Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
24 Mar 2024 · 1 min read

नफरत दिलों की मिटाने, आती है यह होली

(शेर)- होली के इस त्यौहार पर, हम सबको यह बताये।
अपने वतन में भाईचारा, प्रेम, सौहार्द हम बढ़ाये।।
——————————————————————–
नफरत दिलों की मिटाने, आती है यह होली।
भाईचारा वतन में बढ़ाने, आती है यह होली।।
नफरत दिलों की मिटाने————————।।

क्या भला है दुश्मनी में, दोस्ती का हाथ मिलाओ।
छोड़कर अभिमान अपना, सीने से सबको लगाओ।।
मोहब्बत सभी को सिखाने, आती है यह होली।
नफरत दिलों की मिटाने———————-।।

ना कोई छोटा- बड़ा है, होली के इन रंगों में।
समानता- सद्भाव है, होली के इन रंगों में।।
भेदभाव की दीवारें गिराने, आती है यह होली।
नफरत दिलों की मिटाने———————-।।

देश में चैनो- अमन हो, प्रार्थना हम यह करें।
खेलकर होली लहू की, बदनाम धर्म नहीं करें।।
मानवता का पाठ पढ़ाने, आती है यह होली।
नफरत दिलों की मिटाने———————।।

शिक्षक एवं साहित्यकार
गुरुदीन वर्मा उर्फ़ जी.आज़ाद
तहसील एवं जिला- बारां(राजस्थान)

Language: Hindi
Tag: गीत
99 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
"यह कैसा दौर"
Dr. Kishan tandon kranti
मेरे हमसफ़र ...
मेरे हमसफ़र ...
हिमांशु Kulshrestha
हर मोड़ पर ,
हर मोड़ पर ,
Dhriti Mishra
छीज रही है धीरे-धीरे मेरी साँसों की डोर।
छीज रही है धीरे-धीरे मेरी साँसों की डोर।
डॉ.सीमा अग्रवाल
मुँहतोड़ जवाब मिलेगा
मुँहतोड़ जवाब मिलेगा
Dr. Pradeep Kumar Sharma
जो तुम्हारी ख़ामोशी से तुम्हारी तकलीफ का अंदाजा न कर सके उसक
जो तुम्हारी ख़ामोशी से तुम्हारी तकलीफ का अंदाजा न कर सके उसक
ख़ान इशरत परवेज़
तुम करो वैसा, जैसा मैं कहता हूँ
तुम करो वैसा, जैसा मैं कहता हूँ
gurudeenverma198
चार दिन की जिंदगी
चार दिन की जिंदगी
Karuna Goswami
*समारोह को पंखुड़ियॉं, बिखरी क्षणभर महकाती हैं (हिंदी गजल/ ग
*समारोह को पंखुड़ियॉं, बिखरी क्षणभर महकाती हैं (हिंदी गजल/ ग
Ravi Prakash
आधार छंद - बिहारी छंद
आधार छंद - बिहारी छंद
भगवती प्रसाद व्यास " नीरद "
*सवाल*
*सवाल*
Naushaba Suriya
सुलगते एहसास
सुलगते एहसास
Surinder blackpen
मुस्कानों पर दिल भला,
मुस्कानों पर दिल भला,
sushil sarna
बच्चे का संदेश
बच्चे का संदेश
Anjali Choubey
गजल सगीर
गजल सगीर
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
आज भगवान का बनाया हुआ
आज भगवान का बनाया हुआ
प्रेमदास वसु सुरेखा
यह जनता है ,सब जानती है
यह जनता है ,सब जानती है
Bodhisatva kastooriya
वो पढ़ लेगा मुझको
वो पढ़ लेगा मुझको
Dr fauzia Naseem shad
दुर्भाग्य का सामना
दुर्भाग्य का सामना
Paras Nath Jha
🙅🤦आसान नहीं होता
🙅🤦आसान नहीं होता
डॉ० रोहित कौशिक
जय श्रीकृष्ण । ॐ नमो भगवते वासुदेवाय नमः ।
जय श्रीकृष्ण । ॐ नमो भगवते वासुदेवाय नमः ।
Raju Gajbhiye
निराला का मुक्त छंद
निराला का मुक्त छंद
Shweta Soni
जितने श्री राम हमारे हैं उतने श्री राम तुम्हारे हैं।
जितने श्री राम हमारे हैं उतने श्री राम तुम्हारे हैं।
Prabhu Nath Chaturvedi "कश्यप"
नन्ही परी और घमंडी बिल्ली मिनी
नन्ही परी और घमंडी बिल्ली मिनी
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
मन से उतरे लोग दाग धब्बों की तरह होते हैं
मन से उतरे लोग दाग धब्बों की तरह होते हैं
ruby kumari
🌸अनसुनी 🌸
🌸अनसुनी 🌸
Mahima shukla
*लाल सरहद* ( 13 of 25 )
*लाल सरहद* ( 13 of 25 )
Kshma Urmila
ये साल बीत गया पर वो मंज़र याद रहेगा
ये साल बीत गया पर वो मंज़र याद रहेगा
Keshav kishor Kumar
प्यार ~ व्यापार
प्यार ~ व्यापार
The_dk_poetry
कुछ दुआ की जाए।
कुछ दुआ की जाए।
Taj Mohammad
Loading...