Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
7 Jun 2023 · 1 min read

दिल की धड़कन भी तुम सदा भी हो । हो मेरे साथ तुम जुदा भी हो ।

दिल की धड़कन भी तुम सदा भी हो । हो मेरे साथ तुम जुदा भी हो । अगर वो दुख ज़रा सहे ‘नीलम’। रंज से ग़मज़दा तुम भी हो । नीलम शर्मा ✍️

240 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
चौकड़िया छंद के प्रमुख नियम
चौकड़िया छंद के प्रमुख नियम
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
हम गैरो से एकतरफा रिश्ता निभाते रहे #गजल
हम गैरो से एकतरफा रिश्ता निभाते रहे #गजल
Ravi singh bharati
*विश्वामित्र नमन तुम्हें : कुछ दोहे*
*विश्वामित्र नमन तुम्हें : कुछ दोहे*
Ravi Prakash
'क्या कहता है दिल'
'क्या कहता है दिल'
निरंजन कुमार तिलक 'अंकुर'
अकेला
अकेला
Vansh Agarwal
रचो महोत्सव
रचो महोत्सव
लक्ष्मी सिंह
हिंदी सबसे प्यारा है
हिंदी सबसे प्यारा है
शेख रहमत अली "बस्तवी"
★किसान ★
★किसान ★
★ IPS KAMAL THAKUR ★
अनंतनाग में परचम फहरा गए
अनंतनाग में परचम फहरा गए
Harminder Kaur
जनता हर पल बेचैन
जनता हर पल बेचैन
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
दशरथ माँझी संग हाइकु / मुसाफ़िर बैठा
दशरथ माँझी संग हाइकु / मुसाफ़िर बैठा
Dr MusafiR BaithA
सिखों का बैसाखी पर्व
सिखों का बैसाखी पर्व
कवि रमेशराज
कलेक्टर से भेंट
कलेक्टर से भेंट
Dr. Pradeep Kumar Sharma
वृक्ष धरा की धरोहर है
वृक्ष धरा की धरोहर है
Neeraj Agarwal
होली
होली
Neelam Sharma
जरुरी नहीं खोखले लफ्ज़ो से सच साबित हो
जरुरी नहीं खोखले लफ्ज़ो से सच साबित हो
'अशांत' शेखर
Learn to recognize a false alarm
Learn to recognize a false alarm
पूर्वार्थ
चंद्रयान विश्व कीर्तिमान
चंद्रयान विश्व कीर्तिमान
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
चुनाव फिर आने वाला है।
चुनाव फिर आने वाला है।
नेताम आर सी
उफ ये सादगी तुम्हारी।
उफ ये सादगी तुम्हारी।
Taj Mohammad
अब मत करो ये Pyar और respect की बातें,
अब मत करो ये Pyar और respect की बातें,
Vishal babu (vishu)
* बेटियां *
* बेटियां *
surenderpal vaidya
श्रमिक  दिवस
श्रमिक दिवस
Satish Srijan
ਐਵੇਂ ਆਸ ਲਗਾਈ ਬੈਠੇ ਹਾਂ
ਐਵੇਂ ਆਸ ਲਗਾਈ ਬੈਠੇ ਹਾਂ
Surinder blackpen
हम
हम
Ankit Kumar
नयी - नयी लत लगी है तेरी
नयी - नयी लत लगी है तेरी
सिद्धार्थ गोरखपुरी
समय से पहले
समय से पहले
अंजनीत निज्जर
धर्म निरपेक्षता
धर्म निरपेक्षता
ओनिका सेतिया 'अनु '
आंबेडकर न होते तो...
आंबेडकर न होते तो...
Shekhar Chandra Mitra
नींव में इस अस्तित्व के, सैकड़ों घावों के दर्द समाये हैं, आँखों में चमक भी आयी, जब जी भर कर अश्रु बहाये हैं।
नींव में इस अस्तित्व के, सैकड़ों घावों के दर्द समाये हैं, आँखों में चमक भी आयी, जब जी भर कर अश्रु बहाये हैं।
Manisha Manjari
Loading...