Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
8 Feb 2024 · 1 min read

दोहे- उड़ान

हिंदी दिवस विषय – उड़ान*

#राना जो साहस रखे , भरते वही उड़ान |
लक्ष्य उन्हीं को मिल सके , जो बनते प्रतिमान ||

किसकी कहाँ उड़ान है , यह भी लेना देख |
#राना उससे हो अधिक , आगे अपनी रेख ||

जब उड़ान की बात हो , बनना प्रथम समर्थ |
#राना चिंतन कीजिए ‌, समझों इसका अर्थ ||

कठनाई नहीं उड़ान में ,#राना रह तैयार |
साहस के पंखे बना , उड़ना उन्हें पसार ||

चंद्रयान विज्ञान ने , #राना भरी उड़ान |
भारत का ‌डंका बजा , किया सभी ने गान ||

एक हास्य दोहा –

धना कहे #राना सुनो , भरकर आप उड़ान |
खबर मायके की कहो , कौन बने पकवान ||
***
✍️ -राजीव नामदेव “राना लिधौरी”,टीकमगढ़*
संपादक “आकांक्षा” पत्रिका
संपादक- ‘अनुश्रुति’ त्रैमासिक बुंदेली ई पत्रिका
जिलाध्यक्ष म.प्र. लेखक संघ टीकमगढ़
अध्यक्ष वनमाली सृजन केन्द्र टीकमगढ़
नई चर्च के पीछे, शिवनगर कालोनी,
टीकमगढ़ (मप्र)-472001
मोबाइल- 9893520965
Email – ranalidhori@gmail.com

1 Like · 54 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
फूल फूल और फूल
फूल फूल और फूल
SATPAL CHAUHAN
नारी-शक्ति के प्रतीक हैं दुर्गा के नौ रूप
नारी-शक्ति के प्रतीक हैं दुर्गा के नौ रूप
कवि रमेशराज
"पँछियोँ मेँ भी, अमिट है प्यार..!"
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
25-बढ़ रही है रोज़ महँगाई किसे आवाज़ दूँ
25-बढ़ रही है रोज़ महँगाई किसे आवाज़ दूँ
Ajay Kumar Vimal
जिगर धरती का रखना
जिगर धरती का रखना
Kshma Urmila
💐प्रेम कौतुक-511💐
💐प्रेम कौतुक-511💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
प्रवासी चाँद
प्रवासी चाँद
Ramswaroop Dinkar
हर रोज़
हर रोज़
Dr fauzia Naseem shad
विडंबना
विडंबना
Shyam Sundar Subramanian
पवित्र मन
पवित्र मन
RAKESH RAKESH
पेड़ पौधे (ताटंक छन्द)
पेड़ पौधे (ताटंक छन्द)
नाथ सोनांचली
ग़ज़ल
ग़ज़ल
Mahendra Narayan
☄️💤 यादें 💤☄️
☄️💤 यादें 💤☄️
Dr Manju Saini
पैगाम
पैगाम
Shashi kala vyas
दोहा
दोहा
दुष्यन्त 'बाबा'
*कविवर रमेश कुमार जैन की ताजा कविता को सुनने का सुख*
*कविवर रमेश कुमार जैन की ताजा कविता को सुनने का सुख*
Ravi Prakash
तुम्हारा इक ख्याल ही काफ़ी है
तुम्हारा इक ख्याल ही काफ़ी है
Aarti sirsat
रखा जाता तो खुद ही रख लेते...
रखा जाता तो खुद ही रख लेते...
कवि दीपक बवेजा
आम्बेडकर मेरे मानसिक माँ / MUSAFIR BAITHA
आम्बेडकर मेरे मानसिक माँ / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
मौत का क्या भरोसा
मौत का क्या भरोसा
Ram Krishan Rastogi
जीवन और रंग
जीवन और रंग
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
Love life
Love life
Buddha Prakash
जीवन मार्ग आसान है...!!!!
जीवन मार्ग आसान है...!!!!
Jyoti Khari
"बँटवारा"
Dr. Kishan tandon kranti
आकर्षण मृत्यु का
आकर्षण मृत्यु का
Shaily
शुद्ध
शुद्ध
Dr.Priya Soni Khare
गणतंत्र के मूल मंत्र की,हम अकसर अनदेखी करते हैं।
गणतंत्र के मूल मंत्र की,हम अकसर अनदेखी करते हैं।
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
खुले आँगन की खुशबू
खुले आँगन की खुशबू
Manisha Manjari
नैन फिर बादल हुए हैं
नैन फिर बादल हुए हैं
Ashok deep
सुबह होने को है साहब - सोने का टाइम हो रहा है
सुबह होने को है साहब - सोने का टाइम हो रहा है
Atul "Krishn"
Loading...