Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
31 Dec 2022 · 1 min read

दिसम्बर की रातों ने बदल दिया कैलेंडर /लवकुश यादव “अज़ल”

दिसम्बर की रातों ने बदल दिया कैलेंडर,
यार फिर अब तो जनवरी भी जान लेगी।
भरोसा क्या करें हम माह-ए-फरवरी का,
महबूबा तो उसमें भी फिर इम्तेहान लेगी।।

जान जाए न जाए अज़ल इस माह आपकी,
अगली राते वो फिर कहीं और काट लेगी।
जन्नत की खुशियों में है एक बाग आपका,
उस बाग को बेवफ़ा फिर से उजाड़ देगी।।

कई खुशियों का दामन घोट कर आ पहुंचे हो,
नींद रातों की चैन आपका हराम कर देगी।
मुश्किल भरी राहें हैं प्रिय मान लो बात को,
मोहब्बत ही आपको अज़ल बर्बाद कर देगी।।

सर्दियों के दिन में काम रजाई आएगी आपके,
दिल पेट भरने की आखिरी दवा नहीं होगी।
न जियो तुम भ्रम में माह ए दिसम्बर की रात,
आएगी जनवरी और तुम्हारी हस्ती मिटा देगी।।

😍Wish you very special Happy New Year
You All And Your family😍

लवकुश यादव “अज़ल”
अमेठी, उत्तर प्रदेश

Language: Hindi
5 Likes · 169 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
कितनी आवाज़ दी
कितनी आवाज़ दी
Dr fauzia Naseem shad
I would never force anyone to choose me
I would never force anyone to choose me
पूर्वार्थ
Gamo ko chhipaye baithe hai,
Gamo ko chhipaye baithe hai,
Sakshi Tripathi
ये ऊँचे-ऊँचे पर्वत शिखरें,
ये ऊँचे-ऊँचे पर्वत शिखरें,
Buddha Prakash
अधूरी रह जाती दस्तान ए इश्क मेरी
अधूरी रह जाती दस्तान ए इश्क मेरी
Er. Sanjay Shrivastava
सहारा...
सहारा...
Naushaba Suriya
3032.*पूर्णिका*
3032.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
बापू के संजय
बापू के संजय
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
उनसे कहना अभी मौत से डरा नहीं हूं मैं
उनसे कहना अभी मौत से डरा नहीं हूं मैं
Phool gufran
लालच
लालच
Vandna thakur
जुदाई की शाम
जुदाई की शाम
Shekhar Chandra Mitra
आलता-महावर
आलता-महावर
Pakhi Jain
जो सब समझे वैसी ही लिखें वरना लोग अनदेखी कर देंगे!@परिमल
जो सब समझे वैसी ही लिखें वरना लोग अनदेखी कर देंगे!@परिमल
DrLakshman Jha Parimal
केवल मन में इच्छा रखने से जीवन में कोई बदलाव आने से रहा।
केवल मन में इच्छा रखने से जीवन में कोई बदलाव आने से रहा।
Paras Nath Jha
तू है तसुव्वर में तो ए खुदा !
तू है तसुव्वर में तो ए खुदा !
ओनिका सेतिया 'अनु '
हिंदुस्तानी है हम सारे
हिंदुस्तानी है हम सारे
Manjhii Masti
किसी से बाते करना छोड़ देना यानि की त्याग देना, उसे ब्लॉक कर
किसी से बाते करना छोड़ देना यानि की त्याग देना, उसे ब्लॉक कर
Rj Anand Prajapati
बचपन-सा हो जाना / (नवगीत)
बचपन-सा हो जाना / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
#सत्यान्वेषण_समय_की_पुकार
#सत्यान्वेषण_समय_की_पुकार
*Author प्रणय प्रभात*
देवो रुष्टे गुरुस्त्राता गुरु रुष्टे न कश्चन:।गुरुस्त्राता ग
देवो रुष्टे गुरुस्त्राता गुरु रुष्टे न कश्चन:।गुरुस्त्राता ग
Shashi kala vyas
आगोश में रह कर भी पराया रहा
आगोश में रह कर भी पराया रहा
हरवंश हृदय
मध्यम वर्गीय परिवार ( किसान)
मध्यम वर्गीय परिवार ( किसान)
Nishant prakhar
लाख दुआएं दूंगा मैं अब टूटे दिल से
लाख दुआएं दूंगा मैं अब टूटे दिल से
Shivkumar Bilagrami
मन
मन
Neelam Sharma
पुत्र एवं जननी
पुत्र एवं जननी
रिपुदमन झा "पिनाकी"
नरम दिली बनाम कठोरता
नरम दिली बनाम कठोरता
Karishma Shah
10-भुलाकर जात-मज़हब आओ हम इंसान बन जाएँ
10-भुलाकर जात-मज़हब आओ हम इंसान बन जाएँ
Ajay Kumar Vimal
नारी पुरुष
नारी पुरुष
Neeraj Agarwal
Never trust people who tells others secret
Never trust people who tells others secret
Md Ziaulla
आज सभी अपने लगें,
आज सभी अपने लगें,
sushil sarna
Loading...