Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
13 Oct 2023 · 1 min read

दिल में दबे कुछ एहसास है….

दिल में दबे कुछ एहसास है
तुम कहो तो तुम्हें सुना दे
कुछ बातें अनकही सी है
तुम कहो तो बता दें।

प्रथम बार ऐसा नहीं है
हर बार अलग एहसास होता है
तुमसे मिलने की आरजू में
दिल बड़ा बेकरार रहता है
कुछ बातें अनकही तुम
कहो तो बता दे ।

जब मिलते हैं तुमसे
मुलाकात अधूरी सी रह जाती है
अधूरे एहसास रह जाते हैं
अधूरी बात रह जाती है
न जाने फिर कब
मुलाकात हो तुमसे
इस आस में कितनी
बातें छूट जाती है
कुछ बातें अनकही सी
तुम कहो तो सुना दे।

हरमिंदर कौर
अमरोहा (यूपी)
@ मौलिक रचना ।

2 Likes · 171 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
" भाषा क जटिलता "
DrLakshman Jha Parimal
3174.*पूर्णिका*
3174.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
माता की चौकी
माता की चौकी
Sidhartha Mishra
खामोशी ने मार दिया।
खामोशी ने मार दिया।
Anil chobisa
The Saga Of That Unforgettable Pain
The Saga Of That Unforgettable Pain
Manisha Manjari
श्री कृष्ण का चक्र चला
श्री कृष्ण का चक्र चला
Vishnu Prasad 'panchotiya'
मैं तुम्हारे बारे में नहीं सोचूँ,
मैं तुम्हारे बारे में नहीं सोचूँ,
Sukoon
🌷🌷  *
🌷🌷 *"स्कंदमाता"*🌷🌷
Shashi kala vyas
भौतिकता
भौतिकता
लक्ष्मी सिंह
उसकी दोस्ती में
उसकी दोस्ती में
Satish Srijan
हे दिल तू मत कर प्यार किसी से
हे दिल तू मत कर प्यार किसी से
gurudeenverma198
मुक्तक
मुक्तक
प्रीतम श्रावस्तवी
इतने दिनों के बाद
इतने दिनों के बाद
Mrs PUSHPA SHARMA {पुष्पा शर्मा अपराजिता}
सूर्ययान आदित्य एल 1
सूर्ययान आदित्य एल 1
Mukesh Kumar Sonkar
#justareminderekabodhbalak
#justareminderekabodhbalak
DR ARUN KUMAR SHASTRI
दिवाली मुबारक नई ग़ज़ल विनीत सिंह शायर
दिवाली मुबारक नई ग़ज़ल विनीत सिंह शायर
Vinit kumar
■ निकला नतीजा। फिर न कोई चाचा, न कोई भतीजा।
■ निकला नतीजा। फिर न कोई चाचा, न कोई भतीजा।
*Author प्रणय प्रभात*
दीप जलाकर अंतर्मन का, दीपावली मनाओ तुम।
दीप जलाकर अंतर्मन का, दीपावली मनाओ तुम।
आर.एस. 'प्रीतम'
माँ से मिलने के लिए,
माँ से मिलने के लिए,
sushil sarna
एक मुट्ठी राख
एक मुट्ठी राख
Shekhar Chandra Mitra
राम का राज्याभिषेक
राम का राज्याभिषेक
Paras Nath Jha
बुंदेली दोहा - सुड़ी
बुंदेली दोहा - सुड़ी
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
करनी का फल
करनी का फल
Dr. Pradeep Kumar Sharma
ज़िम्मेदार कौन है??
ज़िम्मेदार कौन है??
Sonam Puneet Dubey
*नेता जी के घर मिले, नोटों के अंबार (कुंडलिया)*
*नेता जी के घर मिले, नोटों के अंबार (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
मोहब्बत के शरबत के रंग को देख कर
मोहब्बत के शरबत के रंग को देख कर
Shakil Alam
साया
साया
Harminder Kaur
निरीह गौरया
निरीह गौरया
Dr.Pratibha Prakash
सफल हस्ती
सफल हस्ती
Praveen Sain
प्रवासी चाँद
प्रवासी चाँद
Ramswaroop Dinkar
Loading...