Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
12 Feb 2024 · 1 min read

दोहे- शक्ति

हिंदी दोहा दिवस , विषय – शक्ति

लगी लखन को शक्ति जब ,युद्ध क्षेत्र मैदान |
लाए थे संजीवनी , #राना तब हनुमान ||

जहाँ शक्ति का वास हो , होवें साथ विवेक |
#राना यहाँ निहारना , शुभमय काज अनेक ||

शक्ति प्रदर्शन भी करें, #राना यहाँ समूह |
कभी उग्रता देखकर ,काँपे सबकी रूह ||

चार लोग मिलकर जहाँ , #राना करते गान |
मिले शक्ति से शक्ति जब , होता अभियुत्थान ||

दिखलाना भी चाहिए , निजी शक्ति हो पास |
#राना जीवन में सदा , दें यह खूब उजास ||
***
✍️ राजीव नामदेव “राना लिधौरी”
संपादक “आकांक्षा” पत्रिका
संपादक- ‘अनुश्रुति’ त्रैमासिक बुंदेली ई पत्रिका
जिलाध्यक्ष म.प्र. लेखक संघ टीकमगढ़
अध्यक्ष वनमाली सृजन केन्द्र टीकमगढ़
नई चर्च के पीछे, शिवनगर कालोनी,
टीकमगढ़ (मप्र)-472001
मोबाइल- 9893520965
Email – ranalidhori@gmail.com

1 Like · 71 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
मेरी कलम से…
मेरी कलम से…
Anand Kumar
तेरा हासिल
तेरा हासिल
Dr fauzia Naseem shad
कौन नहीं है...?
कौन नहीं है...?
Srishty Bansal
Thought
Thought
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
कांतिपति का चुनाव-रथ
कांतिपति का चुनाव-रथ
नंदलाल सिंह 'कांतिपति'
यह जो तुम बांधती हो पैरों में अपने काला धागा ,
यह जो तुम बांधती हो पैरों में अपने काला धागा ,
श्याम सिंह बिष्ट
2611.पूर्णिका
2611.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
मेरे पूर्ण मे आधा व आधे मे पुर्ण अहसास हो
मेरे पूर्ण मे आधा व आधे मे पुर्ण अहसास हो
Anil chobisa
महिलाएं जितना तेजी से रो सकती है उतना ही तेजी से अपने भावनाओ
महिलाएं जितना तेजी से रो सकती है उतना ही तेजी से अपने भावनाओ
Rj Anand Prajapati
गुफ्तगू
गुफ्तगू
Naushaba Suriya
मनी प्लांट
मनी प्लांट
कार्तिक नितिन शर्मा
****उज्जवल रवि****
****उज्जवल रवि****
Kavita Chouhan
■ छोटी दीवाली
■ छोटी दीवाली
*Author प्रणय प्रभात*
मां ब्रह्मचारिणी
मां ब्रह्मचारिणी
Mukesh Kumar Sonkar
शर्म शर्म आती है मुझे ,
शर्म शर्म आती है मुझे ,
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
** अब मिटाओ दूरियां **
** अब मिटाओ दूरियां **
surenderpal vaidya
खुद ही परेशान हूँ मैं, अपने हाल-ऐ-मज़बूरी से
खुद ही परेशान हूँ मैं, अपने हाल-ऐ-मज़बूरी से
डी. के. निवातिया
मेरी निजी जुबान है, हिन्दी ही दोस्तों
मेरी निजी जुबान है, हिन्दी ही दोस्तों
SHAMA PARVEEN
"सफलता का राज"
Dr. Kishan tandon kranti
चेहरे के पीछे चेहरा और उस चेहरे पर भी नकाब है।
चेहरे के पीछे चेहरा और उस चेहरे पर भी नकाब है।
सिद्धार्थ गोरखपुरी
परिवार
परिवार
Neeraj Agarwal
दुनिया तभी खूबसूरत लग सकती है
दुनिया तभी खूबसूरत लग सकती है
ruby kumari
अब मेरी मजबूरी देखो
अब मेरी मजबूरी देखो
VINOD CHAUHAN
*शुभ विवाह की वर्षगॉंठ, बच्चों ने खूब मनाई (गीत)*
*शुभ विवाह की वर्षगॉंठ, बच्चों ने खूब मनाई (गीत)*
Ravi Prakash
बचपन
बचपन
Vivek saswat Shukla
अन्न का मान
अन्न का मान
Dr. Pradeep Kumar Sharma
جستجو ءے عیش
جستجو ءے عیش
Ahtesham Ahmad
*
*"शिक्षक"*
Shashi kala vyas
लतिका
लतिका
DR ARUN KUMAR SHASTRI
रिश्तों का एक उचित मूल्य💙👭👏👪
रिश्तों का एक उचित मूल्य💙👭👏👪
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
Loading...