Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
12 Feb 2017 · 1 min read

दो दिलो को पास लाती शायरी….

मापनी…2122,2122,212

प्यार को दिल में जगाती शायरी,
दो दिलो को पास लाती शायरी।।

गम ख़ुशी के साथ आती शायरी,
उम्र भर रिश्ता निभाती शायरी।।

खूबसूरत नज्म कहती हूर पे,
आशिक़ी के गीत गाती शायरी।।

बेवफाई की जफ़ा में देखिये,
जख्म पे मरहम लगाती शायरी।।

इश्क़ में आशिक़ अगर बर्बाद हो,
टूटती जिस्ते बचाती शायरी।।

586 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
जो चाहो यदि वह मिले,
जो चाहो यदि वह मिले,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
दीदार
दीदार
krishna waghmare , कवि,लेखक,पेंटर
जीवन मंत्र वृक्षों के तंत्र होते हैं
जीवन मंत्र वृक्षों के तंत्र होते हैं
Neeraj Agarwal
मंज़िल मिली उसी को इसी इक लगन के साथ
मंज़िल मिली उसी को इसी इक लगन के साथ
अंसार एटवी
मैं चाहती हूँ
मैं चाहती हूँ
Shweta Soni
मर्यादा की लड़ाई
मर्यादा की लड़ाई
Dr.Archannaa Mishraa
शेरनी का डर
शेरनी का डर
Kumud Srivastava
व्यवहारिकता का दौर
व्यवहारिकता का दौर
पूर्वार्थ
राजनीतिक संघ और कट्टरपंथी आतंकवादी समूहों के बीच सांठगांठ: शांति और संप्रभुता पर वैश्विक प्रभाव
राजनीतिक संघ और कट्टरपंथी आतंकवादी समूहों के बीच सांठगांठ: शांति और संप्रभुता पर वैश्विक प्रभाव
Shyam Sundar Subramanian
काश तुम मेरी जिंदगी में होते
काश तुम मेरी जिंदगी में होते
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
इंसान भीतर से यदि रिक्त हो
इंसान भीतर से यदि रिक्त हो
ruby kumari
2926.*पूर्णिका*
2926.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
ज़िंदगी तेरा
ज़िंदगी तेरा
Dr fauzia Naseem shad
नारी शक्ति
नारी शक्ति
भरत कुमार सोलंकी
नज़्म/गीत - वो मधुशाला, अब कहाँ
नज़्म/गीत - वो मधुशाला, अब कहाँ
अनिल कुमार
एक दिन आना ही होगा🌹🙏
एक दिन आना ही होगा🌹🙏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
दोहा- सरस्वती
दोहा- सरस्वती
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
ये कमाल हिन्दोस्ताँ का है
ये कमाल हिन्दोस्ताँ का है
अरशद रसूल बदायूंनी
We can rock together!!
We can rock together!!
Rachana
मित्रो नमस्कार!
मित्रो नमस्कार!
अटल मुरादाबादी, ओज व व्यंग कवि
जो लोग बिछड़ कर भी नहीं बिछड़ते,
जो लोग बिछड़ कर भी नहीं बिछड़ते,
शोभा कुमारी
"मयकश"
Dr. Kishan tandon kranti
*करो योग-व्यायाम, दाल-रोटी नित खाओ (कुंडलिया)*
*करो योग-व्यायाम, दाल-रोटी नित खाओ (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
...........,,
...........,,
शेखर सिंह
प्रेम - एक लेख
प्रेम - एक लेख
बदनाम बनारसी
अकेलापन
अकेलापन
लक्ष्मी सिंह
।। सुविचार ।।
।। सुविचार ।।
विनोद कृष्ण सक्सेना, पटवारी
बम
बम
Dr. Pradeep Kumar Sharma
बावजूद टिमकती रोशनी, यूं ही नहीं अंधेरा करते हैं।
बावजूद टिमकती रोशनी, यूं ही नहीं अंधेरा करते हैं।
ओसमणी साहू 'ओश'
“गर्व करू, घमंड नहि”
“गर्व करू, घमंड नहि”
DrLakshman Jha Parimal
Loading...