Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
2 May 2023 · 1 min read

तुम्हारे लिए हम नये साल में

तुम्हारे लिए हम नये साल में, इसके सिवा और दुहा क्या करें।
हमेशा खुश और सुखी रहे तू , आबाद सदा तुमको रब करें।।
तुम्हारे लिए हम नये साल में———————।।

जमाने की बुरी नजर से सदा,ईश्वर तुमको बचाकर रखें।
तेरा गुलशन इन फूलों का, महका हमेशा ईश्वर रखें।।
तेरा चमन यह आबाद रहे, रौनक सदा तेरे ऑंगन रहें।
तुम्हारे लिए हम नये साल में—————।।

जहाँ भी जाये तेरे साथ हो,फूलों की खुशबू ,चांद सितारें।
स्वागत करें तेरा पग पग पर, जमीं पर हसीन ये नजारें।।
हर आदमी सिर झुकाये तुम्हें , नाम तेरा हर लब पे रहे।
तुम्हारे लिए हम नये साल——————-।।

तेरी आँखों में ऑंसू नहीं हो, मुलाकात गम से नहीं हो तेरी।कभी ना रूठे प्यार हमारा, तकरार हो चाहे खूब तेरी मेरी।।
मरे तेरे दुश्मन जो है यहाँ पर, सलामत हमेशा तू यहाँ रहे।
तुम्हारे लिए हम नये साल में——————–।।

तुम्हारे सिवा हम किसकी यहाँ, तारीफ और इनायत करें।
लगते हो अच्छे तुम ही हमें, क्यों और से मोहब्बत करें।।
दामन सदा तेरा आबाद हो,अपना यह रिश्ता हमेशा रहे।
तुम्हारे लिए हम नये साल में————-।।

शिक्षक एवं साहित्यकार-
गुरुदीन वर्मा उर्फ जी.आज़ाद
तहसील एवं जिला- बारां(राजस्थान)

Language: Hindi
Tag: गीत
256 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
*पेड़ (पाँच दोहे)*
*पेड़ (पाँच दोहे)*
Ravi Prakash
नारी कब होगी अत्याचारों से मुक्त?
नारी कब होगी अत्याचारों से मुक्त?
कवि रमेशराज
जिंदगी में हजारों लोग आवाज
जिंदगी में हजारों लोग आवाज
Shubham Pandey (S P)
दोहे : प्रभात वंदना हेतु
दोहे : प्रभात वंदना हेतु
आर.एस. 'प्रीतम'
बहुत ही हसीन तू है खूबसूरत
बहुत ही हसीन तू है खूबसूरत
gurudeenverma198
देख बहना ई कैसा हमार आदमी।
देख बहना ई कैसा हमार आदमी।
सत्य कुमार प्रेमी
न बदले...!
न बदले...!
Srishty Bansal
हरित - वसुंधरा।
हरित - वसुंधरा।
Anil Mishra Prahari
समाज को जगाने का काम करते रहो,
समाज को जगाने का काम करते रहो,
नेताम आर सी
*****वो इक पल*****
*****वो इक पल*****
Kavita Chouhan
#एक_शेर
#एक_शेर
*Author प्रणय प्रभात*
భారత దేశ వీరుల్లారా
భారత దేశ వీరుల్లారా
डॉ गुंडाल विजय कुमार 'विजय'
*जुदाई न मिले किसी को*
*जुदाई न मिले किसी को*
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
आँखों की दुनिया
आँखों की दुनिया
Sidhartha Mishra
बता ये दर्द
बता ये दर्द
विजय कुमार नामदेव
प्रेम पीड़ा
प्रेम पीड़ा
Shivkumar barman
कलम , रंग और कूची
कलम , रंग और कूची
Dr. Kishan tandon kranti
मन में नमन करूं..
मन में नमन करूं..
Harminder Kaur
नारी शक्ति
नारी शक्ति
DR ARUN KUMAR SHASTRI
नए साल की नई सुबह पर,
नए साल की नई सुबह पर,
Anamika Singh
वर्तमान सरकारों ने पुरातन ,
वर्तमान सरकारों ने पुरातन ,
ओनिका सेतिया 'अनु '
बाजारवाद
बाजारवाद
Punam Pande
पाखंड
पाखंड
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
Introduction
Introduction
Adha Deshwal
23/110.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/110.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
*सत्य की खोज*
*सत्य की खोज*
Dr Shweta sood
कुछ व्यंग्य पर बिल्कुल सच
कुछ व्यंग्य पर बिल्कुल सच
Ram Krishan Rastogi
दुनिया के हर क्षेत्र में व्यक्ति जब समभाव एवं सहनशीलता से सा
दुनिया के हर क्षेत्र में व्यक्ति जब समभाव एवं सहनशीलता से सा
Raju Gajbhiye
मैं आँखों से जो कह दूं,
मैं आँखों से जो कह दूं,
Swara Kumari arya
गुरु महाराज के श्री चरणों में, कोटि कोटि प्रणाम है
गुरु महाराज के श्री चरणों में, कोटि कोटि प्रणाम है
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
Loading...