Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
2 Nov 2022 · 1 min read

तू क्या सोचता है

तू क्या सोचता है
ऐसे ही रहेगा सबकुछ हमेशा
कुछ बदलेगा नहीं
है अभी अंधेरा यहां
ये अंधेरा कभी छंटेगा नहीं
सूरज उगेगा नहीं

तू क्या सोचता है
है अभी नहीं वो पास तेरे
क्या तुझे वो मिलेगा नहीं
थोड़ा सब्र करना सीख
आएगा नहीं जबतक बसंत
फूल तबतक खिलेगा नहीं

तू क्या सोचता है
मुश्किल सफर है ये ज़िंदगी का
खुशी से कटेगा नहीं
देख इसको जीकर
दूसरों की खुशी में शामिल होकर
जन्नत से कम लगेगा नहीं

तू क्या सोचता है
हमेशा झूठ ही जीतेगा यहां पर
सच कभी जीत नहीं पाएगा
देख लेना जीत आखिर में
सच की ही होती है इसमें कोई संशय नहीं
झूठ जल्दी ही हांफ जायेगा

तू क्या सोचता है
तू ही चला रहा है ये संसार
तेरे बिन रुक जायेगा सब
कितने आए और चले गए
किसी के जाने से रुक जाए जग
ऐसा जग में हुआ है कब

तू क्या सोचता है
दूसरों के सामने तेरी कोई हैसियत नहीं
तू उनका मुकाबला कर पाएगा नहीं
मेहनत करेगा तो तू उनसे कम नहीं
जीत जायेगा, पहुंचेगा तू भी वहीं,
लेकिन सोच नहीं बदलेगा, तो हार जाएगा वहीं

तू क्या सोचता है
बस सोचकर ही पार कर देगा
तू ये तेज़ी से बहता हुआ दरिया
कूदेगा तू इसमें जब
तैरकर ही पार कर पाएगा तू ये दरिया
और बनेगा प्रेरणा का ज़रिया।

15 Likes · 4 Comments · 1041 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
2999.*पूर्णिका*
2999.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
मेरे कान्हा
मेरे कान्हा
umesh mehra
*सरकारी कार्यक्रम का पास (हास्य व्यंग्य)*
*सरकारी कार्यक्रम का पास (हास्य व्यंग्य)*
Ravi Prakash
जवाब दो हम सवाल देंगे।
जवाब दो हम सवाल देंगे।
सत्य कुमार प्रेमी
सहयोग की बातें कहाँ, विचार तो मिलते नहीं ,मिलना दिवा स्वप्न
सहयोग की बातें कहाँ, विचार तो मिलते नहीं ,मिलना दिवा स्वप्न
DrLakshman Jha Parimal
तू क्यों रोता है
तू क्यों रोता है
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
"रामनवमी पर्व 2023"
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
कुछ मन्नतें पूरी होने तक वफ़ादार रहना ऐ ज़िन्दगी.
कुछ मन्नतें पूरी होने तक वफ़ादार रहना ऐ ज़िन्दगी.
पूर्वार्थ
"अदृश्य शक्ति"
Ekta chitrangini
नैन खोल मेरी हाल देख मैया
नैन खोल मेरी हाल देख मैया
Basant Bhagawan Roy
लड़का पति बनने के लिए दहेज मांगता है चलो ठीक है
लड़का पति बनने के लिए दहेज मांगता है चलो ठीक है
शेखर सिंह
क्षितिज के पार है मंजिल
क्षितिज के पार है मंजिल
Atul "Krishn"
प्यार करो
प्यार करो
Shekhar Chandra Mitra
जाने किस कातिल की नज़र में हूँ
जाने किस कातिल की नज़र में हूँ
Ravi Ghayal
फ़ितरत
फ़ितरत
Ahtesham Ahmad
भूख
भूख
नाथ सोनांचली
पितर पाख
पितर पाख
Mukesh Kumar Sonkar
खेल और भावना
खेल और भावना
Mahender Singh
"अन्तर"
Dr. Kishan tandon kranti
क़दर करके क़दर हासिल हुआ करती ज़माने में
क़दर करके क़दर हासिल हुआ करती ज़माने में
आर.एस. 'प्रीतम'
संस्कृति वर्चस्व और प्रतिरोध
संस्कृति वर्चस्व और प्रतिरोध
Shashi Dhar Kumar
" खामोश आंसू "
Aarti sirsat
मंजिल एक है
मंजिल एक है
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
श्रद्धांजलि
श्रद्धांजलि
Arti Bhadauria
🌷🙏जय श्री राधे कृष्णा🙏🌷
🌷🙏जय श्री राधे कृष्णा🙏🌷
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
मंजिल तक का संघर्ष
मंजिल तक का संघर्ष
Praveen Sain
किसी के दिल में चाह तो ,
किसी के दिल में चाह तो ,
Manju sagar
ख़्वाब की होती ये
ख़्वाब की होती ये
Dr fauzia Naseem shad
Thunderbolt
Thunderbolt
Pooja Singh
विलीन
विलीन
sushil sarna
Loading...