Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
24 Jun 2016 · 1 min read

दोहे/ नैन हुए नमकीन.

मृगनयनी शरमा गई, छवि अपनी ही देख |
अपलक रही निहारती, पैर ठुकी ज्यों मेख ||

अधर प्रेम रस के कुएँ, नैना शीतल धाम |
हँसी उत्स उत्साह का, क्या देगा परिणाम ||

कमल पंखुड़ी से नयन, विकल हो रहे आज |
मेह न थम जाए कहीं , आ जाओ सरताज ||

बादाखाना था खुला , कैसे आता चैन |
जागी सजनी रातभर, खोल नशीले नैन ||

जल चंचल बहने लगा, रही तड़पती मीन |
होंठ रहे खामोश पर , नैन हुए नमकीन ||

~ अशोक कुमार रक्ताले.

Language: Hindi
1 Like · 3 Comments · 422 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
हमने किस्मत से आंखें लड़ाई मगर
हमने किस्मत से आंखें लड़ाई मगर
VINOD CHAUHAN
‘ चन्द्रशेखर आज़ाद ‘ अन्त तक आज़ाद रहे
‘ चन्द्रशेखर आज़ाद ‘ अन्त तक आज़ाद रहे
कवि रमेशराज
हवन
हवन
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
इत्तिफ़ाक़न मिला नहीं होता।
इत्तिफ़ाक़न मिला नहीं होता।
सत्य कुमार प्रेमी
"तुलना"
Dr. Kishan tandon kranti
A Departed Soul Can Never Come Again
A Departed Soul Can Never Come Again
Manisha Manjari
*कोई भी ना सुखी*
*कोई भी ना सुखी*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
सत्य की खोज
सत्य की खोज
लक्ष्मी सिंह
“एक नई सुबह आयेगी”
“एक नई सुबह आयेगी”
पंकज कुमार कर्ण
? ,,,,,,,,?
? ,,,,,,,,?
शेखर सिंह
23/129.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/129.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
एक होता है
एक होता है "जीजा"
*प्रणय प्रभात*
I've learned the best way to end something is to let it star
I've learned the best way to end something is to let it star
पूर्वार्थ
आक्रोष
आक्रोष
Aman Sinha
हर विषम से विषम परिस्थिति में भी शांत रहना सबसे अच्छा हथियार
हर विषम से विषम परिस्थिति में भी शांत रहना सबसे अच्छा हथियार
Ankita Patel
ज़िंदगी में गीत खुशियों के ही गाना दोस्तो
ज़िंदगी में गीत खुशियों के ही गाना दोस्तो
Dr. Alpana Suhasini
कलयुग की छाया में,
कलयुग की छाया में,
Niharika Verma
2) “काग़ज़ की कश्ती”
2) “काग़ज़ की कश्ती”
Sapna Arora
राहें खुद हमसे सवाल करती हैं,
राहें खुद हमसे सवाल करती हैं,
Sunil Maheshwari
ऐसी प्रीत कहीं ना पाई
ऐसी प्रीत कहीं ना पाई
Harminder Kaur
दबे पाँव
दबे पाँव
Davina Amar Thakral
आज का श्रवण कुमार
आज का श्रवण कुमार
Dr. Pradeep Kumar Sharma
💐प्रेम कौतुक-562💐
💐प्रेम कौतुक-562💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
हर चीज़ मुकम्मल लगती है,तुम साथ मेरे जब होते हो
हर चीज़ मुकम्मल लगती है,तुम साथ मेरे जब होते हो
Shweta Soni
धरा प्रकृति माता का रूप
धरा प्रकृति माता का रूप
Buddha Prakash
*ज्ञानी की फटकार (पॉंच दोहे)*
*ज्ञानी की फटकार (पॉंच दोहे)*
Ravi Prakash
हुनर मौहब्बत के जिंदगी को सीखा गया कोई।
हुनर मौहब्बत के जिंदगी को सीखा गया कोई।
Phool gufran
अध्यापक दिवस
अध्यापक दिवस
SATPAL CHAUHAN
जीवन अनंत की यात्रा है और अनंत में विलीन होना ही हमारी मंजिल
जीवन अनंत की यात्रा है और अनंत में विलीन होना ही हमारी मंजिल
Priyank Upadhyay
A Hopeless Romantic
A Hopeless Romantic
Vedha Singh
Loading...