Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
10 Nov 2022 · 1 min read

तेरी धरती का खा रहे हैं हम

कितनी नेअमते उगा रहे हैं हम
तेरी धरती का खा रहें हैं हम।

मस्ती में झूमकर चली पुरवाई
चिलचिलाती धूप छांव सुखदाई
कटहल,नाशपाती,जामुन,अमराई
मेवे देता ‌शुद्ध हवा जीवन दायी

फूलों से जमीं सजा रहें हैं हम,
तेरी धरती का खा रहे हैं हम।

नदियां धरती को सिंचती चलती
हिमालय तेरे गोद से निकलती
करती रवानी सागर में मिलती
संगम ,घाट पापों को धुलती

तेरी कृपा से सुख पा रहे हैं हम
तेरी धरती का खा रहे हैं हम।

चांद से निकले शीतल चांदनी
सूरज से सुख पा रहा आदमी
सुकून देती हैं ये रातें , रागनी
मोर के पंख नीले,हरे,जामुनी

मस्त हवा में लहरा रहें हैं हम
तेरी धरती का खा रहे हैं हम।

नूर फातिमा खातून “नूरी”
जिला -कुशीनगर

Language: Hindi
2 Likes · 224 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
।
*प्रणय प्रभात*
फूल और भी तो बहुत है, महकाने को जिंदगी
फूल और भी तो बहुत है, महकाने को जिंदगी
gurudeenverma198
झर-झर बरसे नयन हमारे ज्यूँ झर-झर बदरा बरसे रे
झर-झर बरसे नयन हमारे ज्यूँ झर-झर बदरा बरसे रे
हरवंश हृदय
★संघर्ष जीवन का★
★संघर्ष जीवन का★
★ IPS KAMAL THAKUR ★
वक़्त ने हीं दिखा दिए, वक़्त के वो सारे मिज़ाज।
वक़्त ने हीं दिखा दिए, वक़्त के वो सारे मिज़ाज।
Manisha Manjari
कोई चाहे तो पता पाए, मेरे दिल का भी
कोई चाहे तो पता पाए, मेरे दिल का भी
Shweta Soni
"कुछ भी असम्भव नहीं"
Dr. Kishan tandon kranti
रमेशराज की पिता विषयक मुक्तछंद कविताएँ
रमेशराज की पिता विषयक मुक्तछंद कविताएँ
कवि रमेशराज
*नारी के सोलह श्रृंगार*
*नारी के सोलह श्रृंगार*
Dr. Vaishali Verma
आज के इस हाल के हम ही जिम्मेदार...
आज के इस हाल के हम ही जिम्मेदार...
डॉ.सीमा अग्रवाल
*धन्य-धन्य वे वीर, लक्ष्य जिनका आजादी* *(कुंडलिया)*
*धन्य-धन्य वे वीर, लक्ष्य जिनका आजादी* *(कुंडलिया)*
Ravi Prakash
भारत माता के सच्चे सपूत
भारत माता के सच्चे सपूत
DR ARUN KUMAR SHASTRI
योग इक्कीस जून को,
योग इक्कीस जून को,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
दौलत से सिर्फ
दौलत से सिर्फ"सुविधाएं"मिलती है
नेताम आर सी
भारत का चाँद…
भारत का चाँद…
Anand Kumar
जय रावण जी / मुसाफ़िर बैठा
जय रावण जी / मुसाफ़िर बैठा
Dr MusafiR BaithA
आत्मविश्वास ही हमें शीर्ष पर है पहुंचाती... (काव्य)
आत्मविश्वास ही हमें शीर्ष पर है पहुंचाती... (काव्य)
AMRESH KUMAR VERMA
भारतीय क्रिकेट टीम के पहले कप्तान : कर्नल सी. के. नायडू
भारतीय क्रिकेट टीम के पहले कप्तान : कर्नल सी. के. नायडू
Dr. Pradeep Kumar Sharma
दोस्ती का तराना
दोस्ती का तराना
अभिषेक पाण्डेय 'अभि ’
मनोकामनी
मनोकामनी
Kumud Srivastava
ज़िंदगी इस क़दर
ज़िंदगी इस क़दर
Dr fauzia Naseem shad
बेवजह कदमों को चलाए है।
बेवजह कदमों को चलाए है।
Taj Mohammad
🍁🌹🖤🌹🍁
🍁🌹🖤🌹🍁
शेखर सिंह
माँ तुम सचमुच माँ सी हो
माँ तुम सचमुच माँ सी हो
Manju Singh
रिश्ते वक्त से पनपते है और संवाद से पकते है पर आज कल ना रिश्
रिश्ते वक्त से पनपते है और संवाद से पकते है पर आज कल ना रिश्
पूर्वार्थ
।।अथ श्री सत्यनारायण कथा चतुर्थ अध्याय।।
।।अथ श्री सत्यनारायण कथा चतुर्थ अध्याय।।
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
रुसवा हुए हम सदा उसकी गलियों में,
रुसवा हुए हम सदा उसकी गलियों में,
Vaishaligoel
मिट्टी का खिलौना न जाने कब टूट जायेगा,
मिट्टी का खिलौना न जाने कब टूट जायेगा,
Anamika Tiwari 'annpurna '
चलो अब बुद्ध धाम दिखाए ।
चलो अब बुद्ध धाम दिखाए ।
Buddha Prakash
-आगे ही है बढ़ना
-आगे ही है बढ़ना
Seema gupta,Alwar
Loading...