Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
20 Aug 2023 · 1 min read

तुम्हारा घर से चला जाना

तुम्हारा घर से चला जाना
महज एक व्यक्ति का चला जाना नहीं था
तुम्हारे चले जाना का मतलब था
घर से रोशनी का चला जाना
और टूट जाना घर की रीढ़ का !
*** धीरजा शर्मा***

386 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dheerja Sharma
View all
You may also like:
दोहा त्रयी. .
दोहा त्रयी. .
sushil sarna
केशव तेरी दरश निहारी ,मन मयूरा बन नाचे
केशव तेरी दरश निहारी ,मन मयूरा बन नाचे
पं अंजू पांडेय अश्रु
चल फिर इक बार मिलें हम तुम पहली बार की तरह।
चल फिर इक बार मिलें हम तुम पहली बार की तरह।
Neelam Sharma
पुष्प और तितलियाँ
पुष्प और तितलियाँ
Ritu Asooja
■ दुर्भाग्य
■ दुर्भाग्य
*Author प्रणय प्रभात*
यही तो मजा है
यही तो मजा है
Otteri Selvakumar
जी हां मजदूर हूं
जी हां मजदूर हूं
Anamika Tiwari 'annpurna '
ఇదే నా భారత దేశం.
ఇదే నా భారత దేశం.
डॉ गुंडाल विजय कुमार 'विजय'
बढ़ती तपीस
बढ़ती तपीस
शेखर सिंह
मुझसे मिलने में तुम्हें,
मुझसे मिलने में तुम्हें,
Dr. Man Mohan Krishna
जय जय जगदम्बे
जय जय जगदम्बे
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
"हँसी"
Dr. Kishan tandon kranti
जब कोई बात समझ में ना आए तो वक्त हालात पर ही छोड़ दो ,कुछ सम
जब कोई बात समझ में ना आए तो वक्त हालात पर ही छोड़ दो ,कुछ सम
Shashi kala vyas
सुर्ख चेहरा हो निगाहें भी शबाब हो जाए ।
सुर्ख चेहरा हो निगाहें भी शबाब हो जाए ।
Phool gufran
मानसिक शान्ति के मूल्य पर अगर आप कोई बहुमूल्य चीज भी प्राप्त
मानसिक शान्ति के मूल्य पर अगर आप कोई बहुमूल्य चीज भी प्राप्त
Paras Nath Jha
3172.*पूर्णिका*
3172.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
*ठेला (बाल कविता)*
*ठेला (बाल कविता)*
Ravi Prakash
एक न एक दिन मर जाना है यह सब को पता है
एक न एक दिन मर जाना है यह सब को पता है
Ranjeet kumar patre
कर्म भाव उत्तम रखो,करो ईश का ध्यान।
कर्म भाव उत्तम रखो,करो ईश का ध्यान।
ओम प्रकाश श्रीवास्तव
The World on a Crossroad: Analysing the Pros and Cons of a Potential Superpower Conflict
The World on a Crossroad: Analysing the Pros and Cons of a Potential Superpower Conflict
Shyam Sundar Subramanian
घनाक्षरी गीत...
घनाक्षरी गीत...
डॉ.सीमा अग्रवाल
सच कहूं तो
सच कहूं तो
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
तबीयत मचल गई
तबीयत मचल गई
Surinder blackpen
कैसे निभाऍं उस से, कैसे करें गुज़ारा।
कैसे निभाऍं उस से, कैसे करें गुज़ारा।
सत्य कुमार प्रेमी
कांटों से तकरार ना करना
कांटों से तकरार ना करना
VINOD CHAUHAN
बेटी शिक्षा
बेटी शिक्षा
Dr.Archannaa Mishraa
गीत
गीत
Shiva Awasthi
उल्लास
उल्लास
Pt. Brajesh Kumar Nayak
जाने इतनी बेहयाई तुममें कहां से आई है ,
जाने इतनी बेहयाई तुममें कहां से आई है ,
ओनिका सेतिया 'अनु '
मुहब्बत की लिखावट में लिखा हर गुल का अफ़साना
मुहब्बत की लिखावट में लिखा हर गुल का अफ़साना
आर.एस. 'प्रीतम'
Loading...