Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
May 19, 2022 · 1 min read

दोहा छंद- पिता

सुखद निलय मधु मूल है, पिता धूप में छाँव।
नायक शुभ परिवार का, दृढ़ ग्रहस्थ दे पाँव।।(१)

नित्य दिवस निशि कर्म कर, पोषक पालनहार।
उदर तृप्त परिवार का, प्रमुदित शुभ घर द्वार।। (२)

अति कठोर उर आवरण, अंत मृदुल संसार।
कठिन परिश्रम से पिता, सुत भविष्य दे तार।। (३)

मूक हृदय मधु भाव रख, कर्म करे दिन-रात।
विपदा में सुत ढाल बन, प्रलय काल दे मात।।(४)

थाम ऊँगली प्रति कदम, साथ चले वो पंथ।
उनके काँधे बैठकर, देखे उत्सव ग्रंथ।।(५)

पिता डाँट कड़वी लगे, करती औषध कर्म।
बुरी आदतें त्यागनें, कुशल निभाए धर्म।।(६)

कर्मठता से सींचकर, नींव बनाए दक्ष।
यश वैभव सुविधा सभी, पिता प्रदायक वृक्ष।। (७)

शीर्ष पिता साया रहे, सकल स्वप्न साकार।
खुशियों के विस्तार से, मिटे तमस कटु खार।।(८)

रिश्तें सब अपने लगे, पिता रहे जब साथ।
विकट पंथ आसान हो, थामें जब वह हाथ।। (९)

पिता धरा आकाश है, सकल जगत आधार ।
करूँ नमन शत्-शत् पिता, शुभ जीवन का सार।। (१०)

रेखा कापसे ‘कुमुद’
नर्मदापुरम मप्र
स्वरचित दोहे

11 Likes · 7 Comments · 139 Views
You may also like:
✍️मैं और वो..(??)✍️
"अशांत" शेखर
*माँ छिन्नमस्तिका 【कुंडलिया】*
Ravi Prakash
कहां चला अरे उड़ कर पंछी
VINOD KUMAR CHAUHAN
बेटी....
Chandra Prakash Patel
* साम वेदना *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
पत्र का पत्रनामा
Manu Vashistha
इन्सानों का ये लालच तो देखिए।
Taj Mohammad
पहाड़ों की रानी
Shailendra Aseem
मज़हबी उन्मादी आग
Dr. Kishan Karigar
★HAPPY FATHER'S DAY ★
KAMAL THAKUR
ईमानदारी
Utsav Kumar Aarya
परिस्थिति
AMRESH KUMAR VERMA
रफ़्तार के लिए (ghazal by Vinit Singh Shayar)
Vinit kumar
*चली ससुराल जाती हैं (गीतिका)*
Ravi Prakash
मांँ की लालटेन
श्री रमण
In love, its never too late, or is it?
Abhineet Mittal
धीरे-धीरे कदम बढ़ाना
Anamika Singh
हायकु मुक्तक-पिता
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
लिहाज़
पंकज कुमार "कर्ण"
आज तिलिस्म टूट गया....
Saraswati Bajpai
*विश्व योग का दिन पावन इक्कीस जून को आता(गीत)*
Ravi Prakash
🍀🌺प्रेम की राह पर-51🌺🍀
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
जन्म दिन की बधाई..... दोस्त को...
Dr. Alpa H. Amin
कबीरा...
Sapna K S
अटल विश्वास दो
Saraswati Bajpai
मां क्यों निष्ठुर?
Saraswati Bajpai
पर्यावरण बचा लो,कर लो बृक्षों की निगरानी अब
Pt. Brajesh Kumar Nayak
सुरज दादा
Anamika Singh
किताब।
Amber Srivastava
ज्यादा रोशनी।
Taj Mohammad
Loading...