Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
2 Jan 2023 · 1 min read

प्रीति के दोहे, भाग-2

प्रेम अनूठी साधना,ज्यों कविता हित छंद।
प्रेम सरस है काव्य सम,भरे हृदय आनंद।।11
प्रेम शांति का पुंज है ,दूर करे संत्रास।
प्रेम घटाए दूरियाँ,प्रेम सुखद अहसास।।12
त्याग समर्पण प्रेम है ,और प्रेम ही शक्ति।
प्रेम बिना भगवान की,कभी न संभव भक्ति।।13
रही सदा ही प्रेम की, पूँजी जिसके पास।
बनकर रहता ये जगत,उसका सच में दास।।14
प्रेम दिलों को जोड़ दे,प्रेम मिटाए बैर।
अपने बनते प्रेम से ,जो होते हैं गैर।। 15
करो न कोई प्रेम को,झूठ – मूठ बदनाम।
प्रेम बनाए जगत में,सबके बिगड़े काम।।16
इश्क इबादत मानता, जो भी एक समान।
उसको आते हैं नज़र,आशिक में भगवान।।17
प्रेम दिव्य अहसास है, ईश्वर का वरदान।
इसमें विष व्यभिचार का,घोल रहे नादान।।18
प्रेम मंत्र के जाप से ,बनता जीव समर्थ।
प्रेम सृष्टि आधार है,प्रेम बिना जग व्यर्थ।।19
सुनकर वंशी प्रीत की,सुर्ख हुए रुखसार।
तेज धड़कनें हो गईं, भूल गया संसार।।20
डाॅ बिपिन पाण्डेय

Language: Hindi
1 Like · 216 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
काश ! लोग यह समझ पाते कि रिश्ते मनःस्थिति के ख्याल रखने हेतु
काश ! लोग यह समझ पाते कि रिश्ते मनःस्थिति के ख्याल रखने हेतु
मिथलेश सिंह"मिलिंद"
अफसोस-कविता
अफसोस-कविता
Shyam Pandey
My Chic Abuela🤍
My Chic Abuela🤍
Natasha Stephen
... बीते लम्हे
... बीते लम्हे
Naushaba Suriya
जो आपका गुस्सा सहन करके भी आपका ही साथ दें,
जो आपका गुस्सा सहन करके भी आपका ही साथ दें,
Ranjeet kumar patre
ముందుకు సాగిపో..
ముందుకు సాగిపో..
डॉ गुंडाल विजय कुमार 'विजय'
" बंध खोले जाए मौसम "
भगवती प्रसाद व्यास " नीरद "
नशा त्याग दो
नशा त्याग दो
Shyamsingh Lodhi Rajput (Tejpuriya)
हवाओ में हुं महसूस करो
हवाओ में हुं महसूस करो
Rituraj shivem verma
जो लम्हें प्यार से जिया जाए,
जो लम्हें प्यार से जिया जाए,
Buddha Prakash
विचार और भाव-1
विचार और भाव-1
कवि रमेशराज
अगर मुझे तड़पाना,
अगर मुझे तड़पाना,
Dr. Man Mohan Krishna
My love at first sight !!
My love at first sight !!
Rachana
"एक विचार को प्रचार-प्रसार की उतनी ही आवश्यकता होती है
शेखर सिंह
ये इंसानी फ़ितरत है जनाब !
ये इंसानी फ़ितरत है जनाब !
पूर्वार्थ
बिन बोले सुन पाता कौन?
बिन बोले सुन पाता कौन?
AJAY AMITABH SUMAN
*अभिनंदन उनका करें, जो हैं पलटूमार (हास्य कुंडलिया)*
*अभिनंदन उनका करें, जो हैं पलटूमार (हास्य कुंडलिया)*
Ravi Prakash
विचार
विचार
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
"बल और बुद्धि"
Dr. Kishan tandon kranti
खुद के करीब
खुद के करीब
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
कितनी आवाज़ दी
कितनी आवाज़ दी
Dr fauzia Naseem shad
* मुक्तक *
* मुक्तक *
surenderpal vaidya
एक पंथ दो काज
एक पंथ दो काज
Dr. Pradeep Kumar Sharma
छोटी कहानी- 'सोनम गुप्ता बेवफ़ा है' -प्रतिभा सुमन शर्मा
छोटी कहानी- 'सोनम गुप्ता बेवफ़ा है' -प्रतिभा सुमन शर्मा
Pratibhasharma
*उम्र के पड़ाव पर रिश्तों व समाज की जरूरत*
*उम्र के पड़ाव पर रिश्तों व समाज की जरूरत*
Anil chobisa
23/42.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका* 🌷गाथे मीर ददरिया🌷
23/42.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका* 🌷गाथे मीर ददरिया🌷
Dr.Khedu Bharti
मुस्की दे प्रेमानुकरण कर लेता हूॅं।
मुस्की दे प्रेमानुकरण कर लेता हूॅं।
Pt. Brajesh Kumar Nayak
एक देश एक कानून
एक देश एक कानून
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
आइये झांकते हैं कुछ अतीत में
आइये झांकते हैं कुछ अतीत में
Atul "Krishn"
🙅आज का लतीफ़ा🙅
🙅आज का लतीफ़ा🙅
*प्रणय प्रभात*
Loading...