Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
8 Jan 2024 · 1 min read

दिल हो काबू में….😂

दिल हो काबू में….😂
दिलदार की ऐसी तैसी
चटनी मिल जाए तो……
आचार की ऐसी तैसी 🤣
😂🤣😂🤣😂🤣

1 Like · 152 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
नहीं-नहीं प्रिये!
नहीं-नहीं प्रिये!
Pratibha Pandey
हर अदा उनकी सच्ची हुनर था बहुत।
हर अदा उनकी सच्ची हुनर था बहुत।
सत्येन्द्र पटेल ‘प्रखर’
बदनाम ये आवारा जबीं हमसे हुई है
बदनाम ये आवारा जबीं हमसे हुई है
Sarfaraz Ahmed Aasee
गिला,रंजिशे नाराजगी, होश मैं सब रखते है ,
गिला,रंजिशे नाराजगी, होश मैं सब रखते है ,
गुप्तरत्न
दोस्त.............एक विश्वास
दोस्त.............एक विश्वास
Neeraj Agarwal
अंधकार जितना अधिक होगा प्रकाश का प्रभाव भी उसमें उतना गहरा औ
अंधकार जितना अधिक होगा प्रकाश का प्रभाव भी उसमें उतना गहरा औ
Rj Anand Prajapati
संगिनी
संगिनी
Neelam Sharma
कुछ खामोशियाँ तुम ले आना।
कुछ खामोशियाँ तुम ले आना।
Manisha Manjari
जज़्बा है, रौशनी है
जज़्बा है, रौशनी है
Dhriti Mishra
सावधानी हटी दुर्घटना घटी
सावधानी हटी दुर्घटना घटी
Sanjay ' शून्य'
The reflection of love
The reflection of love
Bidyadhar Mantry
मुझको मेरी लत लगी है!!!
मुझको मेरी लत लगी है!!!
सिद्धार्थ गोरखपुरी
संयुक्त परिवार
संयुक्त परिवार
विजय कुमार अग्रवाल
अच्छे दामों बिक रहे,
अच्छे दामों बिक रहे,
sushil sarna
A Dream In The Oceanfront
A Dream In The Oceanfront
Natasha Stephen
अंतर
अंतर
Dr. Mahesh Kumawat
गर्म साँसें,जल रहा मन / (गर्मी का नवगीत)
गर्म साँसें,जल रहा मन / (गर्मी का नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
हिसाब हुआ जब संपत्ति का मैंने अपने हिस्से में किताबें मांग ल
हिसाब हुआ जब संपत्ति का मैंने अपने हिस्से में किताबें मांग ल
लोकेश शर्मा 'अवस्थी'
"कलम की अभिलाषा"
Dr. Kishan tandon kranti
■ तेवरी-
■ तेवरी-
*प्रणय प्रभात*
दुनियाभर में घट रही,
दुनियाभर में घट रही,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
कभी
कभी
हिमांशु Kulshrestha
मेरे वतन मेरे चमन तुझपे हम कुर्बान है
मेरे वतन मेरे चमन तुझपे हम कुर्बान है
gurudeenverma198
महफिले सजाए हुए है
महफिले सजाए हुए है
Harminder Kaur
चाय - दोस्ती
चाय - दोस्ती
Kanchan Khanna
प्यारा भारत देश हमारा
प्यारा भारत देश हमारा
Dr. Pradeep Kumar Sharma
आज वो दौर है जब जिम करने वाला व्यक्ति महंगी कारें खरीद रहा ह
आज वो दौर है जब जिम करने वाला व्यक्ति महंगी कारें खरीद रहा ह
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
చివరికి మిగిలింది శూన్యమే
చివరికి మిగిలింది శూన్యమే
डॉ गुंडाल विजय कुमार 'विजय'
ना मुझे मुक़द्दर पर था भरोसा, ना ही तक़दीर पे विश्वास।
ना मुझे मुक़द्दर पर था भरोसा, ना ही तक़दीर पे विश्वास।
कविता झा ‘गीत’
*तिक तिक तिक तिक घोड़ा आया (बाल कविता)*
*तिक तिक तिक तिक घोड़ा आया (बाल कविता)*
Ravi Prakash
Loading...