Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
11 Feb 2024 · 1 min read

दुश्मन से भी यारी रख। मन में बातें प्यारी रख। दुख न पहुंचे लहजे से। इतनी जिम्मेदारी रख। ।

दुश्मन से भी यारी रख।
मन में बातें प्यारी रख।

दुख न पहुंचे लहजे से।
इतनी जिम्मेदारी रख।

मैं तुझको हासिल कर लूंगा।
तू भी इसकी तैयारी रख।

जो तेरा है बस तेरा है।
उसकी मत पहरेदारी रख।

मंज़िल सगीर मिल जाएगी।
अपने सफ़र तू जारी रख।

Language: Hindi
1 Like · 39 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
दिल तुम्हारा जो कहे, वैसा करो
दिल तुम्हारा जो कहे, वैसा करो
अरशद रसूल बदायूंनी
उल्लास
उल्लास
Pt. Brajesh Kumar Nayak
नायाब तोहफा
नायाब तोहफा
Satish Srijan
ख़राब आदमी
ख़राब आदमी
Dr MusafiR BaithA
संबंधो में अपनापन हो
संबंधो में अपनापन हो
संजय कुमार संजू
नौका विहार
नौका विहार
Dr Parveen Thakur
*माँ*
*माँ*
Naushaba Suriya
जीवन का एक और बसंत
जीवन का एक और बसंत
नवीन जोशी 'नवल'
कोशी के वटवृक्ष
कोशी के वटवृक्ष
Shashi Dhar Kumar
" बीकानेरी रसगुल्ला "
Dr Meenu Poonia
माँ का प्यार पाने प्रभु धरा पर आते है ?
माँ का प्यार पाने प्रभु धरा पर आते है ?
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
Stop getting distracted by things that have nothing to do wi
Stop getting distracted by things that have nothing to do wi
पूर्वार्थ
💐प्रेम कौतुक-451💐
💐प्रेम कौतुक-451💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
दोहा छंद विधान ( दोहा छंद में )
दोहा छंद विधान ( दोहा छंद में )
Subhash Singhai
*चाहता दो वक्त रोटी ,बैठ घर पर खा सकूँ 【हिंदी गजल/ गीतिका】*
*चाहता दो वक्त रोटी ,बैठ घर पर खा सकूँ 【हिंदी गजल/ गीतिका】*
Ravi Prakash
"तुम्हें राहें मुहब्बत की अदाओं से लुभाती हैं
आर.एस. 'प्रीतम'
पति
पति
लक्ष्मी सिंह
जो चाहो यदि वह मिले,
जो चाहो यदि वह मिले,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
चमकते सूर्य को ढलने न दो तुम
चमकते सूर्य को ढलने न दो तुम
कृष्णकांत गुर्जर
" प्रार्थना "
Chunnu Lal Gupta
जरुरी नहीं कि
जरुरी नहीं कि
Sangeeta Beniwal
मोदी जी ; देश के प्रति समर्पित
मोदी जी ; देश के प्रति समर्पित
कवि अनिल कुमार पँचोली
তোমার চরণে ঠাঁই দাও আমায় আলতা করে
তোমার চরণে ঠাঁই দাও আমায় আলতা করে
Arghyadeep Chakraborty
शुभ प्रभात मित्रो !
शुभ प्रभात मित्रो !
Mahesh Jain 'Jyoti'
प्राप्त हो जिस रूप में
प्राप्त हो जिस रूप में
Dr fauzia Naseem shad
दिवाली त्योहार का महत्व
दिवाली त्योहार का महत्व
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
*** चंद्रयान-३ : चांद की सतह पर....! ***
*** चंद्रयान-३ : चांद की सतह पर....! ***
VEDANTA PATEL
😊ख़ुद के हवाले से....
😊ख़ुद के हवाले से....
*Author प्रणय प्रभात*
पतझड़ से बसंत तक
पतझड़ से बसंत तक
ओमप्रकाश भारती *ओम्*
“POLITICAL THINKING COULD BE ALSO A HOBBY”
“POLITICAL THINKING COULD BE ALSO A HOBBY”
DrLakshman Jha Parimal
Loading...