Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
23 Mar 2017 · 1 min read

*** तुम कौन हो ? ***

ख्यालों की मलिका मिलूं तुमसे कैसे

मेरी जां

तेरी कसम मिलने की उमंग है

ख्वाबो से उतरकर दिल में समाई हो

तेरी-मेरी

पहले से जाने क्या पहचान है

रातों में आयी हो दिल में समायी हो

ना जानूं

मैं यह मेरी जान तुम कौन हो ?

ख्यालों से हकीकत में

उतर कर आओ तो जाने

ऐ मेरे ख्यालों की मलिका ।।

?मधुप बैरागी

Language: Hindi
1 Like · 390 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from भूरचन्द जयपाल
View all
You may also like:
पाँच मिनट - कहानी
पाँच मिनट - कहानी
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
सृजन
सृजन
Bodhisatva kastooriya
कवि मोशाय।
कवि मोशाय।
Neelam Sharma
Beginning of the end
Beginning of the end
Bidyadhar Mantry
सिकन्दर बन कर क्या करना
सिकन्दर बन कर क्या करना
Satish Srijan
बेदर्द ...................................
बेदर्द ...................................
लक्ष्मण 'बिजनौरी'
उन्होंने कहा बात न किया कीजिए मुझसे
उन्होंने कहा बात न किया कीजिए मुझसे
विकास शुक्ल
ये दिल है जो तुम्हारा
ये दिल है जो तुम्हारा
Ram Krishan Rastogi
गम हमें होगा बहुत
गम हमें होगा बहुत
VINOD CHAUHAN
जी हां मजदूर हूं
जी हां मजदूर हूं
Anamika Tiwari 'annpurna '
उनको ही लाजवाब लिक्खा है
उनको ही लाजवाब लिक्खा है
अरशद रसूल बदायूंनी
चित्र आधारित चौपाई रचना
चित्र आधारित चौपाई रचना
गुमनाम 'बाबा'
फ़ितरत-ए-धूर्त
फ़ितरत-ए-धूर्त
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
रंगों में रंग जाओ,तब तो होली है
रंगों में रंग जाओ,तब तो होली है
Shweta Soni
आई वर्षा
आई वर्षा
Dr. Pradeep Kumar Sharma
मां भारती से कल्याण
मां भारती से कल्याण
Sandeep Pande
#दोहा-
#दोहा-
*प्रणय प्रभात*
शीर्षक:-सुख तो बस हरजाई है।
शीर्षक:-सुख तो बस हरजाई है।
Pratibha Pandey
खुशामद किसी की अब होती नहीं हमसे
खुशामद किसी की अब होती नहीं हमसे
gurudeenverma198
"सच्ची मोहब्बत के बगैर"
Dr. Kishan tandon kranti
जवाबदारी / MUSAFIR BAITHA
जवाबदारी / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
नीलेश
नीलेश
Dhriti Mishra
*विभाजित जगत-जन! यह सत्य है।*
*विभाजित जगत-जन! यह सत्य है।*
संजय कुमार संजू
प्यार करोगे तो तकलीफ मिलेगी
प्यार करोगे तो तकलीफ मिलेगी
Harminder Kaur
तुमसे बेहद प्यार करता हूँ
तुमसे बेहद प्यार करता हूँ
हिमांशु Kulshrestha
मुक्तक
मुक्तक
पंकज कुमार कर्ण
2650.पूर्णिका
2650.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
तुम आशिक़ हो,, जाओ जाकर अपना इश्क़ संभालो ..
तुम आशिक़ हो,, जाओ जाकर अपना इश्क़ संभालो ..
पूर्वार्थ
*खुशी के पल असाधारण, दोबारा फिर नहीं आते (मुक्तक)*
*खुशी के पल असाधारण, दोबारा फिर नहीं आते (मुक्तक)*
Ravi Prakash
अब यह अफवाह कौन फैला रहा कि मुगलों का इतिहास इसलिए हटाया गया
अब यह अफवाह कौन फैला रहा कि मुगलों का इतिहास इसलिए हटाया गया
शेखर सिंह
Loading...