Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
12 May 2023 · 1 min read

*धन्य-धन्य वह जीवन जो, श्री राम-नाम भज जीता है 【मुक्तक】*

धन्य-धन्य वह जीवन जो, श्री राम-नाम भज जीता है 【मुक्तक】
■■■■■■■■■■■■■■■■■■
धन्य-धन्य वह जीवन जो ,श्री राम-नाम भज जीता है
जाता पावन तीर्थ-स्वर्ग, सरिता – गंगाजल पीता है
मर्यादामय किया आचरण, शुभ परिवार सहित जिसने
प्रिय जिसको सत्संग उपनिषद, वेद भागवत गीता है
°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°
रचयिता : रवि प्रकाश ,बाजार सर्राफा
रामपुर (उत्तर प्रदेश)
मोबाइल 99976 15451

255 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Ravi Prakash
View all
You may also like:
“तुम हो तो सब कुछ है”
“तुम हो तो सब कुछ है”
DrLakshman Jha Parimal
तू है तो फिर क्या कमी है
तू है तो फिर क्या कमी है
Surinder blackpen
"सच्चाई की ओर"
Dr. Kishan tandon kranti
ये साल भी इतना FAST गुजरा की
ये साल भी इतना FAST गुजरा की
Ranjeet kumar patre
नजरअंदाज करने के
नजरअंदाज करने के
Dr Manju Saini
संसद उद्घाटन
संसद उद्घाटन
Sanjay ' शून्य'
कौन सोचता बोलो तुम ही...
कौन सोचता बोलो तुम ही...
डॉ.सीमा अग्रवाल
3035.*पूर्णिका*
3035.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
बखान गुरु महिमा की,
बखान गुरु महिमा की,
Yogendra Chaturwedi
गज़ल सी रचना
गज़ल सी रचना
Kanchan Khanna
यूं ही नहीं मैंने तेरा नाम ग़ज़ल रक्खा है,
यूं ही नहीं मैंने तेरा नाम ग़ज़ल रक्खा है,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
सबका साथ
सबका साथ
Bodhisatva kastooriya
रमेशराज के पर्यावरण-सुरक्षा सम्बन्धी बालगीत
रमेशराज के पर्यावरण-सुरक्षा सम्बन्धी बालगीत
कवि रमेशराज
मां
मां
goutam shaw
देवमूर्ति से परे मुक्तिबोध का अक्स / MUSAFIR BAITHA
देवमूर्ति से परे मुक्तिबोध का अक्स / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
अपनी आवाज में गीत गाना तेरा
अपनी आवाज में गीत गाना तेरा
Shweta Soni
बसुधा ने तिरंगा फहराया ।
बसुधा ने तिरंगा फहराया ।
Kuldeep mishra (KD)
if you love me you will get love for sure.
if you love me you will get love for sure.
पूर्वार्थ
नहीं मैं ऐसा नहीं होता
नहीं मैं ऐसा नहीं होता
gurudeenverma198
छोड़ कर मुझे कहा जाओगे
छोड़ कर मुझे कहा जाओगे
Anil chobisa
#शेर-
#शेर-
*Author प्रणय प्रभात*
गुरु नानक देव जी --
गुरु नानक देव जी --
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
कोई मंत्री बन गया , डिब्बा कोई गोल ( कुंडलिया )
कोई मंत्री बन गया , डिब्बा कोई गोल ( कुंडलिया )
Ravi Prakash
महिलाएं जितना तेजी से रो सकती है उतना ही तेजी से अपने भावनाओ
महिलाएं जितना तेजी से रो सकती है उतना ही तेजी से अपने भावनाओ
Rj Anand Prajapati
सीख
सीख
Dr.Pratibha Prakash
बाबा महादेव को पूरे अन्तःकरण से समर्पित ---
बाबा महादेव को पूरे अन्तःकरण से समर्पित ---
सिद्धार्थ गोरखपुरी
अजीब बात है
अजीब बात है
umesh mehra
संसार का स्वरूप(3)
संसार का स्वरूप(3)
ठाकुर प्रतापसिंह "राणाजी"
विकास
विकास
Dr. Pradeep Kumar Sharma
मुक्तक
मुक्तक
Rajesh Tiwari
Loading...