Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
11 Jun 2023 · 1 min read

ग़ज़ल/नज़्म: एक तेरे ख़्वाब में ही तो हमने हजारों ख़्वाब पाले हैं

एक तेरे ख़्वाब में ही तो हमने हजारों ख़्वाब पाले हैं,
नज़र ना लग जाए किसी की तो दिल से नहीं निकाले हैं।

साल-दर-साल ही निखर रही है रौनकें चाहत की,
इन बन्द आँखों में भी फोटो तेरे दिखते नहीं काले हैं।

ये बेवफाईयाँ, रुसवाईयाँ, तन्हाईयाँ सोचते होंगे बस वही,
मदहोशी के वास्ते जिनके दिलों में मदमस्त नहीं प्याले हैं।

आज़ फ़िर से निहारा मैंने कच्छा सा आँगन अपना,
कैसे कह दूँ पैरों के निशाँ तेरे दिखते नहीं निराले हैं।

रोशन हो गया घर का हर कोना आज़ तेरे आने से,
ये चाहत के दीपक जन्मों तक बुझने नहीं वाले हैं।

©✍🏻 स्वरचित
अनिल कुमार ‘अनिल’
9783597507,
9950538424,
anilk1604@gmail.com

1 Like · 121 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from अनिल कुमार
View all
You may also like:
ମଣିଷ ଠାରୁ ଅଧିକ
ମଣିଷ ଠାରୁ ଅଧିକ
Otteri Selvakumar
23/122.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/122.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
*अपना अंतस*
*अपना अंतस*
Rambali Mishra
गति केवल
गति केवल
*Author प्रणय प्रभात*
जीवन का फलसफा/ध्येय यह हो...
जीवन का फलसफा/ध्येय यह हो...
Dr MusafiR BaithA
शीर्षक – शुष्क जीवन
शीर्षक – शुष्क जीवन
Manju sagar
टेढ़ी ऊंगली
टेढ़ी ऊंगली
Dr. Pradeep Kumar Sharma
*तीर्थ नैमिषारण्य भ्रमण, दर्शन पावन कर आए (गीत)*
*तीर्थ नैमिषारण्य भ्रमण, दर्शन पावन कर आए (गीत)*
Ravi Prakash
एक पते की बात
एक पते की बात
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
अपनेपन का मुखौटा
अपनेपन का मुखौटा
Manisha Manjari
अजनवी
अजनवी
Satish Srijan
तुम नफरत करो
तुम नफरत करो
Harminder Kaur
Bahut fark h,
Bahut fark h,
Sakshi Tripathi
जिंदगी की कहानी लिखने में
जिंदगी की कहानी लिखने में
Shweta Soni
फूलन देवी
फूलन देवी
Shekhar Chandra Mitra
💐प्रेम कौतुक-156💐
💐प्रेम कौतुक-156💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
गीत।। रूमाल
गीत।। रूमाल
Shiva Awasthi
' जो मिलना है वह मिलना है '
' जो मिलना है वह मिलना है '
निरंजन कुमार तिलक 'अंकुर'
भरत
भरत
Sanjay ' शून्य'
* ज़ालिम सनम *
* ज़ालिम सनम *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
चिड़िया रानी
चिड़िया रानी
नन्दलाल सुथार "राही"
जुनून
जुनून
अखिलेश 'अखिल'
மறுபிறவியின் உண்மை
மறுபிறவியின் உண்மை
Shyam Sundar Subramanian
ग़ज़ल - ज़िंदगी इक फ़िल्म है -संदीप ठाकुर
ग़ज़ल - ज़िंदगी इक फ़िल्म है -संदीप ठाकुर
Sandeep Thakur
मत कहना ...
मत कहना ...
SURYA PRAKASH SHARMA
रावण की गर्जना व संदेश
रावण की गर्जना व संदेश
Ram Krishan Rastogi
कृष्ण कुमार अनंत
कृष्ण कुमार अनंत
Krishna Kumar ANANT
काव्य की आत्मा और सात्विक बुद्धि +रमेशराज
काव्य की आत्मा और सात्विक बुद्धि +रमेशराज
कवि रमेशराज
मन है एक बादल सा मित्र हैं हवाऐं
मन है एक बादल सा मित्र हैं हवाऐं
Bhargav Jha
आहट बता गयी
आहट बता गयी
भरत कुमार सोलंकी
Loading...