Oct 6, 2016 · 1 min read

नजरे भी मिली यूं नजर से

नज़रे भी यूं मिल आई हैं नज़र से
ख़बरे भी जैसे मिली हो बेखबर से
**************************
बाद मुद्दत मिला सुकूं इस तरह से
बिछड़ा जैसे मिला हो हमसफ़र से
***************************
कपिल कुमार
06/10/2016

128 Views
You may also like:
यादों की गठरी
Dr. Arti 'Lokesh' Goel
अम्बेडकर जी के सपनों का भारत
Shankar J aanjna
*कलम शतक* :कवि कल्याण कुमार जैन शशि
Ravi Prakash
सच का सामना
Shyam Sundar Subramanian
गीत - याद तुम्हारी
Mahendra Narayan
यदि मेरी पीड़ा पढ़ पाती
Saraswati Bajpai
मैं मजदूर हूँ!
Anamika Singh
अभी तुम करलो मनमानियां।
Taj Mohammad
ज़रा सामने बैठो।
Taj Mohammad
माँ
Dr Archana Gupta
सुन ज़िन्दगी!
Shailendra Aseem
विभाजन की विभीषिका
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
हाइकु:(कोरोना)
Prabhudayal Raniwal
पानी का दर्द
Anamika Singh
साहित्यकारों से
Rakesh Pathak Kathara
नूतन सद्आचार मिल गया
Pt. Brajesh Kumar Nayak
एक वीरांगना का अन्त !
Prabhudayal Raniwal
ऐसे थे पापा मेरे !
Kuldeep mishra (KD)
💐प्रेम की राह पर-27💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
करते रहो सितम।
Taj Mohammad
युद्ध सिर्फ प्रश्न खड़ा करता है [भाग४]
Anamika Singh
¡*¡ हम पंछी : कोई हमें बचा लो ¡*¡
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
Rainbow in the sky 🌈
Buddha Prakash
मत ज़हर हबा में घोल रे
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
माँ तेरी जैसी कोई नही।
Anamika Singh
माँ
DR ARUN KUMAR SHASTRI
बाल वीर हनुमान
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
*पापा … मेरे पापा …*
Neelam Chaudhary
खाली पैमाना
ओनिका सेतिया 'अनु '
कभी भीड़ में…
Rekha Drolia
Loading...