Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
18 Jun 2023 · 1 min read

#दोहा

#दोहा
■ बेपेंदी के लोटे…
सियासी जगत के वो मेंढक जो पक्ष-विपक्ष रूपी तराजू के किसी पलड़े या टोकरी में टिक कर नहीं रह सकते। आयाराम-गयाराम बनने का मौका तलाशते रहते हैं और मतदाताओं को मूर्ख बना कर भी जनाधार के सिरमौर बने रहते हैं। आप जानते भी हैं सबको। जो नहीं जानते, वो समाचार देखते रहें।
■प्रणय प्रभात■

2 Likes · 394 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
इश्क की कीमत
इश्क की कीमत
Mangilal 713
■ हास्यमय समूह गीत
■ हास्यमय समूह गीत
*प्रणय प्रभात*
राष्ट्र-मंदिर के पुजारी
राष्ट्र-मंदिर के पुजारी
नवीन जोशी 'नवल'
जब मैंने एक तिरंगा खरीदा
जब मैंने एक तिरंगा खरीदा
SURYA PRAKASH SHARMA
मुकाम
मुकाम
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
अपनी इस तक़दीर पर हरपल भरोसा न करो ।
अपनी इस तक़दीर पर हरपल भरोसा न करो ।
Phool gufran
नव वर्ष मंगलमय हो
नव वर्ष मंगलमय हो
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
विभेद दें।
विभेद दें।
Pt. Brajesh Kumar Nayak
यारों की आवारगी
यारों की आवारगी
The_dk_poetry
धार तुम देते रहो
धार तुम देते रहो
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
लोकतांत्रिक मूल्य एवं संवैधानिक अधिकार
लोकतांत्रिक मूल्य एवं संवैधानिक अधिकार
Shyam Sundar Subramanian
मिली उर्वशी अप्सरा,
मिली उर्वशी अप्सरा,
लक्ष्मी सिंह
ग़ज़ल
ग़ज़ल
ईश्वर दयाल गोस्वामी
मनभावन
मनभावन
SHAMA PARVEEN
*स्वच्छ मन (मुक्तक)*
*स्वच्छ मन (मुक्तक)*
Rituraj shivem verma
महामहिम राष्ट्रपति द्रोपदी मुर्मू जी
महामहिम राष्ट्रपति द्रोपदी मुर्मू जी
Seema gupta,Alwar
আজকের মানুষ
আজকের মানুষ
Ahtesham Ahmad
......तु कोन है मेरे लिए....
......तु कोन है मेरे लिए....
Naushaba Suriya
हृदय मे भरा अंधेरा घनघोर है,
हृदय मे भरा अंधेरा घनघोर है,
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
हकीकत जानूंगा तो सब पराए हो जाएंगे
हकीकत जानूंगा तो सब पराए हो जाएंगे
Ranjeet kumar patre
#शीर्षक:-तो क्या ही बात हो?
#शीर्षक:-तो क्या ही बात हो?
Pratibha Pandey
आज का बदलता माहौल
आज का बदलता माहौल
Naresh Sagar
करनी का फल
करनी का फल
Dr. Pradeep Kumar Sharma
तन्हा ही खूबसूरत हूं मैं।
तन्हा ही खूबसूरत हूं मैं।
शक्ति राव मणि
3485.🌷 *पूर्णिका* 🌷
3485.🌷 *पूर्णिका* 🌷
Dr.Khedu Bharti
*Fruits of Karma*
*Fruits of Karma*
Poonam Matia
ज़िद से भरी हर मुसीबत का सामना किया है,
ज़िद से भरी हर मुसीबत का सामना किया है,
Kanchan Alok Malu
*जीवन का आनन्द*
*जीवन का आनन्द*
DR ARUN KUMAR SHASTRI
पाप पंक पर बैठ कर ,
पाप पंक पर बैठ कर ,
sushil sarna
*धनुष (बाल कविता)*
*धनुष (बाल कविता)*
Ravi Prakash
Loading...