Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
23 May 2024 · 1 min read

तन्हाई बड़ी बातूनी होती है —

काव्य गीत सर्जन —
तन्हाई बड़ी बातूनी होती है —
**********************************

बहकी यादों के साए में, दिल को तड़पा जाते हो।
मद्धम महकी सांसों में, सपनों सा घुल जाते हो।
मुझे बाँहों में ले हँसते, मीठी बातें करते हो।
मद्धम महकी साँसों में, सपनों सा घुल जाते हो।।

जब चाँद चले मन अँगना, नयनों में मुस्काते हो।
नींद नहीं आती आँखों में, नज़राना तुम लाते हो।
वो चाँदनी रसभरी रातें, कुछ जादू कर जाते हो।
मद्धम महकी सांसों में, सपनों सा घुल जाते हो।।

सजना तुम परदेस गए क्यों, मैं बनी बाबरी डोलूँ।
नित आन सरोवर तट पर, कुछ विरह वेदना धोलूँ।।
पिया फागुनी प्रीत सताए, सुरभित विरहन की रातें हो।
मद्धम महकी सांसों में,सपनों सा घुल जाते हो।।

ये विरह यामिनी अब बीते, तुम लौट पिया घर आओ।
मिलन सुहाना हो अपना, अब साजन गले लगाओ।।
खड़ी खम्ब का लिए सहारा, उठती हूक मिटा जाते हो।
मद्धम महकी सांसों में, सपनों सा घुल जाते हो।

✍️ सीमा गर्ग ‘मंजरी’
मौलिक सृजन
मेरठ कैंट उत्तर प्रदेश।

Language: Hindi
29 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
ज़िन्दगी की राह
ज़िन्दगी की राह
Sidhartha Mishra
सत्य, अहिंसा, त्याग, तप, दान, दया की खान।
सत्य, अहिंसा, त्याग, तप, दान, दया की खान।
जगदीश शर्मा सहज
पुरखों की याद🙏🙏
पुरखों की याद🙏🙏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
जीवन गति
जीवन गति
विनोद कृष्ण सक्सेना, पटवारी
"परवाज"
Dr. Kishan tandon kranti
डीजे
डीजे
Dr. Pradeep Kumar Sharma
गीता ज्ञान
गीता ज्ञान
Dr.Priya Soni Khare
याद है पास बिठा के कुछ बाते बताई थी तुम्हे
याद है पास बिठा के कुछ बाते बताई थी तुम्हे
Kumar lalit
मत छेड़ हमें देशभक्ति में हम डूबे है।
मत छेड़ हमें देशभक्ति में हम डूबे है।
Rj Anand Prajapati
"राजनीति" विज्ञान नहीं, सिर्फ़ एक कला।।
*प्रणय प्रभात*
सापटी
सापटी
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
💐💞💐
💐💞💐
शेखर सिंह
"मनमीत मेरे तुम हो"
ठाकुर प्रतापसिंह "राणाजी"
कोई भी नही भूख का मज़हब यहाँ होता है
कोई भी नही भूख का मज़हब यहाँ होता है
Mahendra Narayan
मज़दूर दिवस
मज़दूर दिवस
Shekhar Chandra Mitra
ग़ज़ल
ग़ज़ल
Neelofar Khan
दिल की बातें
दिल की बातें
Ritu Asooja
राहों में
राहों में
हिमांशु Kulshrestha
* थके नयन हैं *
* थके नयन हैं *
surenderpal vaidya
नानखटाई( बाल कविता )
नानखटाई( बाल कविता )
Ravi Prakash
चंचल मन
चंचल मन
उमेश बैरवा
काम और भी है, जिंदगी में बहुत
काम और भी है, जिंदगी में बहुत
gurudeenverma198
एक ऐसा दोस्त
एक ऐसा दोस्त
Vandna Thakur
सरसी छंद और विधाएं
सरसी छंद और विधाएं
Subhash Singhai
*पेड़*
*पेड़*
Dushyant Kumar
दीपावली
दीपावली
Suman (Aditi Angel 🧚🏻)
2388.पूर्णिका
2388.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
हमको तेरा ख़्याल
हमको तेरा ख़्याल
Dr fauzia Naseem shad
शोख- चंचल-सी हवा
शोख- चंचल-सी हवा
लक्ष्मी सिंह
जीवन की धूप-छांव हैं जिन्दगी
जीवन की धूप-छांव हैं जिन्दगी
Pratibha Pandey
Loading...