Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
23 Oct 2016 · 1 min read

देश हमारा भारत सुंदर ::: जितेंद्र कमल आनंद ( पोस्ट ८४)

देश हमारा भारत सुंदर| ( गीत )
****************************
अपना यश जो गाता आया , परचम लहराकर ,
वह है प्यारा देश हमारा भारत यह सुंदर ।।

कंचन जंगा , विंध्याचल से घोल गिरि पर्वत ।
अचल हिमाचल हिंदूकुश – से भव्य शिखर उन्नत।
जिसके मस्तक पर शोभित है कश्मीरी केशर ।
वह है प्यारा देश हमारा भारत यह सुंदर| ।।

महानदी ,नर्मदा , व्यास की नवल नीर नदियॉ ।
सरस्वती , सतलज रावी की लहर- लहर लड़ियॉ।
जहॉ प्रवाहितलहोतीं रहतीं हैं गंगा शुभकर ,
वह है प्यारा देश| हमारा भारत यह सुंदर| ।।

—— जितेंद्रकमलआनंद

Language: Hindi
Tag: गीत
373 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
बचा ले मुझे🙏🙏
बचा ले मुझे🙏🙏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
"रामगढ़ की रानी अवंतीबाई लोधी"
Shyamsingh Lodhi (Tejpuriya)
तुम-सम बड़ा फिर कौन जब, तुमको लगे जग खाक है?
तुम-सम बड़ा फिर कौन जब, तुमको लगे जग खाक है?
Pt. Brajesh Kumar Nayak
कहाँ-कहाँ नहीं ढूंढ़ा तुमको
कहाँ-कहाँ नहीं ढूंढ़ा तुमको
Ranjana Verma
नया साल
नया साल
umesh mehra
होता अगर मैं एक शातिर
होता अगर मैं एक शातिर
gurudeenverma198
** अब मिटाओ दूरियां **
** अब मिटाओ दूरियां **
surenderpal vaidya
बेटियाँ
बेटियाँ
लक्ष्मी सिंह
आज एक अरसे बाद मेने किया हौसला है,
आज एक अरसे बाद मेने किया हौसला है,
Raazzz Kumar (Reyansh)
सुदामा कृष्ण के द्वार (1)
सुदामा कृष्ण के द्वार (1)
Vivek Ahuja
Thought
Thought
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
गोरी का झुमका
गोरी का झुमका
Surinder blackpen
मोहब्बत जिससे हमने की है गद्दारी नहीं की।
मोहब्बत जिससे हमने की है गद्दारी नहीं की।
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
" भुला दिया उस तस्वीर को "
Aarti sirsat
पिता का सपना
पिता का सपना
Prabhudayal Raniwal
तुम्हारा साथ
तुम्हारा साथ
Ram Krishan Rastogi
~रेत की आत्मकथा ~
~रेत की आत्मकथा ~
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
निदामत का एक आँसू ......
निदामत का एक आँसू ......
shabina. Naaz
Mere hisse me ,
Mere hisse me ,
Sakshi Tripathi
*भॅंवर के बीच में भी हम, प्रबल आशा सॅंजोए हैं (हिंदी गजल)*
*भॅंवर के बीच में भी हम, प्रबल आशा सॅंजोए हैं (हिंदी गजल)*
Ravi Prakash
पतंग
पतंग
अलका 'भारती'
बुद्धत्व से बुद्ध है ।
बुद्धत्व से बुद्ध है ।
Buddha Prakash
पति पत्नी में परस्पर हो प्यार और सम्मान,
पति पत्नी में परस्पर हो प्यार और सम्मान,
ओनिका सेतिया 'अनु '
अंतिम सत्य
अंतिम सत्य
विजय कुमार अग्रवाल
खुद को ज़रा तुम
खुद को ज़रा तुम
Dr fauzia Naseem shad
सुनहरे सपने
सुनहरे सपने
Shekhar Chandra Mitra
संविधान से, ये देश चलता,
संविधान से, ये देश चलता,
SPK Sachin Lodhi
■रोज़ का ड्रामा■
■रोज़ का ड्रामा■
*Author प्रणय प्रभात*
“ जीवन साथी”
“ जीवन साथी”
DrLakshman Jha Parimal
“गुरुर मत करो”
“गुरुर मत करो”
Virendra kumar
Loading...