrLakshman Jha Parimal
पहले प्यार में
पहले प्यार में
डॉ. श्री रमण 'श्रीपद्'
माथे की बिंदिया
माथे की बिंदिया
Pankaj Bindas
विकलांगता : नहीं एक अभिशाप
विकलांगता : नहीं एक अभिशाप
Dr. Upasana Pandey
Loading...