Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
11 Dec 2023 · 1 min read

दर्द -ऐ सर हुआ सब कुछ भुलाकर आये है ।

दर्द -ऐ सर हुआ सब कुछ भुलाकर आये है ।
हम तेरे इश्क़ में ख़ुद को मिटाके आये है ।
जिनको हंसना है मेरे हाल पर हंस लें लेकिन।
दिल में रखकर तेरी याद का ताजमहल लाये है

Phool gufran

173 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
आप आजाद हैं? कहीं आप जानवर तो नहीं हो गए, थोड़े पालतू थोड़े
आप आजाद हैं? कहीं आप जानवर तो नहीं हो गए, थोड़े पालतू थोड़े
Sanjay ' शून्य'
"सुप्रभात"
Yogendra Chaturwedi
सत्य ही शिव
सत्य ही शिव
लक्ष्मी वर्मा प्रतीक्षा
बावन यही हैं वर्ण हमारे
बावन यही हैं वर्ण हमारे
Jatashankar Prajapati
#शेर-
#शेर-
*Author प्रणय प्रभात*
किस्मत का वह धनी सिर्फ है,जिसको टिकट मिला है (हास्य मुक्तक )
किस्मत का वह धनी सिर्फ है,जिसको टिकट मिला है (हास्य मुक्तक )
Ravi Prakash
पुश्तैनी दौलत
पुश्तैनी दौलत
Satish Srijan
ग़ज़ल - रहते हो
ग़ज़ल - रहते हो
Mahendra Narayan
सिंदूर 🌹
सिंदूर 🌹
Ranjeet kumar patre
💐प्रेम कौतुक-222💐
💐प्रेम कौतुक-222💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
कुछ रिश्ते भी बंजर ज़मीन की तरह हो जाते है
कुछ रिश्ते भी बंजर ज़मीन की तरह हो जाते है
पूर्वार्थ
"बहुत है"
Dr. Kishan tandon kranti
बंधनों के बेड़ियों में ना जकड़ो अपने बुजुर्गों को ,
बंधनों के बेड़ियों में ना जकड़ो अपने बुजुर्गों को ,
DrLakshman Jha Parimal
क्षणिका :  ऐश ट्रे
क्षणिका : ऐश ट्रे
sushil sarna
'विडम्बना'
'विडम्बना'
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
ये ज़िंदगी.....
ये ज़िंदगी.....
Mamta Rajput
स्वभाव
स्वभाव
अखिलेश 'अखिल'
झूम मस्ती में झूम
झूम मस्ती में झूम
gurudeenverma198
2946.*पूर्णिका*
2946.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
ग़ज़ल/नज़्म - एक वो दोस्त ही तो है जो हर जगहा याद आती है
ग़ज़ल/नज़्म - एक वो दोस्त ही तो है जो हर जगहा याद आती है
अनिल कुमार
***
*** " कभी-कभी...! " ***
VEDANTA PATEL
ना जाने क्यों...?
ना जाने क्यों...?
भवेश
पेइंग गेस्ट
पेइंग गेस्ट
Dr. Pradeep Kumar Sharma
दिनांक - २१/५/२०२३
दिनांक - २१/५/२०२३
संजीव शुक्ल 'सचिन'
*तपन*
*तपन*
DR ARUN KUMAR SHASTRI
सदियों से जो संघर्ष हुआ अनवरत आज वह रंग लाई।
सदियों से जो संघर्ष हुआ अनवरत आज वह रंग लाई।
Prabhu Nath Chaturvedi "कश्यप"
HAPPY CHILDREN'S DAY!!
HAPPY CHILDREN'S DAY!!
Srishty Bansal
क्या देखा
क्या देखा
Ajay Mishra
रमेशराज के 'नव कुंडलिया 'राज' छंद' में 7 बालगीत
रमेशराज के 'नव कुंडलिया 'राज' छंद' में 7 बालगीत
कवि रमेशराज
कौन किसके बिन अधूरा है
कौन किसके बिन अधूरा है
Ram Krishan Rastogi
Loading...