Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
17 Dec 2022 · 1 min read

दिल में भी इत्मिनान

दिल में भी इत्मिनान रक्खेंगे ।
फासला दर्मियान रक्खेंगे ।।

आप की सोच मुखत्लिफ हम से ।
हम भी इस का ध्यान रक्खेंगे ।।

वार तुम पर तो कर नहीं सकते ।
ख़ाली अपनी मियान रक्खेंगे ।।

दोस्तों की कमी नहीं होगी ।
जितनी मीठी ज़बान रक्खेंगे ।।

कर के ख़ामोशियों में गुम खुद को ।
दिल का हम इम्तिहान रक्खेंगे ।।

डाॅ फौज़िया नसीम शाद

10 Likes · 132 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr fauzia Naseem shad
View all
You may also like:
It is not necessary to be beautiful for beauty,
It is not necessary to be beautiful for beauty,
Sakshi Tripathi
भगतसिंह का आख़िरी खत
भगतसिंह का आख़िरी खत
Shekhar Chandra Mitra
" अब कोई नया काम कर लें "
DrLakshman Jha Parimal
ऐसा तूफान उत्पन्न हुआ कि लो मैं फँस गई,
ऐसा तूफान उत्पन्न हुआ कि लो मैं फँस गई,
Sukoon
"तू-तू मैं-मैं"
Dr. Kishan tandon kranti
जिंदगी मुस्कुराती थी कभी, दरख़्तों की निगेहबानी में, और थाम लेता था वो हाथ मेरा, हर एक परेशानी में।
जिंदगी मुस्कुराती थी कभी, दरख़्तों की निगेहबानी में, और थाम लेता था वो हाथ मेरा, हर एक परेशानी में।
Manisha Manjari
हंसना - रोना
हंसना - रोना
manjula chauhan
2892.*पूर्णिका*
2892.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
तुमने दिल का कहां
तुमने दिल का कहां
Dr fauzia Naseem shad
रिश्ते फीके हो गए
रिश्ते फीके हो गए
पूर्वार्थ
दो पल की खुशी और दो पल का ही गम,
दो पल की खुशी और दो पल का ही गम,
Soniya Goswami
#drarunkumarshastri
#drarunkumarshastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
धैर्य के साथ अगर मन में संतोष का भाव हो तो भीड़ में भी आपके
धैर्य के साथ अगर मन में संतोष का भाव हो तो भीड़ में भी आपके
Paras Nath Jha
आज, पापा की याद आई
आज, पापा की याद आई
Rajni kapoor
"वो एक बात जो मैने कही थी सच ही थी,
*Author प्रणय प्रभात*
*अज्ञानी की कलम*
*अज्ञानी की कलम*
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
बलबीर
बलबीर
विनोद वर्मा ‘दुर्गेश’
*सहायता प्राप्त विद्यालय : हानि और लाभ*
*सहायता प्राप्त विद्यालय : हानि और लाभ*
Ravi Prakash
तेरी खुशबू
तेरी खुशबू
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
प्रेम
प्रेम
Bodhisatva kastooriya
हिन्दी के साधक के लिए किया अदभुत पटल प्रदान
हिन्दी के साधक के लिए किया अदभुत पटल प्रदान
Dr.Pratibha Prakash
कि लड़का अब मैं वो नहीं
कि लड़का अब मैं वो नहीं
The_dk_poetry
💐प्रेम कौतुक-544💐
💐प्रेम कौतुक-544💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
मकर संक्रांति -
मकर संक्रांति -
Raju Gajbhiye
राष्ट्रीय गणित दिवस
राष्ट्रीय गणित दिवस
Tushar Jagawat
महामोदकारी छंद (क्रीड़ाचक्र छंद ) (18 वर्ण)
महामोदकारी छंद (क्रीड़ाचक्र छंद ) (18 वर्ण)
Subhash Singhai
ऋतु बसन्त आने पर
ऋतु बसन्त आने पर
gurudeenverma198
हरा न पाये दौड़कर,
हरा न पाये दौड़कर,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
महादेव को जानना होगा
महादेव को जानना होगा
Anil chobisa
दिल लगाएं भगवान में
दिल लगाएं भगवान में
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
Loading...