Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
18 Jul 2023 · 1 min read

तुम जिसे खुद से दूर करने की कोशिश करोगे उसे सृष्टि तुमसे मिल

तुम जिसे खुद से दूर करने की कोशिश करोगे उसे सृष्टि तुमसे मिलाने की कोशिश करेगी क्योंकी जो तुम्हारे पास चल कर खुद आया वो प्रकृति के नियम से बंध कर ही आया है…. ✨️✨️

#रश्मि_रश

198 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
मौसम जब भी बहुत सर्द होता है
मौसम जब भी बहुत सर्द होता है
Ajay Mishra
"स्वामी विवेकानंद"
Dr. Kishan tandon kranti
सुख के क्षणों में हम दिल खोलकर हँस लेते हैं, लोगों से जी भरक
सुख के क्षणों में हम दिल खोलकर हँस लेते हैं, लोगों से जी भरक
ruby kumari
रेल यात्रा संस्मरण
रेल यात्रा संस्मरण
Prakash Chandra
इश्क़ और इंकलाब
इश्क़ और इंकलाब
Shekhar Chandra Mitra
तुम्हे नया सा अगर कुछ मिल जाए
तुम्हे नया सा अगर कुछ मिल जाए
सिद्धार्थ गोरखपुरी
माँ
माँ
Vijay kumar Pandey
चाल, चरित्र और चेहरा, सबको अपना अच्छा लगता है…
चाल, चरित्र और चेहरा, सबको अपना अच्छा लगता है…
Anand Kumar
💐प्रेम कौतुक-210💐
💐प्रेम कौतुक-210💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
*मिलती जीवन में खुशी, रहते तब तक रंग (कुंडलिया)*
*मिलती जीवन में खुशी, रहते तब तक रंग (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
मोहब्बत
मोहब्बत
Shriyansh Gupta
कितनी बार शर्मिंदा हुआ जाए,
कितनी बार शर्मिंदा हुआ जाए,
ओनिका सेतिया 'अनु '
विभेद दें।
विभेद दें।
Pt. Brajesh Kumar Nayak
बन रहा भव्य मंदिर कौशल में राम लला भी आयेंगे।
बन रहा भव्य मंदिर कौशल में राम लला भी आयेंगे।
Prabhu Nath Chaturvedi "कश्यप"
जिस्मानी इश्क
जिस्मानी इश्क
Sanjay ' शून्य'
सच्चाई ~
सच्चाई ~
दिनेश एल० "जैहिंद"
छह घण्टे भी पढ़ नहीं,
छह घण्टे भी पढ़ नहीं,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
"चार पैरों वाला मेरा यार"
Lohit Tamta
मंज़र
मंज़र
अखिलेश 'अखिल'
3048.*पूर्णिका*
3048.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
गरीब की आरजू
गरीब की आरजू
Neeraj Agarwal
#आंखों_की_भाषा
#आंखों_की_भाषा
*Author प्रणय प्रभात*
रिश्तों का एहसास
रिश्तों का एहसास
Dr. Pradeep Kumar Sharma
राम-राज्य
राम-राज्य
Bodhisatva kastooriya
साहित्यकार गजेन्द्र ठाकुर: व्यक्तित्व आ कृतित्व।
साहित्यकार गजेन्द्र ठाकुर: व्यक्तित्व आ कृतित्व।
Acharya Rama Nand Mandal
बापू के संजय
बापू के संजय
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
अगहन माह के प्रत्येक गुरुवार का विशेष महत्व है। इस साल 30  न
अगहन माह के प्रत्येक गुरुवार का विशेष महत्व है। इस साल 30 न
Shashi kala vyas
দিগন্তে ছেয়ে আছে ধুলো
দিগন্তে ছেয়ে আছে ধুলো
Sakhawat Jisan
ग़ज़ल
ग़ज़ल
ईश्वर दयाल गोस्वामी
जब गेंद बोलती है, धरती हिलती है, मोहम्मद शमी का जादू, बयां क
जब गेंद बोलती है, धरती हिलती है, मोहम्मद शमी का जादू, बयां क
Sahil Ahmad
Loading...