Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
11 Nov 2023 · 1 min read

दीपोत्सव की हार्दिक बधाई एवं शुभ मंगलकामनाएं

दीपोत्सव की हार्दिक बधाई एवं शुभ मंगलकामनाएं
॥ शुभम करोति कल्याणम, आरोग्यम धन संपदा,
शत्रु-बुद्धि विनाशायः, दीपःज्योति नमोस्तुते ॥
Happy Diwali ✨💫🌟💫✨
आदरणीय एवं परम स्नेही स्वजन,
आपको और आपके परिवार को दीपावली पर्व की बहुत बहुत बधाई और शुभकामनाएं !
यह दीपोत्सव अपनी रोशनी से आपके और आपके परिवार मे सुख, समृद्धि, सुख-शांति, सौहार्द एवं अपार खुशियां भर दे !! ✨🎆✨🎆✨🎆🌸🙏🌸✨🎆✨🎆✨🎆

192 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
23/92.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/92.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
ऐसा क्या लिख दू मैं.....
ऐसा क्या लिख दू मैं.....
Taj Mohammad
महाकविः तुलसीदासः अवदत्, यशः, काव्यं, धनं च जीवने एव सार्थकं
महाकविः तुलसीदासः अवदत्, यशः, काव्यं, धनं च जीवने एव सार्थकं
AmanTv Editor In Chief
के अब चराग़ भी शर्माते हैं देख तेरी सादगी को,
के अब चराग़ भी शर्माते हैं देख तेरी सादगी को,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
"सन्त रविदास जयन्ती" 24/02/2024 पर विशेष ...
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
ढलता वक्त
ढलता वक्त
प्रकाश जुयाल 'मुकेश'
"मुश्किल वक़्त और दोस्त"
Lohit Tamta
सेर
सेर
सूरज राम आदित्य (Suraj Ram Aditya)
बॉर्डर पर जवान खड़ा है।
बॉर्डर पर जवान खड़ा है।
Kuldeep mishra (KD)
रोज गमों के प्याले पिलाने लगी ये जिंदगी लगता है अब गहरी नींद
रोज गमों के प्याले पिलाने लगी ये जिंदगी लगता है अब गहरी नींद
कृष्णकांत गुर्जर
ग़ज़ल
ग़ज़ल
ईश्वर दयाल गोस्वामी
स्मृतिशेष मुकेश मानस : टैलेंटेड मगर अंडररेटेड दलित लेखक / MUSAFIR BAITHA 
स्मृतिशेष मुकेश मानस : टैलेंटेड मगर अंडररेटेड दलित लेखक / MUSAFIR BAITHA 
Dr MusafiR BaithA
कवि को क्या लेना देना है !
कवि को क्या लेना देना है !
Ramswaroop Dinkar
*जब एक ही वस्तु कभी प्रीति प्रदान करने वाली होती है और कभी द
*जब एक ही वस्तु कभी प्रीति प्रदान करने वाली होती है और कभी द
Shashi kala vyas
*जानो आँखों से जरा ,किसका मुखड़ा कौन (कुंडलिया)*
*जानो आँखों से जरा ,किसका मुखड़ा कौन (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
तसल्ली मुझे जीने की,
तसल्ली मुझे जीने की,
Vishal babu (vishu)
कोई आदत नहीं
कोई आदत नहीं
Dr fauzia Naseem shad
एक ही पक्ष में जीवन जीना अलग बात है। एक बार ही सही अपने आयाम
एक ही पक्ष में जीवन जीना अलग बात है। एक बार ही सही अपने आयाम
पूर्वार्थ
नवम दिवस सिद्धिधात्री,सब पर रहो प्रसन्न।
नवम दिवस सिद्धिधात्री,सब पर रहो प्रसन्न।
Neelam Sharma
हमारी समस्या का समाधान केवल हमारे पास हैl
हमारी समस्या का समाधान केवल हमारे पास हैl
Ranjeet kumar patre
सुविचार
सुविचार
विनोद कृष्ण सक्सेना, पटवारी
किसने क्या खूबसूरत लिखा है
किसने क्या खूबसूरत लिखा है
शेखर सिंह
बर्फ
बर्फ
Santosh kumar Miri
खूबसूरत बुढ़ापा
खूबसूरत बुढ़ापा
Surinder blackpen
"हठी"
Dr. Kishan tandon kranti
जागे हैं देर तक
जागे हैं देर तक
Sampada
दिल तोड़ने की बाते करने करने वाले ही होते है लोग
दिल तोड़ने की बाते करने करने वाले ही होते है लोग
shabina. Naaz
#मुक्तक
#मुक्तक
*प्रणय प्रभात*
नदी की करुण पुकार
नदी की करुण पुकार
Anil Kumar Mishra
" ये धरती है अपनी...
VEDANTA PATEL
Loading...