Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
16 Feb 2023 · 1 min read

💐अज्ञात के प्रति-147💐

तुम्हारा मिलना शिक्षा के व्यापारियों से ही हुआ है।शिक्षा के मित्रों से कब मिले?शिक्षा में प्रेरणा और विनय का व्यापार सम्भव है।धन तो उसका फल मात्र है।
©®अभिषेक: पाराशरः ‘आनन्द’

Language: Hindi
250 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
नींव की ईंट
नींव की ईंट
ओमप्रकाश भारती *ओम्*
राजनीतिक संघ और कट्टरपंथी आतंकवादी समूहों के बीच सांठगांठ: शांति और संप्रभुता पर वैश्विक प्रभाव
राजनीतिक संघ और कट्टरपंथी आतंकवादी समूहों के बीच सांठगांठ: शांति और संप्रभुता पर वैश्विक प्रभाव
Shyam Sundar Subramanian
दो अपरिचित आत्माओं का मिलन
दो अपरिचित आत्माओं का मिलन
Shweta Soni
#डॉ अरुण कुमार शास्त्री
#डॉ अरुण कुमार शास्त्री
DR ARUN KUMAR SHASTRI
जमाना जीतने की ख्वाइश नहीं है मेरी!
जमाना जीतने की ख्वाइश नहीं है मेरी!
Vishal babu (vishu)
24, *ईक्सवी- सदी*
24, *ईक्सवी- सदी*
Dr Shweta sood
Adha's quote
Adha's quote
Adha Deshwal
कितनों की प्यार मात खा गई
कितनों की प्यार मात खा गई
पूर्वार्थ
व्यथा पेड़ की
व्यथा पेड़ की
विजय कुमार अग्रवाल
चालें बहुत शतरंज की
चालें बहुत शतरंज की
surenderpal vaidya
जाने किस कातिल की नज़र में हूँ
जाने किस कातिल की नज़र में हूँ
Ravi Ghayal
रिसाइकल्ड रिश्ता - नया लेबल
रिसाइकल्ड रिश्ता - नया लेबल
Atul "Krishn"
माना कि मेरे इस कारवें के साथ कोई भीड़ नहीं है |
माना कि मेरे इस कारवें के साथ कोई भीड़ नहीं है |
Jitendra kumar
उसी पथ से
उसी पथ से
Kavita Chouhan
पेड़ पौधे फूल तितली सब बनाता कौन है।
पेड़ पौधे फूल तितली सब बनाता कौन है।
सत्य कुमार प्रेमी
बड़ी मछली सड़ी मछली
बड़ी मछली सड़ी मछली
Dr MusafiR BaithA
डिग्रियों का कभी अभिमान मत करना,
डिग्रियों का कभी अभिमान मत करना,
Ritu Verma
बेशर्मी के कहकहे,
बेशर्मी के कहकहे,
sushil sarna
जिंदगी और जीवन में अंतर हैं
जिंदगी और जीवन में अंतर हैं
Neeraj Agarwal
बच्चे
बच्चे
Dr. Pradeep Kumar Sharma
3069.*पूर्णिका*
3069.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
ओ गौरैया,बाल गीत
ओ गौरैया,बाल गीत
Mohan Pandey
कुछ खो गया, तो कुछ मिला भी है
कुछ खो गया, तो कुछ मिला भी है
Anil Mishra Prahari
"जो डर गया, समझो मर गया।"
*Author प्रणय प्रभात*
मुश्किल घड़ी में मिली सीख
मुश्किल घड़ी में मिली सीख
Paras Nath Jha
सतरंगी आभा दिखे, धरती से आकाश
सतरंगी आभा दिखे, धरती से आकाश
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
सुनो पहाड़ की....!!! (भाग - ३)
सुनो पहाड़ की....!!! (भाग - ३)
Kanchan Khanna
बेरहमी
बेरहमी
Dr. Kishan tandon kranti
National Energy Conservation Day
National Energy Conservation Day
Tushar Jagawat
उसकी बेहिसाब नेमतों का कोई हिसाब नहीं
उसकी बेहिसाब नेमतों का कोई हिसाब नहीं
shabina. Naaz
Loading...