Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
16 Feb 2024 · 1 min read

*”नमामि देवी नर्मदे”*

“नमामि देवी नर्मदे”
नमामि देवी नर्मदे हर हर कहते तुम्हें नमन।
शिव के पसीने से प्रगटी हो करें आत्मचिंतन।नर्मदा जल पवित्र पावन हो जाये जब दर्शन।
सुख देने वाली जलधारा मगरमच्छ है वाहन।
अमरकंटक से निकली मेखला सुता मनभावन।
मध्यप्रदेश की जीवन रेखा वृहद संगम पहचान।
गंगा में डुबकी लगाते नर्मदा का दर्शन महान।
कलकल बहती छलकती बदल दे सारा जीवन।
नर्मदा अनंत जल धाराओं में बहती हुई सघन।
नर्मदा का वजूद सौंदर्य हाथ जोड़ करते नमन।
हरेक पत्थर कंकड़ शंकर दिव्य चक्षु से दर्शन।
विशाल हॄदय साक्षात दर्शन करे पूजन अर्चन।
मानवता अब भ्रष्ट हो अचानक बदला जीवन।
निर्लज्ज मन समझे न मलीन कर जल पावन।
नर्मदा सब कुछ जाने ले जाये एक दिन तनमन।
शशिकला व्यास शिल्पी ✍️
नमामि देवी नर्मदे हर।

79 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
इन आँखों में इतनी सी नमी रह गई।
इन आँखों में इतनी सी नमी रह गई।
लक्ष्मी सिंह
Dr Arun Kumar shastri
Dr Arun Kumar shastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
Choose a man or women with a good heart no matter what his f
Choose a man or women with a good heart no matter what his f
पूर्वार्थ
।। अछूत ।।
।। अछूत ।।
साहित्य गौरव
ग़ज़ल
ग़ज़ल
ईश्वर दयाल गोस्वामी
दोगला चेहरा
दोगला चेहरा
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
पहला कदम
पहला कदम
प्रकाश जुयाल 'मुकेश'
रंगों का त्योहार होली
रंगों का त्योहार होली
Suman (Aditi Angel 🧚🏻)
रेस का घोड़ा
रेस का घोड़ा
Dr. Pradeep Kumar Sharma
बस चार ही है कंधे
बस चार ही है कंधे
Rituraj shivem verma
तेवरी आन्दोलन की साहित्यिक यात्रा *अनिल अनल
तेवरी आन्दोलन की साहित्यिक यात्रा *अनिल अनल
कवि रमेशराज
*छपवाऍं पुस्तक स्वयं, खर्चा करिए आप (कुंडलिया )*
*छपवाऍं पुस्तक स्वयं, खर्चा करिए आप (कुंडलिया )*
Ravi Prakash
Let your thoughts
Let your thoughts
Dhriti Mishra
ऐतिहासिक भूल
ऐतिहासिक भूल
Shekhar Chandra Mitra
जीवन में सबसे मूल्यवान अगर मेरे लिए कुछ है तो वह है मेरा आत्
जीवन में सबसे मूल्यवान अगर मेरे लिए कुछ है तो वह है मेरा आत्
Dr Tabassum Jahan
भारत में भीख मांगते हाथों की ۔۔۔۔۔
भारत में भीख मांगते हाथों की ۔۔۔۔۔
Dr fauzia Naseem shad
"शाश्वत"
Dr. Kishan tandon kranti
अर्जुन धुरंधर न सही ...एकलव्य तो बनना सीख लें ..मौन आखिर कब
अर्जुन धुरंधर न सही ...एकलव्य तो बनना सीख लें ..मौन आखिर कब
DrLakshman Jha Parimal
धरा हमारी स्वच्छ हो, सबका हो उत्कर्ष।
धरा हमारी स्वच्छ हो, सबका हो उत्कर्ष।
surenderpal vaidya
आंधी
आंधी
Aman Sinha
औरत की नजर
औरत की नजर
Annu Gurjar
तुम्हें नहीं पता, तुम कितनों के जान हो…
तुम्हें नहीं पता, तुम कितनों के जान हो…
Anand Kumar
23/40.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/40.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
बादल  खुशबू फूल  हवा  में
बादल खुशबू फूल हवा में
shabina. Naaz
Trying to look good.....
Trying to look good.....
सिद्धार्थ गोरखपुरी
तुम जा चुकी
तुम जा चुकी
Kunal Kanth
■ हो ली होली ■
■ हो ली होली ■
*Author प्रणय प्रभात*
गजल सगीर
गजल सगीर
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
छोड़ जाते नही पास आते अगर
छोड़ जाते नही पास आते अगर
कृष्णकांत गुर्जर
मेरे पिता मेरा भगवान
मेरे पिता मेरा भगवान
Nanki Patre
Loading...