Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
26 Jan 2024 · 1 min read

दया के पावन भाव से

दया के पावन भाव से
मानवता का श्रृंगार किया जाए
क्षमा के जैसे दान का
ह्रदय से सम्मान किया जाए
ईष्या,क्रोध,काम-वासना
भावनाओं को विराम दिया जाए
जीवन पतन के कारणों का
परित्याग किया जाए।

-डाॅ फौज़िया नसीम शाद

Language: Hindi
6 Likes · 72 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr fauzia Naseem shad
View all
You may also like:
जिंदगी में गम ना हो तो क्या जिंदगी
जिंदगी में गम ना हो तो क्या जिंदगी
ठाकुर प्रतापसिंह "राणाजी"
बारिश की संध्या
बारिश की संध्या
महेश चन्द्र त्रिपाठी
आज भी अधूरा है
आज भी अधूरा है
Pratibha Pandey
😢नारकीय जीवन😢
😢नारकीय जीवन😢
*Author प्रणय प्रभात*
गीतिका
गीतिका
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
यही जीवन है
यही जीवन है
Otteri Selvakumar
होली (होली गीत)
होली (होली गीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
अचानक जब कभी मुझको हाँ तेरी याद आती है
अचानक जब कभी मुझको हाँ तेरी याद आती है
Johnny Ahmed 'क़ैस'
सफाई इस तरह कुछ मुझसे दिए जा रहे हो।
सफाई इस तरह कुछ मुझसे दिए जा रहे हो।
Manoj Mahato
हमें उससे नहीं कोई गिला भी
हमें उससे नहीं कोई गिला भी
Irshad Aatif
यशोधरा के प्रश्न गौतम बुद्ध से
यशोधरा के प्रश्न गौतम बुद्ध से
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
बच कर रहता था मैं निगाहों से
बच कर रहता था मैं निगाहों से
Shakil Alam
छाया हर्ष है _नया वर्ष है_नवराते भी आज से।
छाया हर्ष है _नया वर्ष है_नवराते भी आज से।
Rajesh vyas
23/173.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/173.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
"वक्त के पाँव"
Dr. Kishan tandon kranti
इंसान स्वार्थी इसलिए है क्योंकि वह बिना स्वार्थ के किसी भी क
इंसान स्वार्थी इसलिए है क्योंकि वह बिना स्वार्थ के किसी भी क
Rj Anand Prajapati
तसव्वुर
तसव्वुर
Shyam Sundar Subramanian
एक दिन आना ही होगा🌹🙏
एक दिन आना ही होगा🌹🙏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
हिंदी दोहा शब्द - भेद
हिंदी दोहा शब्द - भेद
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
* हो जाता ओझल *
* हो जाता ओझल *
surenderpal vaidya
इश्क़ का दामन थामे
इश्क़ का दामन थामे
Surinder blackpen
*घुटन बहुत है बरसो बादल(हिंदी गजल/गीतिका)*
*घुटन बहुत है बरसो बादल(हिंदी गजल/गीतिका)*
Ravi Prakash
भारत के बच्चे
भारत के बच्चे
Rajesh Tiwari
चाहत
चाहत
Sûrëkhâ Rãthí
नया साल
नया साल
अरशद रसूल बदायूंनी
!! रे, मन !!
!! रे, मन !!
Chunnu Lal Gupta
खत पढ़कर तू अपने वतन का
खत पढ़कर तू अपने वतन का
gurudeenverma198
ये दुनिया है कि इससे, सत्य सुना जाता नहीं है
ये दुनिया है कि इससे, सत्य सुना जाता नहीं है
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
शून्य से अनन्त
शून्य से अनन्त
The_dk_poetry
अपना नैनीताल...
अपना नैनीताल...
डॉ.सीमा अग्रवाल
Loading...