Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
27 Sep 2018 · 1 min read

तुम इतना जो मुस्कराती हो,

तुम इतना जो मुस्कराती हो,

तुम हरदम इतना जो बिंदास मुस्कराती हो,
लगता है खुद से कहीं खुद को चुराती हो।

शेफालिका के फूल सी निर्झर झरती हो,
पाषाण को भी पारस बन पिघलाती हो,
दर्द मिटाने के कुछ लम्हे उधार देकर…
जमाने को मसखरा बन यूं हंसाती हो।

सजी संवरी सी धूप को धूल चटाती हो,
बेफ्रिक, गर्वीली, निश्चल सी लजाती हो,
वक्त को अपने अंदाजो की हंसी देकर….
नदिया के यूं बहते पानी सी बहती हो।

चंचल चपल नैनों में काजल समाती हो,
शीतल सी प्रणय समीर बन बहती हो,
मन व्याकुल को नैनों की थिरकन देकर…
भावो की चुगली को चेहरे से छिपाती हो।

इतर इतर के कनखी मार शरमाती हो,
खोखली हंसी में हर विषाद छिपाती हो,
चित्रलिखित मिजाज को जीवन रंग देकर…
अपने जज्बे से हार में जीत हर्षाती हो।

तुम हरदम इतना जो बिंदास मुस्कराती हो,
लगता है खुद से कहीं खुद को चुराती हो।

निशा माथुर

Language: Hindi
4 Likes · 3 Comments · 691 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
मां
मां
Irshad Aatif
Dr Arun Kumar shastri
Dr Arun Kumar shastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
‘ विरोधरस ‘---8. || आलम्बन के अनुभाव || +रमेशराज
‘ विरोधरस ‘---8. || आलम्बन के अनुभाव || +रमेशराज
कवि रमेशराज
आपसे होगा नहीं , मुझसे छोड़ा नहीं जाएगा
आपसे होगा नहीं , मुझसे छोड़ा नहीं जाएगा
Keshav kishor Kumar
सरयू
सरयू
डा. सूर्यनारायण पाण्डेय
माँ का महत्व
माँ का महत्व
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
कहीं साथी हमें पथ में
कहीं साथी हमें पथ में
surenderpal vaidya
मां तुम्हें सरहद की वो बाते बताने आ गया हूं।।
मां तुम्हें सरहद की वो बाते बताने आ गया हूं।।
Ravi Yadav
सबको   सम्मान दो ,प्यार  का पैगाम दो ,पारदर्शिता भूलना नहीं
सबको सम्मान दो ,प्यार का पैगाम दो ,पारदर्शिता भूलना नहीं
DrLakshman Jha Parimal
आजाद पंछी
आजाद पंछी
Ritu Asooja
छाऊ मे सभी को खड़ा होना है
छाऊ मे सभी को खड़ा होना है
शेखर सिंह
मैंने नींदों से
मैंने नींदों से
Dr fauzia Naseem shad
स्त्री की स्वतंत्रता
स्त्री की स्वतंत्रता
Sunil Maheshwari
2612.पूर्णिका
2612.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
प्रभु श्री राम
प्रभु श्री राम
Mamta Singh Devaa
, गुज़रा इक ज़माना
, गुज़रा इक ज़माना
Surinder blackpen
11. एक उम्र
11. एक उम्र
Rajeev Dutta
तुझसे मिलने के बाद ❤️
तुझसे मिलने के बाद ❤️
Skanda Joshi
*उठो,उठाओ आगे को बढ़ाओ*
*उठो,उठाओ आगे को बढ़ाओ*
Krishna Manshi
ढलता सूरज गहराती लालिमा देती यही संदेश
ढलता सूरज गहराती लालिमा देती यही संदेश
Neerja Sharma
तेरी ख़ामोशी
तेरी ख़ामोशी
Anju ( Ojhal )
*नि:स्वार्थ विद्यालय सृजित जो कर गए उनको नमन (गीत)*
*नि:स्वार्थ विद्यालय सृजित जो कर गए उनको नमन (गीत)*
Ravi Prakash
उम्मीद ....
उम्मीद ....
sushil sarna
#अभिनंदन-
#अभिनंदन-
*प्रणय प्रभात*
रात के सितारे
रात के सितारे
Neeraj Agarwal
बादल छाये,  नील  गगन में
बादल छाये, नील गगन में
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
पिता
पिता
लक्ष्मी सिंह
यायावर
यायावर
Satish Srijan
देश का वामपंथ
देश का वामपंथ
विजय कुमार अग्रवाल
*जितना आसान है*
*जितना आसान है*
नेताम आर सी
Loading...