Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
5 Jul 2023 · 1 min read

दे दो, दे दो,हमको पुरानी पेंशन

(शेर)- अगर नहीं की तुमने बहाल, हमारी पुरानी पेंशन।
बदल देगी तुम्हारी सत्ता को, चुनावों में यह पेंशन।।
संघर्ष और यह मुद्दा हमारा अब तुम, दबा नहीं सकते।
लेकर ही दम लेंगे अब तो हम, हमारी यह पुरानी पेंशन।।
———————————————————————
दे दो, दे दो, हमको पुरानी पेंशन।
वरना होगी चुनावों में, तुमको टेंशन।।
भूल नहीं जाना, भूल नहीं जाना।।
देना हमको हमारी, पुरानी पेंशन।।
दे दो, दे दो,हमको——————–।।

भीख नहीं तुमसे, मांग हम रहे हैं।
हम ही हमारा, मांग हम रहे हैं।।
दया नहीं हमको, हमारा सम्मान दो।
फिर से करके बहाल, पुरानी पेंशन।।
दे दो, दे दो, हमको——————।।

हम नहीं, देश को तुम लूट रहे हो।
पेंशन पुरानी क्यों, तुम ले रहे हो।।
नई पेंशन अगर है, लाभदायक बहुत।
लेते क्यों नहीं हो तुम, नई पेंशन।।
दे दो, दे दो, हमको——————।।

इस पेंशन को रेवड़ी, तुम बोलते हो।
इसी रेवड़ी के लिए, तुम तड़पते हो।।
लेकर ही लेंगे दम, पुरानी पेंशन।
होगा मुद्दा चुनावों में, अब पेंशन।।
दे दो, दे दो, हमको——————–।।

शिक्षक एवं साहित्यकार-
गुरुदीन वर्मा उर्फ जी.आज़ाद
तहसील एवं जिला- बारां(राजस्थान)

Language: Hindi
Tag: गीत
1 Like · 156 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
■ आज का शेर
■ आज का शेर
*Author प्रणय प्रभात*
भोजपुरी गायक
भोजपुरी गायक
Shekhar Chandra Mitra
ग़ज़ल
ग़ज़ल
Mayank Kumar
सच
सच
Sanjay ' शून्य'
शुभ दिन सब मंगल रहे प्रभु का हो वरदान।
शुभ दिन सब मंगल रहे प्रभु का हो वरदान।
सत्य कुमार प्रेमी
2868.*पूर्णिका*
2868.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
*हिम्मत जिंदगी की*
*हिम्मत जिंदगी की*
Naushaba Suriya
सर्जिकल स्ट्राइक
सर्जिकल स्ट्राइक
लक्ष्मी सिंह
गुरु आसाराम बापू
गुरु आसाराम बापू
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
अबोध अंतस....
अबोध अंतस....
Santosh Soni
*जिंदगी का क्या भरोसा, कौन-सा कब मोड़ ले 【हिंदी गजल/गीतिका】*
*जिंदगी का क्या भरोसा, कौन-सा कब मोड़ ले 【हिंदी गजल/गीतिका】*
Ravi Prakash
Dr Arun Kumar shastri
Dr Arun Kumar shastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
विचार
विचार
आकांक्षा राय
भँवर में जब कभी भी सामना मझदार का होना
भँवर में जब कभी भी सामना मझदार का होना
अंसार एटवी
रोला छंद
रोला छंद
sushil sarna
*इश्क़ से इश्क़*
*इश्क़ से इश्क़*
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
मुक्तक
मुक्तक
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
पद्धरि छंद ,अरिल्ल छंद , अड़िल्ल छंद विधान व उदाहरण
पद्धरि छंद ,अरिल्ल छंद , अड़िल्ल छंद विधान व उदाहरण
Subhash Singhai
"क्या लिखूं क्या लिखूं"
Yogendra Chaturwedi
पैसा बोलता है
पैसा बोलता है
Mukesh Kumar Sonkar
हंसने के फायदे
हंसने के फायदे
Manoj Kushwaha PS
कछुआ और खरगोश
कछुआ और खरगोश
Dr. Pradeep Kumar Sharma
किसी से दोस्ती ठोक–बजा कर किया करो, नहीं तो, यह बालू की भीत साबित
किसी से दोस्ती ठोक–बजा कर किया करो, नहीं तो, यह बालू की भीत साबित
Dr MusafiR BaithA
*हैं जिनके पास अपने*,
*हैं जिनके पास अपने*,
Rituraj shivem verma
क्षितिज
क्षितिज
Dhriti Mishra
मुझे अपनी दुल्हन तुम्हें नहीं बनाना है
मुझे अपनी दुल्हन तुम्हें नहीं बनाना है
gurudeenverma198
आदतों में तेरी ढलते-ढलते, बिछड़न शोहबत से खुद की हो गयी।
आदतों में तेरी ढलते-ढलते, बिछड़न शोहबत से खुद की हो गयी।
Manisha Manjari
अपना प्यारा जालोर जिला
अपना प्यारा जालोर जिला
Shankar N aanjna
बचपन
बचपन
Vivek saswat Shukla
भारत भूमि में पग पग घूमे ।
भारत भूमि में पग पग घूमे ।
Buddha Prakash
Loading...