Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
11 Feb 2024 · 1 min read

” नम पलकों की कोर “

गीत

बनते -और , बिगड़ते देखा
संबंधों , का दौर !
अँधियारे – को , रोज समेटे ,
उजली उजली भोर !!

बदले बदले , मापदंड हैं ,
जुड़े न , मन के तार !
अपना अपना , हित साधे हैं ,
मिले न , निश्छल प्यार !
रहा- दिखावा , कोरा कोरा ,
मचता है , बस शोर !!

कहाँ प्रीत , अब पावन पावन ,
बिखरे – बिखरे , जाल !
है उन्माद , पसरता लागे ,
रोज बज रहे ,ताल !
मर्यादा तो , तार – तार है ,
टूट रही है , डोर !!

हया -आँख से , उतरी उतरी ,
घटता है नित ,मान !
आँसू के , कतरो में बहती ,
मधुर मधुर , मुस्कान !
अधिकारों की , घटती सीमा ,
चले न- कोई , जोर !!

विश्वासों का, कहाँ धरातल ,
हिलते- सब ,आधार !
रोज पोंछते , आँसू झूंठे ,
झूँठी है , मनुहार !
अंतरंगता ,ठहरे -पल को ,
हाथ न आता , छोर !!

साथ छोड़कर , नई राह लें ,
नहीं ठहरते , पाँव !
यादों से -अब , मिलन रोज है ,
खेल -गये जो , दाँव !
भीगे भीगे , नयन अगर तो ,
नम -पलकों की , कोर !!

स्वरचित / रचियता :
बृज व्यास
शाजापुर ( मध्यप्रदेश )

Language: Hindi
2 Likes · 1 Comment · 93 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
कृष्ण की फितरत राधा की विरह
कृष्ण की फितरत राधा की विरह
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
राम
राम
umesh mehra
फितरत
फितरत
Surya Barman
3084.*पूर्णिका*
3084.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
लोभी चाटे पापी के गाँ... कहावत / DR. MUSAFIR BAITHA
लोभी चाटे पापी के गाँ... कहावत / DR. MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
"नजरिया"
Dr. Kishan tandon kranti
समलैंगिकता-एक मनोविकार
समलैंगिकता-एक मनोविकार
मनोज कर्ण
अँधेरे रास्ते पर खड़ा आदमी.......
अँधेरे रास्ते पर खड़ा आदमी.......
सिद्धार्थ गोरखपुरी
#बड़ा_सच-
#बड़ा_सच-
*Author प्रणय प्रभात*
*सिंह की सवारी (घनाक्षरी : सिंह विलोकित छंद)*
*सिंह की सवारी (घनाक्षरी : सिंह विलोकित छंद)*
Ravi Prakash
ग़ज़ल
ग़ज़ल
Mayank Kumar
अगर प्यार  की राह  पर हम चलेंगे
अगर प्यार की राह पर हम चलेंगे
Dr Archana Gupta
इक्कीस मनकों की माला हमने प्रभु चरणों में अर्पित की।
इक्कीस मनकों की माला हमने प्रभु चरणों में अर्पित की।
Prabhu Nath Chaturvedi "कश्यप"
World Blood Donar's Day
World Blood Donar's Day
Tushar Jagawat
Success is not final
Success is not final
Swati
देखता हूँ बार बार घड़ी की तरफ
देखता हूँ बार बार घड़ी की तरफ
gurudeenverma198
मैं उसका ही आईना था जहाँ मोहब्बत वो मेरी थी,तो अंदाजा उसे कह
मैं उसका ही आईना था जहाँ मोहब्बत वो मेरी थी,तो अंदाजा उसे कह
AmanTv Editor In Chief
मार्गदर्शन होना भाग्य की बात है
मार्गदर्शन होना भाग्य की बात है
Harminder Kaur
If I become a doctor, I will open hearts of 33 koti people a
If I become a doctor, I will open hearts of 33 koti people a
Ankita Patel
विश्व जनसंख्या दिवस
विश्व जनसंख्या दिवस
Bodhisatva kastooriya
कितना
कितना
Santosh Shrivastava
प्रेम
प्रेम
Rashmi Sanjay
17. बेखबर
17. बेखबर
Rajeev Dutta
कस्ती धीरे-धीरे चल रही है
कस्ती धीरे-धीरे चल रही है
कवि दीपक बवेजा
क्या विरासत में
क्या विरासत में
Dr fauzia Naseem shad
★भारतीय किसान★
★भारतीय किसान★
★ IPS KAMAL THAKUR ★
प्रेम और आदर
प्रेम और आदर
ओंकार मिश्र
वर्तमान
वर्तमान
Shyam Sundar Subramanian
दादी दादा का प्रेम किसी भी बच्चे को जड़ से जोड़े  रखता है या
दादी दादा का प्रेम किसी भी बच्चे को जड़ से जोड़े रखता है या
Utkarsh Dubey “Kokil”
मैं कौन हूं
मैं कौन हूं
प्रेमदास वसु सुरेखा
Loading...