Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
3 Feb 2023 · 1 min read

*थोड़ा गुस्सा तो चलेगा, किंतु अति अच्छी नहीं (मुक्तक)*

थोड़ा गुस्सा तो चलेगा, किंतु अति अच्छी नहीं (मुक्तक)
_________________________
थोड़ा गुस्सा तो चलेगा, किंतु अति अच्छी नहीं
बात पर बे-बात पर, बिगड़ैल मति अच्छी नहीं
आपके गुस्से की जननी, आपकी हैं चाहतें
चाहतों की ढेर-सी, उद्दाम गति अच्छी नहीं
—————————————-
उद्धाम = बंधन-हीन, स्वतंत्र
_________________________
रचयिता : रवि प्रकाश
बाजार सर्राफा, रामपुर (उत्तर प्रदेश)
मोबाइल 99976 15451

Language: Hindi
210 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Ravi Prakash
View all
You may also like:
अब...
अब...
हिमांशु Kulshrestha
आओ प्यारे कान्हा हिल मिल सब खेलें होली,
आओ प्यारे कान्हा हिल मिल सब खेलें होली,
सत्य कुमार प्रेमी
स्वयं को सुधारें
स्वयं को सुधारें
हिमांशु बडोनी (दयानिधि)
..
..
*प्रणय प्रभात*
आप में आपका
आप में आपका
Dr fauzia Naseem shad
हाथ की लकीरें
हाथ की लकीरें
Mangilal 713
अकेले
अकेले
Dr.Pratibha Prakash
हिन्दू जागरण गीत
हिन्दू जागरण गीत
मनोज कर्ण
*अज्ञानी की कलम*
*अज्ञानी की कलम*
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
दोहे- उड़ान
दोहे- उड़ान
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
धर्म के रचैया श्याम,नाग के नथैया श्याम
धर्म के रचैया श्याम,नाग के नथैया श्याम
कृष्णकांत गुर्जर
कहानी
कहानी
Rajender Kumar Miraaj
संस्कारों की पाठशाला
संस्कारों की पाठशाला
Dr. Pradeep Kumar Sharma
काला धन काला करे,
काला धन काला करे,
sushil sarna
3453🌷 *पूर्णिका* 🌷
3453🌷 *पूर्णिका* 🌷
Dr.Khedu Bharti
वो लड़का
वो लड़का
bhandari lokesh
अमिट सत्य
अमिट सत्य
विजय कुमार अग्रवाल
राम जपन क्यों छोड़ दिया
राम जपन क्यों छोड़ दिया
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
नए पुराने रूटीन के याचक
नए पुराने रूटीन के याचक
Dr MusafiR BaithA
*┄┅════❁ 卐ॐ卐 ❁════┅┄​*
*┄┅════❁ 卐ॐ卐 ❁════┅┄​*
Satyaveer vaishnav
"एक ही जीवन में
पूर्वार्थ
कभी छोड़ना नहीं तू , यह हाथ मेरा
कभी छोड़ना नहीं तू , यह हाथ मेरा
gurudeenverma198
पीने -पिलाने की आदत तो डालो
पीने -पिलाने की आदत तो डालो
सिद्धार्थ गोरखपुरी
बुरा नहीं देखेंगे
बुरा नहीं देखेंगे
Sonam Puneet Dubey
गम और खुशी।
गम और खुशी।
Taj Mohammad
ग़ज़ल
ग़ज़ल
ईश्वर दयाल गोस्वामी
*अध्यापिका
*अध्यापिका
Naushaba Suriya
माँ महान है
माँ महान है
Dr. Man Mohan Krishna
शब्द
शब्द
लक्ष्मी सिंह
प्रेम.......................................................
प्रेम.......................................................
Swara Kumari arya
Loading...